रेलवे ने किया साफ- झूठी हैं पंजाब में ट्रेन शुरू होने की खबरें, बीच में अटका है हजारों करोड़ का माल

सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर

कुछ खबरें सामने आ रही थी, जिसमें कहा जा रहा था कि पंजाब में रेल सेवाएं फिर से शुरू हो गई हैं. इन खबरों पर गुरुवार को उत्तर रेलवे के सीपीआरओ दीपक कुमार ने सफाई दी है. उन्होंने रेल सेवा की शुरू होने की खबरों को अफवाह बताया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 29, 2020, 4:20 PM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. पंजाब में किसान आंदोलन (Kisan Andolan) के चलते रेलवे ने ट्रेनों पर रोक लगा रखी है. ऐसे में कुछ खबरें सामने आ रही थीं कि रेलवे ने राज्य में ट्रेनों के पहिए शुरू करने की इजाजत दे दी है. उत्तर रेलवे के प्रवक्ता दीपक कुमार ने इन खबरों को पूरी तरह से गलत और अफवाह बताया है. रेलवे ने गुरुवार को यह साफ किया है कि पंजाब में ट्रेन सेवा को बंद किया गया है और किसी भी पैसेंजर ट्रेन की शुरुआत नहीं की गई है.

पुरानी प्रेस रिलीज के आधार पर फैलाई जा रही है खबर
मुख्य जनसंपर्क अधिकारी दीपक कुमार ने बताया, 'कई जगह यह प्रकाशित किया गया है कि पंजाब में ट्रेन सेवाओं (Trains in Punjab) को फिर से शुरू किया गया है, लेकिन ऐसा कुछ भी निर्णय नहीं लिया गया है. ये खबरें झूठी हैं और ट्रेनें नहीं चल रही हैं.' उन्होंने कहा, 'ये खबरें 22 अक्टूबर को जारी की गई एनआर प्रेस रिलीज के हवाले से प्रकाशित की जा रही हैं. प्रेस रिलीज में कहा गया था कि मालगाड़ियों की सेवाएं एक दिन के लिए फिर से शुरू की गईं थीं, जिसे बाद में स्टाफ की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए रोक दिया गया था.'

सीएम ने केंद्र सरकार से की थी रेल सेवा शुरू करने की अपील
किसानों के विरोध के कारण रुकी हुई रेलों की बहाली के लिए पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh) ने रेल मंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal) से अपील की थी. जिसके जवाब में केंद्र सरकार ने राज्य सरकार से रेलवे स्टाफ की सुरक्षा की गारंटी मांगी थी. पटरी पर बैठे किसान सरकार के कृषि कानून का विरोध कर रहे हैं. बताया जा रहा है कि मालगाड़ियों का संचालन नहीं होने से 24 हजार करोड़ रुपये का माल बीच में अटका हुआ है. इसमें यूरिया, होजरी और स्पोर्ट्स का सामान शामिल है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज