• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • महिला को लिफ्ट लेना पड़ा भारी, आरोपी ने रेप करके मार डाला, फिर पहुंच गया आश्रम में

महिला को लिफ्ट लेना पड़ा भारी, आरोपी ने रेप करके मार डाला, फिर पहुंच गया आश्रम में

आरोपी राजूलाल मीणा उगावास ग्राम पंचायत सरपंच का देवर है और आपराधिक प्रवृत्ति का है...

आरोपी राजूलाल मीणा उगावास ग्राम पंचायत सरपंच का देवर है और आपराधिक प्रवृत्ति का है...

जयपुर के बस्सी इलाके में 57 साल की महिला के साथ दुष्कर्म और फिर हत्या मामले का खुलासा हो गया है. मृतका ने फैक्टरी से निकलने के बाद लिफ्ट ली थी. आरोपी उसे जंगल में ले गया और फिर रेप करके हत्या कर दी. आरोपी ने फरार होने के बाद दो बार सिम बदली और दौसा डूंगरपुर और अजमेर होते हुए भीलवाड़ा पहुंचा, जहां एक आश्रम से पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया.

  • Share this:

जयपुर. राजधानी जयपुर के बस्सी थाना इलाके में एक 57 साल की महिला से दुष्कर्म और हत्या के मामले का 15 दिनों बाद खुलासा हो गया. महिला रिको एरिया में प्लाईवुड फैक्टरी में काम करती थी. जांच में सामने आया है कि महिला ने फैक्टरी से निकलने के बाद घर जाने के लिए आरोपी से लिफ्ट ली थी. आरोपी ने जंगल में ले जाकर रेप किया और फिर हत्या कर दी. पूरे मामले का खुलासा करते हुए पुलिस ने बताया कि 26 सितंबर को जंगल में एक महिला की लाश मिली थी. मृतका के शरीर पर जगह जगह काटने और चोटों के निशान थे. मृतका महिला को साड़ी का फंदा लगा हुआ था. इसके अलावा करीब 35-40 फीट तक घसीटने के निशान भी मिले थे.

पुलिस ने बताया कि रिको एरिया में काम करने वाले मजदूर आमतौर पर अनजान लोगों से लिफ्ट लेकर घर जाते हैं. वारदात के दिन भी मृतका ने आरोपी राजुलाल से घर जाने के लिए लिफ्ट ली थी. इस दौरान आरोपी हाईवे से डायवर्जन लेते हुए महिला को जंगलों में ले गया. जहां उसके साथ दुष्कर्म किया और फिर हत्या कर दी. पुलिस ने बताया कि मौके पर संघर्ष के कई निशान भी मिले हैं.

आरोपी ने फरार होने के बाद दो बार सिम बदली
पुलिस ने बताया कि चूंकि सुनसान इलाके में वारदात हुई थी, इसलिए सीसीटीवी और अन्य कोई सबुत नहीं मिल पाया था. ऐसे में जांच के लिए पुलिस ने पांच टीमों का गठन किया और 200 से अधिक लोगों से पूछताछ की. आरोपी राजूलाल मीणा उगावास ग्राम पंचायत सरपंच का देवर है जिसके कारण से शक के दायरे में नहीं था लेकिन घटना के दूसरे दिन से ही वह फरार हो गया था. इस दौरान आरोपी ने दो बार सिम चेंज की और दौसा डूंगरपुर और अजमेर होते हुए भीलवाड़ा पहुंचा, जहां आरोपी को एक आश्रम से पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया.

पहले से एक मामले में सजायाफ्ता है आरोपी
पुलिस जांच में सामने आया है कि आरोपी विकृत मानसिकता का शख्स है. वारदात के दिन भी उसने शराब पी रखी थी. पहले से एक मामले में सजायाफ्ता है. जांच में सामने आया है कि साल 2016 में आरोपी जाली नोट छापने के मामले में तीन साल सजायाफ्ता है. फिलहाल जमानत पर बाहर था. मृतका और आरोपी पहले से एकदूसरे को नहीं जानते थे. बस का किराया बचाने के लिए महिला ने घर जाने के लिए आरोपी से लिफ्ट ली थी, लेकिन रास्ते में आरोपी की नीयत खराब हो गई और वारदात को अंजाम दे डाला.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज