पाकिस्तानी टिड्डियों के हमले से राजस्थान में 55 हजार किसानों की फसल बर्बाद, इतना मिला मुआवजा
Jaipur News in Hindi

पाकिस्तानी टिड्डियों के हमले से राजस्थान में 55 हजार किसानों की फसल बर्बाद, इतना मिला मुआवजा
पिछले दिनों पाकिस्तानी टिड्डी दल ने राजस्थान में बर्बाद कर दी थी फसल

गुजरात में प्रभावित किसानों को 18,500 रुपये हैक्‍टेयर की दर से दिया जा रहा है मुआवजा, पाकिस्तान ने टिड्डियों को नहीं किया काबू तो बढ़ेगी किसानों की समस्या

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 24, 2020, 12:49 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पाकिस्तानी टिड्डियों के हमले से राजस्थान में इस साल करीब 1.5 लाख हैक्‍टेयर फसल बर्बाद हो गई है. इससे कम से कम 55 हजार किसान प्रभावित हुए हैं, जन्हें अब राज्य सरकार ने 86.21 करोड़ रुपये का मुआवजा दिया है. इसके लिए कुल 90.20 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं. कृषि विशेषज्ञों के मुताबिक, एक टिड्डी अपने वजन के बराबर वनस्पति हर रोज चट कर जाती है. टिड्डियों का छोटा दल भी एक दिन में 35,000 लोगों के बराबर खाना खा जाता है.

पाकिस्तान अपने यहां पैदा होने वाली टिड्डियों पर काबू नहीं पा सका है, जिसकी वजह से भारत के किसानों को बड़ी समस्या से जूझना पड़ रहा है. गुजरात के भुज, बनासकांठा, साबरकांठा, मेहसाणा, कच्छ और राजस्थान के जैसलमेर, बाडमेर, जालौर, बीकानेर, जोधपुर इससे किसान तबाह हो चुका है.

गुजरात में कितना नुकसान



केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्‍याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने बताया कि 2019-20 के दौरान टिड्डियों के हमले से गुजरात में फसल को नुकसान पहुंचा है. यहां लगभग 18,727 हैक्‍टेयर फसल खराब हुई है. जिसमें से 13,881 हैक्‍टेयर क्षेत्र में फसल 33 प्रतिशत और उससे अधिक खराब हो चुकी है.



 pakistani locusts attack, big threat for indian farmers, rajasthan, gujarat, kisan, ministry of agriculture, farmers, Relief package for locusts affected area,  पाकिस्तानी टिड्डियों का हमला, भारतीय किसानों के लिए बड़ा खतरा, राजस्थान, गुजरात, किसान, कृषि मंत्रालय, टिड्डियों से प्रभावित क्षेत्र में राहत पैकेज
पाली में टिड्डी दल करीब 10 किमी लंबाई और 4 किमी चौड़ाई के क्षेत्र में फैल गया था


राजस्थान में कितना नुकसान

राजस्‍थान सरकार ने केंद्र को बताया है कि 2019-20 के दौरान टिड्डियों के आक्रमण से 1,49,821 हैक्‍टेयर क्षेत्र प्रभावित है. जिसमें से 1,34,959 हैक्‍टेयर क्षेत्र में फसलों को 33 प्रतिशत और उससे अधिक का नुकसान हुआ है. पंजाब और हरियाणा में भी टिड्डियों को देखा गया था, लेकिन इससे फसल को खास नुकसान की सूचना नहीं है.

किसानों को कैसे मिल रहा मुआवजा

>>गुजरात के जिन स्‍थानों पर फसलों को 33 प्रतिशत और उससे अधिक का नुकसान हुआ है वहां राहत दी जा रही है. प्रभावित किसानों को आपदा कोष से अधिकतम 2 हैक्‍टेयर तक, 13,500 रुपये प्रति हैक्‍टेयर की दर से तथा राज्‍य बजट से 5000 रुपये प्रति हैक्‍टेयर की दर से सहायता प्रदान की जा रही है.  11,230 किसानों के लिए 32.76 करोड़ का राहत पैकेज है.

pakistani locusts attack, big threat for indian farmers, rajasthan, gujarat, kisan, ministry of agriculture, farmers, Relief package for locusts affected area,  पाकिस्तानी टिड्डियों का हमला, भारतीय किसानों के लिए बड़ा खतरा, राजस्थान, गुजरात, किसान, कृषि मंत्रालय, टिड्डियों से प्रभावित क्षेत्र में राहत पैकेज
गुजरात में करीब 19 हजार हैक्‍टेयर फसल खराब


>>राजस्‍थान में फसलों की गिरदावरी (राजस्‍व विभाग द्वारा मूल्‍यांकन) की गई है. किसानों को भुगतान करने के लिए राज्‍य आपदा कोष से 90.20 करोड़ रुपये का बजट है. जिसमें से 54,150 किसानों को 86.21 करोड़ का भुगतान हो चुका है. केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी का कहना है कि टिड्डियों की समस्या पर अब काबू पा लिया गया है.

ये भी पढ़ें:

देखते ही देखते भारत के किसानों को बर्बाद कर देता है ये पाकिस्तानी दुश्मन!

PM-Kisan स्कीम के एक साल: 51000 करोड़ लाभार्थियों को मिले, 36 हजार करोड़ लटके, ऐसे लें फायदा
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading