Home /News /punjab /

Punjab: सिद्धू के साथ बैठक में हुई तीखी बहस, CM चन्नी ने कर दी कुर्सी छोड़ने की बात, कहा- 2 महीने में करके दिखाएं

Punjab: सिद्धू के साथ बैठक में हुई तीखी बहस, CM चन्नी ने कर दी कुर्सी छोड़ने की बात, कहा- 2 महीने में करके दिखाएं

पंजाब कांग्रेस कमेटी के प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू  और सीएम चन्नी की फाइल फोटो

पंजाब कांग्रेस कमेटी के प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू और सीएम चन्नी की फाइल फोटो

Punjab Congress: दिल्ली में CWC की बैठक से इतर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने CM चरनजीत सिंह चन्नी से कहा था कि सिद्धू को कोई ऐसा मुद्दा ना दें, जिससे आगामी चुनाव में राज्य में कांग्रेस को नुकसान हो.

    चंडीगढ़. पंजाब कांग्रेस (Congress) के अध्यक्ष सिद्धू द्वारा कुछ मुद्दों को उठाते हुए पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) को लिखी गई चिट्ठी सार्वजनिक करने के एक दिन बाद पंजाब के मुख्यमंत्री चरनजीत सिंह चन्नी (Charanjit Singh Channi) ने कहा कि सभी मुद्दे सुलझा लिए जाएंगे और पार्टी का एजेंडा लागू किया जाएगा. रविवार शाम को पंजाब के मुख्यमंत्री चरनजीत सिंह चन्नी ने सिद्धू के साथ बैठक की. सिद्धू के करीबी माने जाने वाले मंत्री परगट सिंह भी वहां मौजूद लोगों में शामिल थे. रविवार को पत्रकारों से बातचीत में चन्नी ने कहा, ‘चाहे 13 सूत्री हो, 18 सूत्री हो, 21 सूत्री हो या 24 सूत्री हो, जो भी एजेंडा होगा उसे लागू किया जाएगा. कोई बिंदु छूटेगा नहीं.’

    सिद्धू की चिट्ठी के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘यह ठीक है कि उन्होंने (सिद्धू ने) मुद्दों को उठाया… हमें पार्टी की विचारधारा को लागू करना होगा. पार्टी सर्वोच्च है. सभी मुद्दों का समाधान किया जाएगा.’ सिद्धू ने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात के लिए पत्र लिखकर समय मांगा है. पत्र में उन्होंने कुछ मुद्दों को उठाया है, जिसे सरकार को ‘पूरा करना चाहिए’ और कहा कि यह चुनावी राज्य के ‘पुनरुत्थान और ऋणमुक्ति के लिये आखिरी मौका’ है.

    रविवार को सिद्धू ने AICC ऑब्जर्वर हरीश चौधरी, राहुल गांधी के सहयोगी कृष्णा अल्लावरू और कैबिनेट मंत्री परगट सिंह की मौजूदगी में दोपहर 1:15 बजे तक चन्नी के साथ बैठक की. सोमवार को पंजाब भवन में सिद्धू, चौधरी और अल्लावरू के बीच छह घंटे से अधिक समय तक एक और बैठक चली.

    चन्नी ने कहा- मैं सीएम पद छोड़ने को तैयार
    अंग्रेजी अखबार द इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार चन्नी और सिद्धू की बैठक से वाकिफ एक सूत्र ने कहा- ‘सिद्धू ने दोनों बैठकों में अपना 13 सूत्री एजेंडा उठाया. रविवार रात हुई मुलाकात में चन्नी और सिद्धू के बीच अच्छी खासी बहस हो गई थी. सिद्धू ने चन्नी से पूछा कि वह उन वादों को पूरा क्यों नहीं करना चाहते जिनके लिए कांग्रेस ने अपने सीएम को बदल दिया इस पर चन्नी ने सिद्धू से कहा कि उनके पास केवल 60 दिन बचे हैं और वह सभी वादों को पूरा करने की पूरी कोशिश कर रहे हैं.’

    बैठक के दौरान सिद्धू ने उनसे युवाओं को सरकारी नौकरी देने के वादे को पूरा करने के बारे में बात की. इस पर चन्नी ने सिद्धू से यह भी कहा कि ‘वह अपना मुख्यमंत्री पद छोड़ने को तैयार हैं और सिद्धू खुद मुख्यमंत्री बने और दो महीने के समय में अपना प्रदर्शन दिखा सकते हैं.’

    रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि ‘शनिवार को दिल्ली में सीडब्ल्यूसी की बैठक से इतर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने चन्नी से कहा था कि सिद्धू को कोई ऐसा मुद्दा ना दें जिससे आगामी विधानसभा चुनाव में राज्य में कांग्रेस की संभावना कम हो.

    सूत्रों ने दावा किया कि मुख्यमंत्री को महाधिवक्ता एपीएस देओल को बदलने के लिए कहा गया था. सिद्धू पूर्व डीजीपी सुमेध सैनी के बचाव पक्ष के वकील होने की दलील पर देओल को बदलने की मांग कर रहे हैं. सूत्रों ने यह भी कहा कि राहुल ने चन्नी से कहा कि वह अच्छा काम कर रहे हैं. लेकिन, ‘सिद्धू को विश्वास में लेना बेहतर होगा ताकि उन्हें कोई मौका ना मिले.’

    Tags: BJP, Charanjit Singh Channi, Congress, Navjot singh sidhu, Punjab, Punjab Assembly Election 2022

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर