होम /न्यूज /पंजाब /

मूसेवाला को 19 मई को ही मारने की थी प्लानिंग? पंजाब पुलिस की जांच में खुलासा

मूसेवाला को 19 मई को ही मारने की थी प्लानिंग? पंजाब पुलिस की जांच में खुलासा

जांच के दौरान पंजाब पुलिस को जानकारी मिली है कि सिद्धू मूसेवाला की हत्या को अंजाम देने की प्लानिंग 19 मई को ही थी.

जांच के दौरान पंजाब पुलिस को जानकारी मिली है कि सिद्धू मूसेवाला की हत्या को अंजाम देने की प्लानिंग 19 मई को ही थी.

पंजाब पुलिस ने जब इस हत्याकांड में गिरफ्तार हथियारों के सप्लायर बलदेव से पूछताछ की तो उसने ये चौंकाने वाला खुलासा किया है. पूछताछ के दौरान बलदेव ने बताया कि वह 19 मई को ही हथियारों की डिलिवरी करने भटिंडा गया था.

चंडीगढ़. पंजाबी सिंगर सिंद्धू मूसेवाला की हत्या के बाद से पंजाब पुलिस को नई-नई जानकारियां मिल रही हैं. इसी कड़ी में अब एक नई जानकारी सामने आ रही है कि सिद्धू मूसेवाला की हत्या 29 मई की जगह 19 मई को करने की प्लानिंग थी. पंजाब पुलिस ने जब इस हत्याकांड में गिरफ्तार हथियारों के सप्लायर बलदेव से पूछताछ की तो उसने ये चौंकाने वाला खुलासा किया है. पूछताछ के दौरान बलदेव ने बताया कि वह 19 मई को ही हथियारों की डिलिवरी करने भटिंडा गया था. बलदेव ने भटिंडा पेट्रोल पंप पर हथियार मंदीप तूफान, मनि रइया और एक अज्ञात को दिया था. उन तीनों के पास पहले से ही और हथियार थे.

हथियार देने के बाद बलदेव सहित सभी लोग पंप से डबवाली की ओर बढ़ते हैं, जहां पर मानू पहले से स्कार्पियो गाड़ी में मौजूद रहता है. बता दें कि मानू की भूमिका को लेकर दिल्ली पुलिस ने बताया था कि उसने सबसे पहले गोली मूसेवाला पर चलाई थी. क्योंकि वो अपनी बहन से कथित तौर पर छेड़छाड़ का बदला लेना चाहता था. बलदेव लॉरेंस का सहयोगी है और पिछले डेढ़ महीने से गोल्डी बरार के निर्देश पर काम कर रहा था. गोल्डी से उसका संवाद सिग्नल ऐप के जरिए होता था. पंजाब पुलिस के मुताबिक गोल्डी इस बात का खास ध्यान रखता था कि हथियार सप्लाई करने का कारण बलदेव को न पता चले.

19 मई को भी गोल्डी ने बलदेव को सिग्नल ऐप के जरिए निर्देश दिया की हथियार इकट्ठा कर उसे भटिंडा पहुंचाए. पंजाब पुलिस की जांच में यह भी सामने आया है की इधर संदीप नाम के शख्स ने 19 मई इन सभी को सत्यवीर की फॉर्च्यूनर से भटिंडा पेट्रोल पंप भेजा. अब इस बात की तफ्तीश की जा रही है कि संदीप का पूरा रोल क्या था और वो किस गैंग के लिए काम कर रहा था. लेकिन ये तय है कि 19 तारीख की पूरी सिक्वेंस चेन में उसकी भूमिका सबसे ज्यादा थी. पंजाब पुलिस की जांच में यह भी पता चला है कि इस दिन यानी 19 मई को सिद्दू मूसेवाला अपने घर पर थे. बता दें कि अभी तक सभी फरार चल रहे हैं.

Tags: Punjab

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर