होम /न्यूज /पंजाब /पंजाब: कुख्यात ड्रग तस्कर भी पुलिस कस्टडी से फरार, सवालों से घिरी पुलिस की कार्यप्रणाली

पंजाब: कुख्यात ड्रग तस्कर भी पुलिस कस्टडी से फरार, सवालों से घिरी पुलिस की कार्यप्रणाली

ड्रग तस्कर अमरीक सिंह पुलिस कस्टडी से फरार हो गया है. (News18)

ड्रग तस्कर अमरीक सिंह पुलिस कस्टडी से फरार हो गया है. (News18)

शनिवार को लॉरेंस बिश्नोई का गुर्गा दीपक कुमार टीनू ही पुलिस हिरासत से नहीं भागा है. बल्कि शनिवार की रात जेल अधिकारियों ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

पंजाब का कुख्यात ड्रग तस्कर अमरीक सिंह फरार हो गया है.
उसे सीमा पार हेरोइन नेटवर्क और स्थानीय ड्रग डीलरों के बीच एक महत्वपूर्ण कड़ी माना जाता था.
पुलिस कस्टडी से अपराधियों के फरार होने का एक ही रात में यह दूसरा मामला है.

एस. सिंह
चंडीगढ़. बीते शनिवार को लॉरेंस बिश्नोई का गुर्गा दीपक कुमार टीनू ही पुलिस हिरासत से नहीं भागा है. बल्कि शनिवार की रात जेल अधिकारियों की ढिलाई का फायदा उठाकर पंजाब का कुख्यात ड्रग तस्कर अमरीक सिंह भी पटियाला के सरकारी अस्पताल से फरार हो गया है. उसे सीमा पार हेरोइन नेटवर्क और स्थानीय ड्रग डीलरों के बीच एक महत्वपूर्ण कड़ी माना जाता था. पुलिस कस्टडी से अपराधियों के फरार होने का एक ही रात में यह दूसरा मामला है. इन दो घटनाओं के बाद पंजाब पुलिस की कार्यप्रणाली अब सवालों के घेरे में है.

सूत्रों ने कहा कि उसे जेल अधिकारियों द्वारा अस्पताल लाया गया था. जहां पर जेल के दो अधिकारी ड्यूटी पर थे, लेकिन अमरीक के फरार होने के समय पर केवल एक ही अस्पताल में मौजूद था. सूत्रों ने कहा कि स्थानीय पुलिस को जेल अधिकारियों ने इस तरह के कुख्यात अपराधी को अस्पताल लाने के बारे में सूचित नहीं किया था. पटियाला के देहना गांव के रहने वाले अमरीक सिंह पर आईपीसी, एनडीपीएस एक्ट और आर्म्स एक्ट के तहत करीब सात मामले अदालत में चल रहे हैं. अमरीक 2004 से नशीले पदार्थों की तस्करी में लिप्त था.

सिद्धू मूसेवाला के मर्डर में शामिल गैंगस्टर टीनू मानसा पुलिस हिरासत से हुआ फरार

उसे पटियाला की जिला अदालतों द्वारा पोस्त की भूसी तस्करी के एक मामले में 10 साल कैद की सजा सुनाई गई थी. पांच साल जेल में बिताने के बाद उसको जमानत मिल गई थी. एक बार बाहर होने के बाद उसे तीन महीने पहले पटियाला पुलिस द्वारा फिर से हथियार के साथ गिरफ्तार किया गया था. वह जगदीश भोला ड्रग मामले में शामिल घोषित अपराधी अवतार सिंह का भाई बताया जा रहा है. पूरे उत्तर भारत में फैले ड्रग सिंडिकेट में उसकी महत्वपूर्ण भूमिका के बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार करने के लिए तलाशी अभियान शुरू कर दिया है. पटियाला जेल अधीक्षक मंजीत तिवाना ने कहा कि उन्होंने अमरीक सिंह के साथ गए दो जेल अधिकारियों के खिलाफ प्रारंभिक जांच के आदेश दिए हैं. उन्होंने कहा है कि वह इस बात की जांच कर रहे हैं कि उसे अस्पताल क्यों ले जाया गया था.

Tags: Drugs mafia, Punjab, Punjab Police

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें