पंजाब में 26/11 जैसे बड़े हमले की साजिश का खुलासा, ISI ने ड्रोन से भेजे थे हथियार: सूत्र

26 नवंबर 2008 को लगभग 60 घंटों तक सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच हुई मुठभेड़ में करीब 160 लोगों की जानें गईं.  (फाइल फोटो)
26 नवंबर 2008 को लगभग 60 घंटों तक सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच हुई मुठभेड़ में करीब 160 लोगों की जानें गईं. (फाइल फोटो)

सरकार से जुड़े उच्च सूत्रों के मुताबिक आईएसआई ने धार्मिक डेरों और सार्वजनिक स्थानों (Public places) पर भीड़भाड़ वाले इलाकों पर उसी तरह से फायरिंग करवा कर बड़े हमले को अंजाम देने की साजिश की थी जिस तरह से 26/11 मुंबई हमलों में कसाब (Kasab) और उसके साथ आए पाकिस्तानी आतंकियों ने फायरिंग की थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 25, 2019, 10:23 AM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. पंजाब के तरनतारन से रविवार को पकड़े गए खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स (KJF) के टेरर मॉड्यूल को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है. पाकिस्तान (Pakistan) की खुफिया एजेंसी आईएसआई (ISI) पंजाब और आसपास के राज्यों में 26/11 मुंबई अटैक (Mumbai Attack) जैसा बड़ा हमला करवाने की फिराक में है. इसे अंजाम देने के लिए ड्रोन के माध्यम से पंजाब (Punjab) में एके-47 राइफल और भारी मात्रा में मैगजीन और कारतूस पहुंचाए गए थे.

सरकार से जुड़े उच्च सूत्रों के मुताबिक आईएसआई ने धार्मिक डेरों और सार्वजनिक स्थानों (Public Places) पर भीड़भाड़ वाले इलाकों पर उसी तरह से फायरिंग करवा कर बड़े हमले को अंजाम देने की साजिश की थी जिस तरह से 26/11 मुंबई हमलों में कसाब (Kasab) और उसके साथ आए पाकिस्तानी आतंकियों ने फायरिंग की थी.

आतंकियों (Terrorists) को आईएसआई की और से इस बड़े हमले को अंजाम देने के लिए पांच ए के 47 राइफल, 16 मैग्जीन और 472 कारतूस ड्रोन के जरिए भेजे गए थे. वहीं हमले के दौरान लाइव निर्देश देने के लिए आईएसआई के हैंडलरों ने हथियारों की खेप के साथ सेटेलाइट फोन भी भेजे थे.





रिमांड पर पूछताछ में ये भी हुआ खुलासा
सूत्रों का कहना है कि जिस तरह से पंजाब के तरनतारन जिले के चोला साहिब गांव से पकड़े गए खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स के टेरर मॉड्यूल के आतंकियों को ड्रोन के माध्यम से 4 से 5 बार हथियार भेजे गए थे. एक बार जब ड्रोन से हथियार गिराए जा रहे थे तो तकनीकी गड़बड़ी की वजह से पाकिस्तानी ड्रोन गिर गया था. उस गिरे ड्रोन को आतंकी शुभदीप ने सबूत मिटाने के लिए तोड़ दिया था और उसके पंखों को जला दिया था.

इसके बाद पंजाब पुलिस ने उसके कुछ हिस्सों को राजोके गांव के नजदीक से बरामद कर लिया था. ऐसा पकड़े गए आतंकियों ने पुलिस रिमांड के दौरान की गई पूछताछ में खुलासा किया. सूत्रों के अनुसार अभी पंजाब में कुछ और गिरफ्तारियां होने की भी संभावना है. कहा जा रहा है कि पकड़े गए आतंकियों से पुलिस को अहम सुराग हाथ लगे हैं.

ये भी पढ़ें

हौसले को सलाम! 83 साल के बुज़ुर्ग ने इंग्लिश से MA कर गुरु का सपना पूरा किया

देश में पुरुष शिक्षकों के मुकाबले बेहद कम हैं महिला शिक्षक, जानें डिटेल
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज