पंजाब: समाजिक सुरक्षा मासिक पेंशन में 750 रुपए का इजाफा, जानें किस तारीख से मिलेगी बढ़ी हुई रकम

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह.(पीटीआई फाइल फोटो)

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह.(पीटीआई फाइल फोटो)

Punjab Social Security Monthly Pension: साल 2020-21 दौरान अनुसूचित जाति से संबंधित 13 लाख लाभार्थियों समेत कुल 25.55 लाख लाभार्थियों को पेंशन दी गई.

  • Share this:

चंडीगढ़. सामाजिक सुरक्षा मासिक पेंशन (Social security monthly pension) को 750 रुपए से बढ़ाकर 1500 रुपए करने को लेकर पंजाब सरकार (Punjab government) ने नोटिफिकेशन (Notification) जारी कर दिया है. सामाजिक सुरक्षा, महिला एवं बाल विकास विभाग (Department of Social Security, Women and Child Development) द्वारा जारी इस नोटिफिकेशन के मुताबिक पात्र लोगों को 1 जुलाई से बढ़ी हुई पेंशन मिलनी शुरू हो जाएगी. राज्य सरकार के प्रवक्ता के मुताबिक, नोटिफिकेशन ने बुजुर्गों, दिव्यांग व्यक्तियों, विधवाओं और बेसहारा महिलाओं के अलावा आश्रित बच्चों की पेंशन दोगुनी करने के लिए मार्ग प्रशस्त कर दिया है.


मासिक पेंशन 750 रुपए से बढ़ाकर 1500 रुपए (दोगुनी) करने के मद्देनजर 2021-22 दौरान 4,000 करोड़ रुपए का बजट अलाॅट किया गया है जो कि साल 2020-21 के 2,320 करोड़ रुपए के बजटीय खर्च के मुकाबले 72 प्रतिशत की वृद्धि को दर्शाता है. साल 2019-2020 और 2020-21 में क्रमवार 2,089 करोड़ और 2,277 करोड़ रुपए की सामाजिक सुरक्षा पेंशन बांटी गई, जो कि पिछली अकाली-भाजपा सरकार द्वारा साल 2016-17 में दी गई केवल 747 करोड़ रुपए की पेंशन की अपेक्षा तीन गुणा अधिक बनती है.


ऑपरेशन ‘ब्लू स्टार’ की 37वीं बरसी: स्वर्ण मंदिर में दिखे अलगाववादी भिंडरावाले के पोस्टर और खालिस्तानी झंडे


साल 2020-21 के दौरान अनुसूचित जाति से संबंधित 13 लाख लाभार्थियों समेत कुल 25.55 लाख लाभार्थियों को पेंशन दी गई. बताने योग्य है कि मुख्यमंत्री ने हाल ही में कोविड महामारी में अनाथ हुए सभी बच्चों के लिए ग्रेजुएशन तक मुफ्त शिक्षा का ऐलान किया है. यह प्रयास उन परिवारों के लिए भी फायदेमंद है जो कोविड के कारण अपना रोजी-रोटी कमाने वाला सदस्य गंवा चुके हैं. यह लाभ 1 जुलाई, 2021 से दिए जाएंगे.



गौरतलब है कि 2022 के चुनावों के चलते कैप्टन सरकार अपने चुनावी वादे पूरा करने में जुटी हुई है. इसी कड़ी में सरकार ने जनता से किया हुआ एक बड़ा वादा पूरा किया है. इससे पहले सरकार ने इस योजना में कोरोना के दौरान अनाथ हुए 23 बच्चों को भी शामिल करने का ऐलान किया है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज