होम /न्यूज /पंजाब /

कुमार विश्वास के 'खालिस्तान' के आरोप पर आप ने पूछा- इतने समय तक क्यों साधी चुप्पी?

कुमार विश्वास के 'खालिस्तान' के आरोप पर आप ने पूछा- इतने समय तक क्यों साधी चुप्पी?

अन्ना आंदोलन के समय कुमार विश्वास, अरविंद केजरीवाल के अभिन्न साथी थे.

अन्ना आंदोलन के समय कुमार विश्वास, अरविंद केजरीवाल के अभिन्न साथी थे.

Kumar Vishwas 'Khalistan' allegation: भारतीय जनता पार्टी ने बुधवार को एक वीडियो साझा किया था जिसमें आम आदमी पार्टी (आप) के संस्थापक सदस्यों में से एक कुमार विश्वास ने आरोप लगाया था कि दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल "या तो पंजाब के सीएम या खालिस्तान के पीएम" बनना चाहते थे."

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Aap Chief Arvind Kejriwal) को लेकर पार्टी के पूर्व नेता कुमार विश्वास (Kumar Vishwas) के बयान पर आप ने निशाना साधा है. कुमार विश्वास के केजरीवाल पर अलगाववादियों का समर्थक होने के आरोपों पर आप नेता राघव चड्ढा ने गुरुवार को पूछा कि वह सालों तक पार्टी से क्यों जुड़े रहे जबकि उन्हें पता था कि अरविंद केजरीवाल स्वतंत्र देश के पहले प्रधानमंत्री बनना चाहते हैं?

भारतीय जनता पार्टी ने बुधवार को एक वीडियो साझा किया था जिसमें आम आदमी पार्टी (आप) के संस्थापक सदस्यों में से एक कुमार विश्वास ने आरोप लगाया था कि दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल “या तो पंजाब के सीएम या खालिस्तान के पीएम” बनना चाहते थे.” वीडियो में, भाजपा ने कहा कि कुमार विश्वास को अरविंद केजरीवाल के साथ अपनी बातचीत को याद करते हुए सुना जा सकता है. हालांकि इस दौरान विश्वास ने केजरीवाल का नाम नहीं लिया था.

ये भी पढ़ें- कश्मीर के इस गांव में लगभग हर घर में हैं गूंगे-बहरे, सेना ने गोद लेकर शुरू की सेवा

चड्ढा ने पूछा- आप पंजाब चुनाव से दो दिन पहले क्यों बाहर आए
चड्ढा ने गुरुवार को कहा, “कुमार विश्वास ने सुरक्षा एजेंसियों को केजरीवाल के कथित गलत इरादों के बारे में इतने सालों तक क्यों नहीं बताया?” चड्ढा ने पूछा, “आप 2018 तक पार्टी में थे तो आप पंजाब चुनाव से 1-2 दिन पहले क्यों बाहर आए? जब आपको राज्यसभा में अपनी मनचाही सीट नहीं मिली, तो आपने यह प्रचार शुरू कर दिया.”

चड्ढा ने गुरुवार को कहा, “कुमार विश्वास ने सुरक्षा एजेंसियों को केजरीवाल के कथित गलत इरादों के बारे में इतने वर्षों तक सूचित क्यों नहीं किया? पंजाब चुनाव से 1-2 दिन पहले क्यों आए बाहर? आप 2018 तक पार्टी में थे. जब आपको राज्यसभा में अपनी मनचाही सीट नहीं मिली, तो आपने यह प्रचार शुरू कर दिया.”

चड्ढा ने कहा, “यह एक राजनीतिक साजिश है. कुमार विश्वास ने अरविंद केजरीवाल का फेक वीडियो डाला. उसके ठीक बाद, कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई और केजरीवाल पर एक ही शब्दों में आतंकवादी होने का आरोप लगाया. टीवी चैनलों को फर्जी वीडियो चलाने और प्राइम टाइम पर बहस करने के लिए कहा गया.

Tags: Aam aadmi party, Arvind kejriwal, Kumar vishwas, Punjab elections, Raghav Chadha

अगली ख़बर