ससुर पर बेटे संग मिलकर बहु का गला घोंट कर हत्या करने का आरोप, परिजन बोले- दहेज के लिए मार डाला

मृतिका परमजीत कौर अपने पति हरसिमरन सिंह व बच्चों के साथ. (फाइल फोटो)

मृतिका परमजीत कौर अपने पति हरसिमरन सिंह व बच्चों के साथ. (फाइल फोटो)

Punjab Crime News: मृतिका परमजीत कौर के परिजनों ने जब इसकी शिकायत पुलिस को दी, तो पुलिस ने दोनों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया.

  • Share this:

चंडीगढ़. पंजाब के लुधियाना (Ludhiana in Punjab) के दुगरी में दहेज के लिए बेटे संग मिलकर ससुर (Father-in-law} पर अपनी बहु का गला घोंटकर हत्या (Strangling his daughter-in-law) करने का आरोप लगा है. मृतिका के परिजनों का आरोप है कि इसके बाद दोनों ने इस हत्या को आत्महत्या (Suicide) कहकर प्रचार करना शुरू कर दिया. मृतिका परमजीत कौर के परिजनों ने जब इसकी शिकायत पुलिस को दी, तो पुलिस ने दोनों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया. इस बीच वारदात को अंजाम देने के बाद मृतिका का ससुर खुद ही थाने पहुंच गया.


क्या है मामला

परमजीत के पिता जसवंत सिंह ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि उनकी बेटी की शादी सात साल पहले हरसिमरन सिंह के साथ हुई थी. उसके दो बेटे भी हैं. हरसिमरन सिंह खुद कैब चलाता है और उसका पिता तजिंदर सिंह बैंक से रिटायर कर्मी है. दोनों ही उनकी बेटी को माता-पिता से पैसे लेकर आने का दबाव बनाते थे और मना करने पर उसे पीटते थे. यही नहीं, परमजीत का ससुर शराब पीने के बाद खाली बोतलें और गिलास उस फेंकता था. इसकी शिकायत पुलिस में भी की गई थी और बाद में समझौता भी हो गया था. लेकिन हालात फिर बिगड़ गए थे. जसवंत का आरोप है कि हत्या करने से पहले भी दोनों पिता और पुत्र मृतिका परमजीत पर पैसे मंगवाने के लिए दबाव बना रहे थे और मना करने पर दोनों ने मिलकर उनकी बेटी का गला घोंटकर हत्या कर दी. जसवंत ने बताया कि शुक्रवार देर रात दामाद हरसिमरन ने फोन किया कि परमजीत की मौत हो गई है. जब वह ससुराल पहुंचे, तो बेटी का शव फर्श पर पड़ा था. उसे नजदीकी अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. उन्होंने आरोप लगाया कि दहेज के लिए ससुराल वालों ने बेटी की हत्या की है.


चार्जर से पत्नी का गला घोंटने का प्रयास
उधर लुधियाना के दुगरी के धांधरा रोड इलाके में रहने वाले एक व्यक्ति ने दहेज के लिए पहले पत्नी से मारपीट की. इसके बाद फोन के चार्जर की तार से उसका गला दबा दिया. एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक यह पूरी वारदात उसकी दोनों बेटियों ने देखी. आरोपी पत्नी को मरा समझकर उसे और अपनी दोनों बेटियों को कमरे में बंद कर फरार हो गया. बच्चियों ने खिड़की का शीशा तोड़कर पड़ोसियों से मदद मांगी. पड़ोसियों ने पीड़िता अनुराधा को ईएसआई अस्पताल भर्ती करवाया है. जहां उसकी हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है. थाना सदर के अधीन आती चौकी बसंत एवेन्यू की पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज