बाड़मेर के सांभरा में रिफाइनरी अस्पताल को 15 एकड़ भूमि नि:शुल्क आवंटित, बनेगा भव्य अस्पताल

राजस्थान के बाडमेर में कोविड अस्पताल बनाने का काम चलता हुआ.

राजस्थान के बाडमेर में कोविड अस्पताल बनाने का काम चलता हुआ.

बाड़मेर के बायतु विधायक और राजस्थान (Rajasthan) के राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने 24 घंटे में कोविड अस्पताल (Hospital) तैयार कर दिया है. इस अस्पताल को राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gaghlot) ने भव्य स्थाई अस्पताल के निर्माण के रूप में मंजूरी दे दी है.

  • Share this:

बाड़मेर. कोविड 19 (Covid-19) के दौर में लोग तरह-तरह की परेशानियों से जूझ रहे हैं. इन हालातों में जनसेवा के लिए बढ़ता हर कदम जनता के लिए किसी राहत से कम नहीं है. आज हम बात कर रहे हैं सरहदी बाड़मेर के बायतु विधायक और राजस्थान (Rajasthan) के राजस्व मंत्री हरीश चौधरी की, जिन्होंने 24 घंटे में कोविड अस्पताल (Hospital) तैयार कर दिया है. अब इस अस्पताल को राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भव्य स्थाई अस्पताल के निर्माण के रूप में मंजूरी दे दी है.

राजस्थान के राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने 24 घंटे में जिस जगह पर अस्थाई कोविड अस्पताल का निर्माण करवाया. 24 घंटे बिना सोए, बिना किसी सरकारी मदद और बिना किसी वित्तीय स्वीकृति के राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने जहां अस्थाई अस्पताल बनाया है. उस जगह पर भव्य अस्पताल के निर्माण को राज्य सरकार ने अब मंजूरी दे दी है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने केन्द्र एवं राज्य सरकार के संयुक्त उपक्रम एचपीसीएल राजस्थान रिफाइनरी लिमिटेड को अस्पताल के निर्माण के लिए पचपदरा तहसील के ग्राम सांभरा में 15 एकड़ भूमि निशुल्क आवंटित किए जाने के प्रस्ताव को मंजूरी दी है.

मुख्यमंत्री गहलोत की इस मंजूरी से रिफाइनरी क्षेत्र में कार्य करने वाले कार्मिकों एवं क्षेत्रीय लोगों को बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध हो सकेगी. राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने बताया कि इस जगह पर अस्पताल के निर्माण में वह अपने विधायक कोष से धनराशि उपलब्ध करवाएंगे. राज्य के राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने मुख्यमंत्री के इस कदम को सही में सार्थक बताया है.

राजस्थान में कोरोना के यूके वैरियंट से मचा हड़कंप, प्रदेश में वायरस की जीनोम सिक्वेंसिंग जांच की सुविधा जल्द होगी शुरू
राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने NEWS18 से खास बातचीत में कहा कि महज 24 घंटे में उनकी टीम और भामाशाहो ने एयरकंडीशनर युक्त 25 बेड तैयार कर अस्पताल शुरू कर दिया है. ऐसे में यहां के लोगों की लग्न से ही काम संभव हो पाया है. ऐसे में यहां स्थाई अस्पताल के निर्माण के लिए फाइल प्रदेश के मुखिया अशोक गहलोत के पास पहुंची जिस पर तुरन्त ही प्रस्ताव को मंजूरी देकर 15 एकड़ पर अस्पताल निर्माण की मंजूरी मिल गई है.

ऐसे में अब तत्काल ही फाइल राजस्व विभाग से बाड़मेर प्रशासन को भेजी जाएगी, जिसके बाद जमीन आवंटन होते ही अस्पताल का निर्माण शुरू हो जाएगा.बहरहाल सांभरा के रण में 24 घण्टे में तैयार हुए अस्थाई अस्पताल की जगह कुछ ही महीनों बाद यहां जननायक हरीश चौधरी के मेहनत की मीनार खड़ी हो जाएगी. गौरतलब है कि बाड़मेर सहित प्रदेश भर में 24 घंटे में तैयार हुआ कोविड अस्पताल चर्चा का विषय बन गया है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज