पाकिस्तान के पीएम इमरान खान की हरकतों पर मौन क्‍यों हैं सिद्धू?

भारत में पहले जो लोग भी इमरान खान (Imran Khan) की नीतियों के हिमायती रहे हैं, उन लोगों की जुबान भी जम्मू-कश्मीर पर अख्तियार किए गए उनके रुख पर खामोश है? पंजाब कांग्रेस के नेता और पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) भी उनमें से एक हैं.

Ravishankar Singh | News18Hindi
Updated: August 11, 2019, 10:01 PM IST
पाकिस्तान के पीएम इमरान खान की हरकतों पर मौन क्‍यों हैं सिद्धू?
नवजोत सिंह सिद्धू जम्मू-कश्मीर में हुए घटनाक्रम पर चुप हैं.
Ravishankar Singh
Ravishankar Singh | News18Hindi
Updated: August 11, 2019, 10:01 PM IST
पाकिस्तान (Pakistan) के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) भारत (India) के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय मंचों (International Forum) पर दुष्प्रचार करने से बाज नहीं आ रहे हैं. इमरान खान लगातार भारत के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय मंचों पर जहर उगल रहे हैं, लेकिन ताज्जुब की बात यह है कि भारत में पहले जो लोग भी इमरान खान (Imran Khan) की नीतियों के हिमायती रहे हैं, उन लोगों की जुबान भी जम्मू-कश्मीर पर अख्तियार किए गए उनके रुख पर खामोश है? पंजाब कांग्रेस के नेता और पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) भी उनमें से एक हैं.

भारत सरकार ने जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) में अनुच्छेद 370 ( Article 370) और अनुच्छेद 35ए ( Article 35A) को जब से खत्म किया है, नवजोत सिंह सिद्धू की तरफ से कोई प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है. सिद्धू ने न तो पक्ष में और न ही विपक्ष में जम्मू-कश्मीर को लेकर कोई बयान दिया है. ऐसा भी नहीं है कि सिद्धू ने बोलना बंद कर दिया है. आखिर वह कौन सी वजह है जिसकी वजह से सिद्धू बयान देने से बच रहे हैं?

सिद्धू पाकिस्तानी पीएम इमरान खान की हरकतों पर कुछ नहीं बोल रहे हैं


बता दें कि रविवार को एक बार फिर से पाकिस्तानी पीएम ने कश्मीर को लेकर ट्वीट किया है. पाक के पीएम इमरान खान ने ट्वीट कर विश्व के दूसरे देशों से कश्मीर के मसले पर दखल देने की अपील की है. इमरान खान ने ट्वीट कर कहा, 'आरएसएस की निजी विचारधारा के कारण कश्मीर में कर्फ्यू की स्थिति है. कश्मीर के लोगों का उत्पीड़न किया जा रहा है और कश्मीरियों की नरसंहार की स्थिति बन गई है.'

इमरान पर चुप्पी के राज क्या हैं
ऐसे में सवाल ये है कि सिद्धू क्यों नहीं इमरान खान की पूरजोर तरीके से मुखालफत कर रहे हैं? पुलवामा में पिछले साल हए आतंकी हमले के बाद जब भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव की स्थिति बनी हुई थी. भारत और पाकिस्तान के बीच हवाई संघर्ष के बाद पाकिस्तान ने भारतीय वायुसेना के पायलट विंग कमांडर अभिनंदन को पकड़ लिया था. अंतरराष्ट्रीय दबाव के बाद जब इमरान खान ने पाकिस्तानी संसद में अभिनंदन की रिहाई का ऐलान किया था तो सिद्धू ने इमरान खान की दिल खोल कर तारीफ की थी.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, फाइल फोटो

Loading...

इमरान खान के उस फैसले के बाद नवजोत सिंह सिद्धू ने इमरान खान की तारीफों के पुल बांध दिए थे, जिस पर काफी बवाल मचा था. सिद्धू ने इमरान खान की तारीफ में ट्वीट करते हुए लिखा था, 'हर अच्छा काम अपने आप रास्ता बना लेता है. आपका यह नेक काम एक अरब लोगों को खुशी देगा. पूरा देश खुश है. मुझे अभिनंदन के माता-पिता और करीबियों के लिए बेहद खुशी है.'



इस ट्वीट से पहले सिद्धू ने पुलवामा हमले को लेकर एक ट्वीट किया था. सिद्धू ने अपने ट्वीट में कहा था, 'कुछ लोगों के लिए क्या आप पूरे देश को जिम्मेदार ठहरा सकते हैं? क्या आप किसी व्यक्ति को जिम्मेदार ठहरा सकते हो?'

पुलवामा आतंकी हमले के बाद की तस्‍वीर, फाइल फोटो


इस ट्वीट में सिद्धू पाकिस्तान के पीएम इमरान खान का बचाव करते नजर आए थे, जिसकी देश में काफी आलोचना हुई थी. सिद्धू करतारपुर कोरिडोर पर पाक पीएम के रुख से काफी खुश नजर आ रहे थे. सिद्धू को लगता था कि करतारपुर कोरिडोर शुरू होने में उनका और इमरान खान के संबंध का बड़ा हाथ है. सिद्धू को लगता था कि उनके पर्सनल संबंध का ही नतीजा है कि इमरान खान ने इसमें रुचि दिखाई. कांग्रेस के अंदर भी कुछ लोगों को सिद्धू के नजरिए पर एतराज था. इसके बावजूद वह पार्टी आलाकमान के प्रिय बने रहे.

कुलमिलाकर सिद्धू जो अक्सर पाकिस्तान मसले पर बोलते रहे हैं, अब बोलने से कतरा रहे हैं. पिछले साल सिद्धू उस समय विवादों में आ गए थे जब वह पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह के दौरान पाक आर्मी चीफ कमर जावेद बाजवा के साथ गले मिले थे.

ये भी पढ़ें: 

इमरान खान को नहीं मिला किसी का साथ, तो ट्विटर पर गिड़गिड़ाने लगे

 सरकार ने ऐसे कसी आर्टिकल 370 पर लगाम, इन प्रावधानों में किया संशोधन

जम्मू-कश्मीर: घाटी के हालात देख नाराज़ हुए पूर्व सदरे रियासत कर्ण सिंह, कह दी ये बड़ी बात...

अगर हटा आर्टिकल 35A तो जम्मू-कश्मीर में क्या बदल जाएगा?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Punjab से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 11, 2019, 6:54 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...