• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • राजस्थान में पिछले एक माह में हत्या और लिचिंग की 12 वारदात, BJP ने गहलोत सरकार को घेरा

राजस्थान में पिछले एक माह में हत्या और लिचिंग की 12 वारदात, BJP ने गहलोत सरकार को घेरा

कांग्रेस लखीमपुर खीरी पर कर रही है सियासत

कांग्रेस लखीमपुर खीरी पर कर रही है सियासत

Rajasthan News: राजस्थान में अलवर में ही एक महीने पहले एक दलित युवक को बाइक से टक्कर मारने के आरोप में समुदाय विशेष के लोग ने पीट पीट मार डाला था. राजस्थान के अलवर व भरतपुर जिले यानी मेवात में पिछले कुछ महीने से पीट-पीटकर हत्या के कई मामले सामने आ चुके है.

  • Share this:

    जयपुर. राजस्थान में दलितोें पर अत्चायार (Dalit atrocities) की घटनाएं अचानक बढ़ गई हैं. हनुमानगढ़ (Hanmangarh) के बाद जालोर (jalaur) में भी एक दलित युवक को दंबगों ने पीटा है. पिछले एक महीने में हत्या और लिचिंग की 12 वारदात हुईं. बीजेपी (BJP) का आरोप है कि एक साल में 21.8 फीसदी दलित उत्पीड़न बढा. हालांकि सरकार सफाई दे रही है कि वारदातों के बाद सरकार (Government) ने सभी मामलों में तत्काल कार्रवाई की.
    जालौर में एक दलित युवक मंदिर से दर्शन कर लौट रहा था. दबगों ने पकड़कर जमकर पीटा. इससे वह बुरी तरह जख्मी हो गया. जमकर अपमानजक गालियां दी. घटना एक अक्टूबर की है, लेकिन वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने पांच लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है.

    इस घटना से चार दिन पहले हनुमानगढ़ में एक दलित युवक को अवैध संबंध के शक में दबंगों ने पीट पीट कर मार डाला औऱ शव घर के आगे फेंक दिया. उस घटना में भी पिटाई का वीडियो वायरल होने के बाद ही पुलिस हरकत में आई. पीड़ित परिवार तीन दिन तक पुलिस थाने के आगे शव लेकर धरना देकर बैठा रहा है. लेकिन कार्रवाई तब तक नही कि जब तक कि वीडियो वायरल होने के बाद मीडिया ने मामला नहीं उठाया. हाालंकि पुलिस ने 11 में से अब तक चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.

    कांग्रेस लखीमपुर खीरी पर कर रही है सियासत
    बीजेपी प्रवक्ता रामलाल शर्मा ने कहा कि प्रदेश में दलितों के खिलाफ अपराध बढ़ रहे हैं. रीट परीक्षा में एक के बाद एक धांधलियां सामने आने से बेरोजगार युवाओं की मुश्किलें बढ़ रही हैं. ऐसे में राजस्थान में जरूरी मामलों में कार्यवाही करने के बजाए कांग्रेस सरकार का सारा ध्यान लखीमपुर खीरी में सियासत करने में लगा हुआ है. बीजेपी का आऱोप है कि दलितोें की हत्या, लिंचिग और मारपीट के 12 से ज्यादा मामले एक महीने में आए. लेकिन राजस्थान सरकार पीड़ित दलितों को इंसाफ के बजाय लखीमपुर पर सियायत कर रही है.

    दलित उत्पीड़न के मामलों में तत्काल कार्रवाई की
    उधर लखीमपुर पर आज भी जयपुर में मौन धरना वाली कांग्रेस पार्टी ने दलितों पर अत्चायार के मामले में सफाई दी है. परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि हनुमानगढ या जालौर की तुलना लखीमपुर से नहीं की जा सकती है. यह मामले बिल्कुल अलग-अलग हैं. खाचरियावास ने कहा कि जहां तक राजस्थान का मामला है दलित उत्पीड़न के सभी मामलों में सरकार ने तत्काल कार्रवाई की है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज