पंजाब कांग्रेस में बिगड़ रहे हालात, पैनल से जल्द मिल सकते हैं सीएम अमरिंदर सिंह

मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह जल्द ही कांग्रेस पैनल से मुलाकात कर सकते हैं. (File pic)

मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह जल्द ही कांग्रेस पैनल से मुलाकात कर सकते हैं. (File pic)

Punjab Congress Dispute: कांग्रेस हाईकमान की तरफ से तैयार की गई इस कमेटी में राज्यसभा में मुख्य विपक्षी नेता मल्लिकार्जुन खड़गे (Mallikarjun Kharge), पंजाब मामलों के सचिव हरीश रावत और पूर्व सांसद जयप्रकाश अग्रवाल हैं.

  • Share this:

चंडीगढ़. पंजाब कांग्रेस में कलह जारी है. पार्टी के शीर्ष नेतृत्व की तरफ से तैयार की गई पैनल लगातार राज्य के नेताओं से मुलाकात कर रही है. इसी क्रम में गुरुवार को राज्य के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh) भी बैठक के लिए पहुंचने वाले थे. हालांकि, अब कहा जा रहा है कि उनकी मीटिंग एक या दो दिन टल सकती है. राज्यसभा में विपक्ष के नेता मलिल्कार्जुन खड़गे की अगुवाई वाली तीन सदस्यीय समिति बीते सोमवार से बैठकें कर रही है.

विधायकों और सांसदों के साथ मुलाकात के बाद आज पैनल ने विधानसभा चुनाव में हारे उम्मीदवारों को बुलाया है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, आज सबसे पहले सांसद मनीष तिवारी पैनल से रूबरू होंगे. बीते बुधवार को टीम ने राज्य के कई विधायक, सांसदों से चर्चा की है. रिपोर्ट्स में जारी आंकड़े बताते हैं कि तीन दिनों में कांग्रेस के 80 सदस्य मीटिंग में शामिल हो चुके हैं.

यह भी पढ़ें: नवजोत सिंह सिद्धू का कैप्टन विरोध जारी, कांग्रेस पैनल से बोले- सीएम को लेकर मेरा रुख वही था, है और रहेगा

कांग्रेस हाईकमान की तरफ से तैयार की गई इस कमेटी में राज्यसभा में मुख्य विपक्षी नेता मल्लिकार्जुन खड़गे, पंजाब मामलों के सचिव हरीश रावत और पूर्व सांसद जयप्रकाश अग्रवाल हैं. बीते मंगलवार को कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू भी पैनल से मिलने कुछ विधायकों के साथ दिल्ली पहुंचे थे. इस दौरान उन्होंने सीएम कैप्टन के खिलाफ अपना विरोध जारी रखा.


बैठक के बाद सिद्धू ने कहा था, 'मेरा मत वही था, वही है और वही रहेगा कि लोगों की लोकतांत्रिक शक्ति, जो टैक्स के रूप में सरकार तक पहुंचती है, वह जनता के पास वापस आनी चाहिए... हर नागरिक की प्रगति में हिस्सेदारी होनी चाहिए.' उन्होंने कहा था, 'सत्य परेशान हो सकता है, लेकिन पराजित नहीं हो सकता. हमें सत्य को जिताना होगा और पंजाब विरोधी ताकतों को हराना होगा.' सिद्धू लगातार सीएम कैप्टन पर बेअदबी और पुलिस गोलीबारी मामले में बादल परिवार को बचाने और कोटकपुरा मामले की जांच को खराब करने के आरोप लगा रहे हैं. पूर्व क्रिकेटर के साथ उनके करीबी माने जाने वाले परगट सिंह भी मौजूद थे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज