ED ने पंजाब के MLA सुखपाल खैरा को दिल्ली बुलाया, मनी लांड्रिंग में हो चुकी है रेड

सुखपाल खैहरा (फ़ाइल फोटो)

सुखपाल खैहरा (फ़ाइल फोटो)

Punjab News: सुखपाल सिंह खैहरा (Sukhpal Singh Khaira) के पंजाब स्थित आवासों पर रेड मारने के बाद अब दिल्ली के ईडी कार्यालय में 17 मार्च को तलब किया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 17, 2021, 9:55 PM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. इनफोर्समेंट डायरेक्टोरेट (The Enforcement Directorate ) ने पंजाब एकता पार्टी (Punjab Ekta Party) के प्रधान और भुलत्थ विधानसभा क्षेत्र के विधायक सुखपाल सिंह खैरा (Sukhpal Singh Khaira) के पंजाब स्थित आवासों पर रेड मारने के बाद अब दिल्ली के ईडी कार्यालय में 17 मार्च को तलब किया है. खैरा का कहना है कि जांच में वह ईडी का पूरा सहयोग करेंगे, लेकिन उन्हें दिल्ली में जाकर जांच में शामिल होना है या नहीं इस पर वह अपने वकील की राय लेंगे.

क्या है पूरा मामला
9 मार्च को ED ने सुखपाल सिंह खैरा की चंडीगढ़ के सेक्टर-5 स्थित कोठी और उनके पैतृक गांव में मनी लांड्रिंग (Money laundering) के मामले में रेड की थी. इस दौरान उनकी चंडीगढ़ स्थित कोठी को सील कर दिया गया था. खैरा के वकील का कहना है कि कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे आंदोलन के कारण यह कार्रवाई राजनीति से प्रेरित है. खैरा ने कहा था कि कृषि कानूनों को लेकर पंजाब और हरियाणा में विशेष रेफरेंडम लाया जाना चाहिए. उन्होंने केंद्र सरकार पर किसानों और पंजाब के नौजवानों से भेदभाव करने के भी सरकार पर आरोप लगाए थे.

Youtube Video

खैरा के पैतृक घर में रेड के बाद उनके चचेरे भाई कुलबीर सिंह के घर भी ईडी ने रेड की है. कुलबीर सिंह को खैरा का खास माना जाता है. गौरतलब है कि खैरा आम आदमी पार्टी के अग्रिम पंक्ति के नेता रहे हैं. उन्होंने पार्टी को छोड़ कर पंजाब एकता पार्टी का गठन किया है. खैरा ने ईडी का सम्मन मिलने की पुष्टि की है और कहा है कि उन्हें साजिश के तहत फंसाया जा रहा है. उन्होंने कहा कि उन्होंने ऐसा कुछ भी नहीं किया और ईडी के अधिकारियों का जांच में हर सहयोग करने को तैयार हैं.





बजट सत्र (Budget session) के दौरान सत्तापक्ष और विपक्ष के विधायकों ने पंजाब एकता पार्टी के विधायक सुखपाल खैरा के घर पर प्रवर्तन निदेशालय की रेड की निंदा की थी. विधायकों का कहना था कि क्योंकि खैरा किसान आंदोलन के आंदोलनकारी किसानों की आवाज उठा रहे थे, इसलिए उन्हें निशाना बनाया जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज