• Home
  • »
  • News
  • »
  • punjab
  • »
  • AAP से नाराज पंजाब अध्‍यक्ष भगवंत मान, चुनाव सिर पर, फिर भी महीनों से हैं गायब

AAP से नाराज पंजाब अध्‍यक्ष भगवंत मान, चुनाव सिर पर, फिर भी महीनों से हैं गायब

AAP के पंजाब  
अध्यक्ष भगवंत मान इन दिनों पार्टी से काफी दूर-दूर दिखाई पड़ रहे हैं.

AAP के पंजाब अध्यक्ष भगवंत मान इन दिनों पार्टी से काफी दूर-दूर दिखाई पड़ रहे हैं.

Punjab Assembly Elections 2022: Aam Aadmi Party के पंजाब अध्यक्ष और एकमात्र लोकसभा सांसद Bhagwant Mann इन दिनों पार्टी से काफी दूर-दूर दिखाई पड़ रहे हैं. कहा जा रहा है क‍ि अगर उन्‍हें मुख्‍यमंत्री पद का चेहरा नहीं बनाया गया तो वह इसी तरह आगे भी चुप बैठे रहेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

चंडीगढ़. पंजाब कांग्रेस (Punjab Congress) ने चरणजीत सिंह चन्नी (Charanjit Singh Channi) को राज्‍य का नया मुख्‍यमंत्री बनाकर भले ही पार्टी के अंदर चल रही अंतर्कलह को शांत कर दिया हो, लेकिन पंजाब में आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) के अंदर कुछ भी ठीक नहीं चल रहा है. आम आदमी पार्टी के पंजाब अध्यक्ष और एकमात्र लोकसभा सांसद भगवंत मान (Bhagwant Mann) इन दिनों पार्टी से काफी दूर-दूर दिखाई पड़ रहे हैं. ऐसा कहा जा रहा है क‍ि अगर उन्‍हें मुख्‍यमंत्री पद का चेहरा नहीं बनाया गया तो वह इसी तरह आगे भी चुप बैठे रहेंगे.

पंजाब में विधानसभा चुनाव को लेकर सभी पार्टियों ने कमर कस ली है. वहीं AAP प्रदेश अध्‍यक्ष भगवंत मान पिछले एक महीने से पार्टी के किसी भी कार्यक्रम या प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में दिखाई नहीं पड़ रहे हैं. और उन्‍हें ही पार्टी का प्रभारी बनाए जाने की उम्‍मीद है. इसके बावजूद भगवंत मान काफी बदले हुए नजर आ रहे हैं. News18 ने मान से उनके कई फोन नंबरों पर एक सप्ताह से अधिक समय तक संपर्क करने की कोशिश की, लेकिन एक बार भी उनसे संपर्क नहीं हो सका. मान के एक सहयोगी ने कहा कि वह अपने निर्वाचन क्षेत्र संगरूर में हैं. गुरुवार को संगरूर पहुंचने पर न्यूज18 को बताया गया कि मान चंडीगढ़ में हैं, लेकिन किसी से मिलने के मूड में नहीं हैं.

कांग्रेस ने कैप्टन अमरिंदर को सीएम पद से हटाकर और उनकी जगह चरणजीत सिंह चन्नी को लाकर अपने नेतृत्व के मुद्दे को हल करने का दावा किया है. लेकिन, संकट अब आम आदमी पार्टी के अंदर बढ़ता दिखाई दे रहा है. अभी तक पार्टी ने सीएम कैंडिडेट की घोषणा नहीं की है. संगरूर के पार्टी कार्यालय में भगवंत मान के सहयोगी ने कहा कि अगर कांग्रेस चन्नी को मुख्यमंत्री बना सकती है, तो आप मान को चुनावी मैदान में सीएम के चेहरे के साथ क्‍यों नहीं उतार सकती. कुछ लोगों का कहना है कि मान को पार्टी के जीतने पर डिप्टी सीएम बनाने का वादा किया गया है. लेकिन फिर मान का सवाल है कि सीएम कौन होगा?

