• Home
  • »
  • News
  • »
  • punjab
  • »
  • THE INFAMOUS GANGSTER OF PUNJAB JAIPAL BHULLAR WAS KILLED IN AN ENCOUNTER PUNSS

खिलाड़ी से गैंगस्टर बना था कोलकाता में मारा गया पंजाब का कुख्यात गैंगस्टर, इंस्पेक्टर पिता ने कई बार था समझाया

जयपाल भुल्लर को उसके पिता ने बहुत समझाया था.

पंजाब के कुख्यात गैंगस्टर जयपाल भुल्लर (Jaipal Bhullar) को कोलकाता (Kolkata) में पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया. यह पंजाब में वारदातों को अंजाम देने वाला ए श्रेणी का आखिरी गैंगस्टर था.

  • Share this:
    चंडीगढ़. पंजाब के कुख्यात गैंगस्टर जयपाल भुल्लर (Jaipal Bhullar) को कोलकाता (Kolkata) में पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया. यह पंजाब में वारदातों को अंजाम देने वाला ए श्रेणी का आखिरी गैंगस्टर (Gangster of A category) था. इससे पहले एक मुहिम के तहत पुलिस ने पंजाब के ए श्रेणी के कई गैंगस्टरों को मार गिराया है या फिर कुछ ने खुद ही सरेंडर कर दिया है. कुछ पुलिस के डर से विदेश भी भाग गए हैं. यहां आपको बता रहे हैं कि गैंगस्टर जयपाल भुल्लर अच्छे परिवार से संबंध रखता था, उसके पिता पुलिस में इंस्पेक्टर थे. वह हैमर थ्रो का अच्छा खिलाड़ी था लेकिन राह भटक कर गलत संगत में चला गया और एक खतरनाक गैंगस्टर (Dangerous gangster) बन गया.

    2003 में पकड़ ली थी जुर्म की दुनिया की राह
    बताया जाता है कि 2003 में वह हैमर थ्रो का अभ्यास करता था ताकि एक अच्छा खिलाड़ी बन सके.इस दौरान उसकी दोस्ती गैंगस्टर शेरा से हुई और वह जुर्म की दुनिया में धंसता चला गया. जब जयपाल के इंस्पेक्टर पिता को इसकी भनक लगी तो वह उसे अपने साथ लुधियाना ले आए. इसी दौरान उन्हें ट्रेनिंग के लिए जाना पड़ा और जयपाल इस दौरान आजाद हो चुका था. इसी दौरान वह कई झगड़ो और हत्या के केस में सलिंप्त हो गया. वह चंडीगढ़, लुधियाना और बठिंडा की जेल में भी रहा. प्राप्त जानकारी के अनुसार जयपाल साल 2014 से फरार था और इन सभी सालों के दौरान उसने कई घृणित अपराध किए और वह 25 से अधिक सनसनीखेज आपराधिक मामलों में वांछित था. वह इस समय पाकिस्तान आधारित बड़े नशा तस्करों के साथ मिलकर सरहद पार से नशे की तस्करी में शामिल था.

    2012 के बाद कई वारदातों को दिया था अंजाम
    2012 में उसके गैंगस्टर दोस्त शेरा खूबन को पुलिस ने बठिंडा में मार गिराया. जब शेरा खूबन 2012 में एक पुलिस मुठभेड़ में मारा गया, तो जयपाल को शक था कि रॉकी ने शेर खूबन के बारे में पुलिस को जानकारी दी थी. इसलिए 2016 में जयपाल ने हिमाचल में सोलन के नजदीक जसविंदर सिंह उर्फ रॉकी का कत्ल कर दिया. जयपाल ने फेसबुक पर रॉकी के कत्ल की जिम्मेदारी ली और इसको शेरा खूबन मुठभेड़ का बदला करार दिया.

    2017 में जयपाल ने चितकारा यूनिवर्सिटी के नजदीक चंडीगढ़-पटियाला हाईवे और एक नकदी ले जा रही वैन में से 1.3 करोड़ रुपए और रोपड़ में ए.टी.एम. लोडिंग वैन में से 35 लाख रुपए लूटे. 2020 में जयपाल ने एक डकैती को अंजाम दिया, जिसमें उसने लुधियाना में करीब 33 किलो सोना लूटा. बीते 15 मई को जयपाल और उसके साथियों ने जगराओं में पंजाब पुलिस के दो ए.एस.आईज़ को गोली मार दी थी. जिसके बाद कोलकाता में पंजाब पुलिस ने उसे ज्वाइंट ऑपरेशन में मार गिराया.
    Published by:Rahul Sankrityayan
    First published: