Home /News /punjab /

sidhu moosewala murder eye witness his father balkaur singh narrates entire event to punjab police

कोरोला गाड़ी में बैठे 4 लोग मेरे बेटे का पीछा कर रहे थे... मूसेवाला के पिता ने पुलिस को बताई हमले की पूरी कहानी


पंजाबी सिंगर शुभदीप सिंह उर्फ सिद्धू मूसेवाला की 29 मई को गोली मारकर हत्या कर दी गई. (Instagram Photo)

पंजाबी सिंगर शुभदीप सिंह उर्फ सिद्धू मूसेवाला की 29 मई को गोली मारकर हत्या कर दी गई. (Instagram Photo)

बलकौर सिंह ने पुलिस को बताया कि रविवार को सिद्धू मूसेवाला घर से अपने 2 दोस्तों, गुरविंदर सिंह और गुरप्रीत सिंह के साथ थार जीप से निकला था. अपनी बुलेट प्रूफ फॉर्च्यूनर गाड़ी और गनमैन को वह साथ लेकर नहीं गया. उन्होंने कहा, 'मैं दूसरी गाड़ी से गनमैन के साथ उसके पीछे-पीछे गया था. रास्ते में मैने एक कोरोला गाड़ी को मेरे बेटे की थार का पीछा करते देख, जिसमें 4 नौजवान सवार थे.'

अधिक पढ़ें ...

चंडीगढ़: शुभदीप सिंह उर्फ सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड में सिंगर के पिता बलकौर सिंह के बयान पर मानसा पुलिस ने सदर थाने में एफआईआर दर्ज की है. एफआईआर के मुताबिक सिद्धू मूसेवाला के पिता बलकौर सिंह ने पुलिस को दिए अपने बयान में कहा है कि कई गैंग्स्टर फिरौती के लिए उनके बेटे को फोन पर धमकियां देते थे. लॉरेंस बिश्नोई गैंग ने भी सिंगर को कई बार धमकियां दी थीं. मूसेवाला के पिता के मुताबिक धमकियों की वजह से ही उनके बेटे ने बुलेटप्रूफ गाड़ी रखी हुई थी.

बलकौर सिंह ने पुलिस को बताया कि रविवार को सिद्धू मूसेवाला घर से अपने 2 दोस्तों, गुरविंदर सिंह और गुरप्रीत सिंह के साथ थार जीप से निकला था. अपनी बुलेट प्रूफ फॉर्च्यूनर गाड़ी और गनमैन को वह साथ लेकर नहीं गया. उन्होंने कहा, ‘मैं दूसरी गाड़ी से गनमैन के साथ उसके पीछे-पीछे गया था. रास्ते में मैंने एक कोरोला गाड़ी को बेटे की थार का पीछा करते देखा, जिसमें 4 नौजवान सवार थे.’

बोलेरो गाड़ी में सवार 4 लोगों ने की मूसेवाला की गाड़ी पर फायरिंग
बलकौर सिंह ने आगे बताया, ‘मेरे बेटे की थार जब जवाहर गांव की फिरनी (बाहरी रास्ता) के पास पहुंची तो वहां एक सफेद रंग की बोलेरो गाड़ी पहले से खड़ी थी. उसमें भी 4 नौजवान बैठे थे. जैसे ही मेरे बेटे की थार उस बोलेरो के सामने पहुंची, उसमें सवार चारों नौजवानों ने अंधाधुंध गोलियां बरसानी शुरू कर दीं. चंद मिनटों में फायरिंग करके बोलेरो और कोरोला सवार मौके से फरार हो गए.’

सिद्धू मूसेवाला के पिता के मुताबिक वह घटनास्थल पर पहुंचे और शोर मचाया तो आसपास के लोग इकट्ठा हो गए. उन्होंने थार में बैठे अपने बेटे और उसके दोनों दोस्तों को मानसा के सरकारी अस्पताल पहुंचाया. डॉक्टरों ने शुभदीप सिंह उर्फ सिद्धू मूसेवाला को मृत घोषित कर दिया. बलकौर सिंह के इस बयान के आधार पर पुलिस ने हत्या, हत्या के प्रयास और आर्म्स एक्ट की धाराओं में केस दर्ज किया है.