पार्टी से जुड़े एक सहयोगी ने कहा- ‘संगरूर में केजरीवाल के साथ मान के पोस्टर और मुफ्त बिजली का वादा पूरी तरह से हावी है. पंजाब में आप के पक्ष में एक बड़ा मतदाताओं का हुजूम है. लोग हमें वोट देने के लिए कमर कस चुके हैं. ऐसे में अब पार्टी को पंजाब में भगवंत मान को मुख्‍यमंत्री का चेहरा बनाने की जरूरत है.’

भगवंत मान को खोजना नहीं है आसान
चंडीगढ़ में आप पार्टी कार्यालय में भी मान का ठिकाना एक रहस्य बना हुआ है. उन्हें आखिरी बार 26 अगस्त को पंजाब में दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल की प्रेस कॉन्फ्रेंस में देखा गया था, लेकिन तब से अब तक वह पार्टी के किसी भी कार्यक्रम में शामिल नहीं हुए हैं. News18 को पता चला कि मान 8 सितंबर तक संगरूर में थे, जब राज्य भर से सैकड़ों AAP कार्यकर्ता उनसे मिलने आए और उन्‍हें सीएम चेहरा घोषित करने की मांग की.

बता दें कि पंजाब में आम आदमी पार्टी के सीएम चेहरे को लेकर बलबीर सिंह राजेवाल, एसपीएस ओबेरॉय और जनरल जेजे सिंह का नाम चर्चा में है. यह पार्टी कार्यकर्ताओं को भ्रमित करता है, जिन्‍हें लगता है कि पंजाब में सीएम के तौर पर कोई पैराशूट उम्‍मीदवार सामने आ सकता है.

पिछले एक महीने में सीएम के चेहरे को लेकर अटकलें तेज हो गई हैं, क्योंकि केजरीवाल पहले ही कह चुके हैं कि एक सिख सीएम का चेहरा पेश किया जाएगा. मान 8-12 सितंबर तक गोवा में संसदीय समिति की बैठक के लिए गए और फिर संगरूर लौटने से पहले कुछ दिन दिल्ली में रुके. इस बीच कम से कम 5 से 6 AAP विधायकों ने सार्वजनिक तौर पर कहा कि भगवंत मान को पंजाब में सीएम चेहरे के रूप में पेश किया जाना चाहिए.

मान संगरूर से AAP के दो बार के सांसद हैं और राष्ट्रीय स्तर पर मोदी लहर के बावजूद दोनों बार जीतकर आए हैं. हालांकि दिल्ली में आप नेतृत्व के एक सूत्र ने तर्क दिया है कि अरविंद केजरीवाल मान के पक्ष में नहीं हैं.

Punjab, Aam Aadmi Party, Bhagwant Mann, Charanjit Singh Channi, Punjab Assembly Elections,

आम आदमी पार्टी के संगरूर कार्यालय में भगवंत मान की कुर्सी. 

मान के कार्यालय में कुछ ऐसा दिखता है नजारा
पार्टी के संगरूर कार्यालय में भगवंत मान भले ही न हों, लेकिन उनके सहयोगियों की फौज हर समय मौजूद रहती है. संगरूर में चिकित्‍सा सहायता और अन्‍य कामों के लिए आम लोगों का आना जाना लगा रहता है. एक सहयोगी ने बताया कि मान 28 सितंबर को शहीद भगत सिंह के गांव जा सकते हैं. इसके साथ ही संगरूर में अक्टूबर के पहले सप्ताह से विकलांगों को 117 मोटर चालित तिपहिया साइकिल वितरित करने की योजना है. उनके सहयोगी ये भी दिखाते हैं कि कैसे मान ने संगरूर के लोगों के लिए पीएम राष्ट्रीय राहत कोष से धन प्राप्त करने के लिए चिकित्सा आवश्यकता के मामलों को आगे बढ़ाया है.

मान भले ही इस समय शांत हैं, लेकिन उन्‍होंने पंजाब के नए मुख्‍यमंत्री चन्‍नी को बधाई देकर राजनीतिक गलियारे में हलचल जरूर तेज कर दी है. 2017 में मान के होने के बावजूद पार्टी ने किसी को भी सीएम कैंडिडेट घोषित नहीं किया था, जिसका नतीजा रहा कि पार्टी को हार का सामना करना पड़ा. पार्टी ने इस बार कहा है कि वह सीएम चेहरे के साथ ही चुनाव मैदान में उतरेगी, लेकिन क्‍या वह चेहरा भगवंत मान का होगा?

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज