युवतियों ने लिखा राष्ट्रपति को खून से खत, कहा- न्याय दिलाएं या दें इच्छा मृत्यु की इजाजत

पुलिस ने बताया कि दोनों युवतियों के खिलाफ मोगा पुलिस ने धोखाधड़ी ओर कबूतरबाजी का मामला दर्ज कर रखा है.

News18Hindi
Updated: July 7, 2019, 8:41 AM IST
युवतियों ने लिखा राष्ट्रपति को खून से खत, कहा- न्याय दिलाएं या दें इच्छा मृत्यु की इजाजत
युवतियों ने कहा कि पुलिस दूसरे पक्ष के साथ मिली हुई है और उनको फंसाया जा रहा है.
News18Hindi
Updated: July 7, 2019, 8:41 AM IST
पंजाब के मोगा में रहने वाली दो युवतियों ने उन पर हो रहे कथित अत्याचारों को रुकवाने और न्याय दिलाने को लेकर खून से पत्र लिखकर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को भेजा है. साथ ही उन्होंने कहा है कि उन्हें न्याय नहीं मिला तो उनके पूरे परिवार को इच्छा मृत्यु की इजाजत दी जाए. उन्होंने कहा कि पुलिस उनका झूठे मामले में फंसा रही है और उन पर अत्याचार किए जा रहे हैं.

युवतियों पर दर्ज है मामला
वहीं पुलिस ने बताया कि दोनों युवतियों के खिलाफ मोगा पुलिस ने धोखाधड़ी ओर कबूतरबाजी का मामला दर्ज कर रखा है. पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी कुलजिंदर सिंह ने बताया कि युवतियों ने इन आरोपों से इनकार किया था हालांकि दूसरे पक्ष ने उन पर मामला दर्ज करवाया है. वे रुपयों का लेनदेन करती हैं. उन्होंने बताया कि उन्हें जानकारी है कि उन्होंने राष्ट्रपति को पत्र भेजा है लेकिन आधिकारिक कोई सूचना अभी नहीं मिली है. मामले में जांच की जा रही है.

पुलिस ने फंसाया है

युवतियों ने कहा कि पुलिस दूसरे पक्ष के साथ मिली हुई है और उनको फंसाया जा रहा है. पुलिस हमारी बात नहीं सुन रही है. अधिकारियों से मिलकर जांच की मांग भी की थी लेकिन कुछ नहीं हुआ. हमारा परिवार डरा हुआ है और इसी के चलते या तो न्याय मिले नहीं तो हमें इच्छा मृत्यु की इजाजत दी जाए.

ये भी पढ़ें- 'किडनैपिंग की घटनाओं के लिए लड़कियों की आज़ादी जिम्मेदार'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चंडीगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 7, 2019, 8:35 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...