इस हत्याकांड के पीछे गोल्डी बराड़ और लॉरेंस बिश्नोई गैंग का हाथ
इस हत्याकांड के पीछे लॉरेंस बिश्नोई गैंग का हाथ है. इस गैंग ने खुद सिद्धू मूसेवाला की हत्या की जिम्मेदारी ली है. गैंग्स्टर गोल्डी बराड़ ने फेसबुक पोस्ट में ​सिंगर की हत्या करने की बात कबूल की है. वह इस समय कनाडा में मौजूद है. पंजाब के डीजीपी वीके भावरा ने प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में बताया कि मूसेवाला की हत्‍या के लिए गोल्डी बराड़ और तिहाड़ जेल में बंद गैंग्स्टर लॉरेंस बिश्नोई जिम्मेदार हैं.

जान लीजिए आखिर कौन है गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई?
‘न्यूज 18 इंडिया’ ने अपने खास कार्यक्रम ‘पोस्टर’ में बीते महीने लॉरेंस बिश्नोई पर बड़ा खुलासा किया था. न्यूज 18 ने आगाह किया था कि उसके निशाने पर पंजाब के कुछ बड़े सिंगर हैं. भारत में उसके 600 कुख्यात शॉर्प शूटर मौजूद हैं. पंजाब, हरियाणा, राजस्थान और दिल्ली-एनसीआर के लिए यह गैंग्स्टर सिरदर्द बना हुआ है. तिहाड़ जेल में बंद होने के बावजूद उसका गैंग सक्रिय है.

फिल्म रेडी की शूटिंग के दौरान एक बार लॉरेंस बिश्नोई ने अपने गुर्गों के जरिए सलमान खान पर हमले पर प्लान तैयार किया था. लेकिन मनमाफिक हथियार मुहैया न हो पाने के चलते यह प्लान फेल हो गया. गैंग्स्टर बिश्नोई का सबसे महत्वपूर्ण मोहरा और गैंग्स्टर काला जठेड़ी का गुरु नरेश शेट्टी ही वह शख्स है, जिसे सलमान खान को मारने का प्लान सौपा गया था.

सलमान खान भी लॉरेंस बिश्नोई गैंग के निशाने पर थे, करवाई थी रेकी
​हरियाणा का झज्जर का रहने वाला गैंग्स्टर नरेश शेट्टी, जनवरी 2020 में पूरे एक महीने मुंबई में रुका था. उसने कई बार सलमान खान के घर की रेकी की थी, ताकि जब सलमान साइकलिंग करने अपने घर से बाहर निकलें, तो उन्हें टारगेट किया जाए. लेकिन इस काम के लिए जरूरी हथियार उपलब्ध नहीं हो पाने के चलते बिश्नोई गैंग अपने मंसूबों में कामयाब नहीं हो पाया.

स्पेशल सेल के अधिकारियों का कहना है कि लॉरेंस बिश्नोई पंजाब में अपना सिक्का जमाना चाहता है. उसके निशाने पर राज्य के 4 बड़े सिंगर हैं. उनमें से सिद्धू मूसेवाला भी एक था. गैंग्स्टर चाहता है कि ये सिंगर उसके मन मुताबिक काम करें, उसके गैंग तक प्रोटक्शन मनी पहुंचाएं. शायद इन सिंगर्स ने उसकी धमकियों को तवज्जो नहीं दी, इसलिए वह इनकी जान का दुश्मन बना हुआ है.

लॉरेंस बिश्नोई की उम्र 29 साल, दर्ज हैं 50 से अधिक आपराधिक मुकदमे
लॉरेंस बिश्नोई 22 फरवरी 1992 को पंजाब के फाजिल्का में पैदा हुआ. 29 साल की उम्र में उस पर 50 से अधिक आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं. चंडीगढ़ विश्वविद्यालय से उसकी पढ़ाई हुई, छात्र संघ का चुनाव लड़ चुका है. उस पर हाल में मकोका भी लगा है. करीब 600 शार्प शूटर्स के गैंग के मुखिया लॉरेंस बिश्नोई को गैंग्स्टर बनाने में जग्गू, नरेश शेट्टी, सम्पत नेहरा और मर चुके गैंग्स्टर सुक्खा का हाथ है.

पंजाब पुलिस के स्पेशल सेल के अधिकारियों की मानें तो ट्रैवल एजेंट, अस्पताल मालिक, डायमंड कारोबारी, पान मसाला कारोबारी, अफीम कारोबारी, शराब कारोबारी, रेस्टोरेंट मालिक लॉरेंस बिश्नोई गैंग के निशाने पर रहते हैं. इन लोगों से गैंग्स्टर अपने शूटर्स के जरिए अवैध वसूली, फिरौती, प्रोटेक्शन मनी की मांग करता है और विरोध करने की सूरत में उन्हें अंजाम भुगतने की चेतावनी देता है.

Tags: Crime story, Punjab, Punjab Police

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर