अब दंगा किया तो 'शांति' मारेगी 'थप्पड़' और फिर छोड़ देगी अपनी छाप

News18Hindi
Updated: September 4, 2019, 8:28 AM IST
अब दंगा किया तो 'शांति' मारेगी 'थप्पड़' और फिर छोड़ देगी अपनी छाप
डॉ. घोष ने बताया कि इस गन की खासियत यह है कि इसकी गोली के दंगाइयों के शरीर से लगते ही चमेली, लैवेंडर, चंदन और लैमन ग्रास की खुशबू फैल जाएगी. (प्रतीकात्मक फोटो)

मोहाली के वैज्ञानिक ने बनाई स्पेशल गन, दंगाइयों से निपटने के लिए सुरक्षा एजेंसियों की करेगी मदद, फायर होते ही निकलेगी रबड़ की गोली जो फैला देगी फूलों की खुशबू.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 4, 2019, 8:28 AM IST
  • Share this:
मोहाली (चंडीगढ़). दंगाइयों के लिए अब मोहाली के एक वैज्ञानिक (Scientist) ने मुश्किल खड़ी कर दी है. प्रो. डॉ. सम्राट घोष नामक वैज्ञानिक ने ऐसी गन (Gun) बनाई है जो दंगाइयों को काबू में करने के साथ ही उनकी पहचान करवाने में भी मददगार होगी. ऐसे में दंगा कर रहे लोगों की पहचान कर पकड़ना सुरक्षा बलों (Security Forces) के लिए आसान हो जाएगा. डॉ. घोष ने बताया कि इस गन से रबड़ की गोली निकलेगी जिससे किसी को कोई नुकसान नहीं होगा. शरीर पर इस गोली के लगने के बाद इससे स्याही निकलेगी जिसके चलते उसकी आसानी से पहचान हो जाएगी.

थप्पड़ सा होगा अहसास
डॉ. घोष के अनुसार गोली लगने के साथ ही दंगाइयों को थप्पड़ लगने जितनी चोट का अहसास होगा. घोष ने इस गन को शांति नाम दिया है. उनका कहना है कि दंगे में शामिल लोग भो ज्यादातर मामलों में हमारे देश की ही होते हैं और वे दुश्मन नहीं होते हैं. ऐसे में इस गन के माध्यम से ही शांति कायम होने में मदद मिलेगी.

और फैल जाएगी हर तरफ खुशबू

डॉ. घोष ने बताया कि इस गन की खासियत यह है कि इसकी गोली के दंगाइयों के शरीर से लगते ही चमेली, लैवेंडर, चंदन और लैमन ग्रास की खुशबू फैल जाएगी. इसका एक कारण यह भी है कि इस तरह की खुशबू से लोगों के मन को शांति मिलेगी और उनके गुस्से में खासी कमी आएगी. गन के फायर होती ही यह ऐसी आवाज करेगी जैसे असली की बंदूक से फायर किया गया हो. ऐसे में आवाज से भी लोगों में दहशत फैल जाएगी.

प्लास्टिक की खाली बोतलों से बनाई
अमर उजाला की एक रिपोर्ट के अनुसार ने बताया कि इस गन का निर्माण मेक इन इंडिया मुहिम के तहत किया गया है. इसमें प्लास्टिक की खाली बोतलों और घर में मिलने वाले सामान का ही प्रयोग किया गया है. वहीं रबड़ की गोलियों का निर्माण नोएडा की एक कंपनी ने किया है. उन्होंने बताया कि इसके निर्माण में छह महीने का समय लगा. यह गन करीब 50 मीटर तक का इलाका कवर करेगी. डॉ. घोष ने इस गन के संबंध में जानकारी केंद्र सरकार को भेज दी है.
Loading...

ये भी पढ़ें- ऐसे जम्मू-कश्मीर का विकास करेगी मोदी सरकार

भारत और रूस के संबंधों में आयेगी और मजबूती - मोदी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mohali से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 4, 2019, 8:10 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...