• Home
  • »
  • News
  • »
  • punjab
  • »
  • BJP के 'कैप्टन' बनेंगे अमरिंदर या अपनी पार्टी बनाकर कांग्रेस का करेंगे नुकसान!

BJP के 'कैप्टन' बनेंगे अमरिंदर या अपनी पार्टी बनाकर कांग्रेस का करेंगे नुकसान!

अमरिंदर सिंह लंबे समय से पार्टी अलाकमान से नाराज चल रहे थे.  (File pic)

अमरिंदर सिंह लंबे समय से पार्टी अलाकमान से नाराज चल रहे थे. (File pic)

पंजाब के पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) ने कहा है कि वह अपनी लड़ाई जारी रखेंगे. उनके इस बयान ने कांग्रेस (Congress) के साथ-साथ पंजाब के राजनीतिक गलियारों में खलबली मचा दी.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    चंडीगढ़/नई दिल्ली. पंजाब (Punjab) के पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) ने कहा है कि वह अपनी लड़ाई जारी रखेंगे. उनके इस बयान ने कांग्रेस (Congress) के साथ-साथ पंजाब के राजनीतिक गलियारों में खलबली मचा दी. अमरिंदर ने शनिवार को ‘अपमान’ का आरोप लगाते हुए अपने पद से इस्तीफा दे दिया था. इस्तीफा देने के तुरंत बाद सिंह ने पंजाब कांग्रेस प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) पर पाकिस्तान के साथ संबंध रखने का आरोप लगाया और यहां तक कि उन्हें ‘राष्ट्र-विरोधी’ भी कहा. उन्होंने यह भी चेतावनी दी कि उनका पंजाब का मुख्यमंत्री बनना भारत की राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा होगा.

    उधर, पंजाब के होशियारपुर से बीजेपी के लोकसभा सांसद और मोदी सरकार में वाणिज्य और उद्योग राज्य मंत्री सोम प्रकाश ने IANS से बात करते हुए कहा, ‘कांग्रेस ने मुख्यमंत्री को हटाकर स्वीकार किया है कि पंजाब में उसकी सरकार सभी मोर्चों पर विफल रही है.’ उन्होंने कांग्रेस सरकार पर राज्य में माफिया, भ्रष्टाचार और अवैध खनन को बढ़ावा देने का भी आरोप लगाया. लेकिन साथ ही सोम प्रकाश ने यह भी कहा, ‘अमरिंदर सिंह ने नवजोत सिंह सिद्धू के बारे में जो कह रहे हैं वह सच है और यह सभी जानते हैं.’

    इस सवाल पर कि क्या कैप्टन भाजपा में शामिल होंगे, केंद्रीय मंत्री सोम प्रकाश ने कहा, ‘राजनीति में क्या होगा, कोई नहीं जानता.’ हालांकि, उन्होंने कहा कि इस पर पार्टी आलाकमान को फैसला करना है.

    गांधी परिवार से मोहभंग हुआ या नहीं!- बीजेपी प्रवक्ता
    भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता सरदार आरपी सिंह ने कहा, ‘यह कैप्टन साहब को तय करना है कि उनका परिवार (गांधी परिवार) से मोहभंग हो गया है या नहीं और आगे क्या योजना है.’ उन्होंने यह भी कहा कि अगर अमरिंदर सिंह शामिल होने की इच्छा जाहिर करेंगे तब पार्टी उचित समय पर निर्णय लेगी. अभी कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी.’

    बता दें पंजाब में अकाली दल के गठबंधन छोड़ने के बाद बीजेपी पहली बार अपने दम पर विधानसभा चुनाव लड़ने जा रही है. बीजेपी के पास फिलहाल राज्य में मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार के तौर पर कोई मजबूत चेहरा नहीं है. राजनीतिक जानकारों का यह भी मानना है कि अमरिंदर सिंह जैसे नेता के साथ जुड़ने से भाजपा को ठीक उसी तरह फायदा हो सकता है, जैसा उसे असम में लाभ हुआ.

    अमरिंदर के लिए क्या होगा ज्यादा फायदेमंद?
    उधर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व सीएम ने स्पष्ट किया कि वह उचित समय पर राजनीतिक विकल्पों पर बात करेंगे. 79 वर्षीय ने नेता ने कहा कि वह अपने समर्थकों के परामर्श से अपने भविष्य का फैसला करेंगे. उन्होंने अपना इस्तीफा सौंपने के बाद कहा, ‘हमेशा एक विकल्प होता है और समय आने पर मैं उस विकल्प का उपयोग करूंगा … इस समय मैं अभी भी कांग्रेस में हूं.’

    अंग्रेजी अखबार द हिंदू के अनुसार पंजाब विश्वविद्यालय के राजनीति विज्ञान विभाग के प्रोफेसर आशुतोष कुमार ने बताया, ‘सिंह अपनी सैन्य पृष्ठभूमि, राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दों का हवाला देते हुए नवजोत सिंह सिद्धू को उनके पाकिस्तान कनेक्शन पर निशाना बना रहे हैं – यह सब भाजपा लाइन के साथ अच्छी तरह से मेल खाता है.’ कुमार ने कहा- ‘कैप्टन के सामने एक ही रास्ता बच रहा है कि वह किसी अन्य पार्टी में शामिल हो जाएं. नई पार्टी बनाना आसान नहीं है. उनका सबसे अच्छा दांव भारतीय जनता पार्टी हो सकती है. कैप्टन अमरिंदर की छवि उदारवादी है और पंजाब में हिंदुओं के बीच स्वीकार्य नेता हैं.’

    जानकारों का मानना है कि नई पार्टी बनाना आसान नहीं है. अगर वह एक नई पार्टी बनाते हैं तो इससे उन्हें मदद नहीं मिलेगी लेकिन इससे कांग्रेस की चुनावी संभावनाओं को नुकसान होगा. कैप्टन अमरिंदर सिंह पहले भी कांग्रेस नेतृत्व या आलाकमान को साल 2017 में धमकी दे चुके हैं कि अगर उन्हें मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित नहीं किया गया तो वो पार्टी तोड़ देंगे.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज