पंजाब में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के एक हजार संविदा कर्मचारियों की सेवाएं समाप्त

सांकेतिक तस्वीर

सांकेतिक तस्वीर

पंजाब के स्वास्थ्य विभाग ने राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (एनएचएम) में अनुबंध के तहत काम करने वाले करीब एक हजार प्रदर्शनकारी कर्मचारियों की सेवाएं समाप्त करने के आदेश दिए हैं.

  • Share this:

चंडीगढ़. पंजाब के स्वास्थ्य विभाग ने राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (एनएचएम) में अनुबंध के तहत काम करने वाले करीब एक हजार प्रदर्शनकारी कर्मचारियों की सेवाएं समाप्त करने के आदेश दिए हैं. ये कर्मचारी कोविड- 19 महामारी की दूसरी लहर के दौरान अपनी ड्यूटी पर नहीं लौटे थे. पैरामेडिकल कर्मचारी समेत एनएचएम पंजाब के लिए काम करने वाले करीब नौ हजार संविदा कर्मचारी जिनमें भी शामिल हैं, वे नौकरी के नियमन और वेतन वृद्धि की मांग को लेकर हड़ताल पर हैं. पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिधु की अपील के बाद करीब आठ हजार प्रदर्शनकारी कर्मचारी काम पर लौट आए थे.

कार्रवाई आपदा प्रबंधन कानून के तहत 

राज्य के सभी सिविल सर्जनों को सोमवार को दिए गए आदेश में एनएचएम, पंजाब के निदेशक ने कहा है कि सभी प्रदर्शनकारी कर्मचारियों की सेवाएं तत्काल प्रभाव से खत्म कर दी जाए. इसके अलावा कहा गया है कि इन कर्मचारियों के स्थान पर अन्य कर्मचारियों की सेवाएं ली जाएं.

Youtube Video

यह कार्रवाई आपदा प्रबंधन कानून के तहत की गई है. इससे पहले, स्वास्थ्य मंत्री ने प्रदर्शनरत कर्मचारियों से जनहित के मद्देनजर हड़ताल खत्म करने और ड्यूटी पर लौटने की अपील की थी. ऐसा नहीं होने की स्थिति में उन्होंने कार्रवाई की चेतावनी दी थी. एक हफ्ते से सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारियों एवं अन्य कर्मचारियों के काम पर नहीं आने के कारण ग्रामीण इलाकों में कोविड-19 रोकथाम अभियान प्रभावित हुआ है.


एनएचएम राज्य कर्मचारी संघ के अध्यक्ष इंद्रजीत राणा ने मंगलवार को कहा कि संघ ने स्वास्थ्य अधिकारियों से अपील की है कि वे इन कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं करें और उन्हें ड्यूटी पर लौटने दें.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज