Home /News /rajasthan /

राजस्थान: ये सीटें हमेशा भांप लेती हैं हवा का रुख, यहां जीते तो समझो बनी सरकार

राजस्थान: ये सीटें हमेशा भांप लेती हैं हवा का रुख, यहां जीते तो समझो बनी सरकार

सांकेतिक तस्वीर

सांकेतिक तस्वीर

हम आपको ऐसी सीटों के बारे में बताने जा रहे हैं, जहां जीतने वाली पार्टी ही राज्य में सरकार बनाती है.

    राजस्थान का अगला मुख्यमंत्री कौन होगा? क्या वसुंधरा राजे सिंधिया को एक और मौका मिलेगा या फिर इस बार कांग्रेस की सरकार बनेगी? इन कयासों से मंगलवार को पर्दा उठ जएागा, लेकिन हम आपको ऐसी सीटों के बारे में बताने जा रहे हैं, जहां जीतने वाली पार्टी ही राज्य में सरकार बनाती है.

    केकड़ी
    सिर्फ 1967 के चुनाव को छोड़कर केकड़ी में हर बार उसी पार्टी की जीत हुई है, जिसकी राज्य में सरकार बनी है. 1967 में स्वतंत्र पार्टी की जीत हुई थी, लेकिन राजस्थान में सरकार कांग्रेस की बनी थी, लेकिन इसके अलावा हर बार जिस पार्टी का उम्मीदवार यहां से जीता है सरकार उसी की बनी है.

    साल 1990 में केकड़ी से जनता दल के उम्मीदवार शंभु दयाल को जीत मिली थी, लेकिन सरकार बीजेपी की बनी थी. खास बात ये रही कि जनता दल के समर्थन से ही बीजेपी की सरकार बनी थी. 1993 में एक बार फिर से केकड़ी में शंभु दयाल की जीत हुई, लेकिन इस बार वो बीजेपी के उम्मीदवार थे. ये आखिरी बार था, जब केकड़ी में लगातार दो बार किसी एक पार्टी के उम्मीदवार को जीत मिली हो.

    कपासन
    साल 1977 तक राजस्थान में लगातार कांग्रेस को जीत मिली. इंदिरा विरोधी लहर में पहली बार कपासन में जनता पार्टी के उम्मीदवार मोहनलाल को जीत मिली थी. कपासन ने 1953 से 13 बार लगातार ऐसे विधायक को चुना जिसकी पार्टी ने ही राज्य में सरकार बनाई. साल 1993 के चुनाव में कपासन की जनता ने बीजेपी को जीत दिलाई और इसी साल भैरोसिंह शेखावत राज्य में एक बार फिर से मुख्यमंत्री बने. पिछले पांच विधनासभा चुनाव यानी 1998 से यहां बीजेपी को 3 बार जीत मिली है, जबकि कांग्रेस ने यहां इस दौरान 2 बार बाजी मारी है. इस दौरान राज्य में दोनों दलों का सरकार बनाने का अनुपात भी एक जैसा रहा है.

    कुंभलगढ़
    साल 1951 से लेकर अब तक कुम्भलगढ़ में 13 में से 10 बार ऐसी पार्टी की जीत हुई, जिसकी राज्य में सरकार भी बनी है. सिर्फ तीन बार ये ट्रेंड बदला है. 1951 में यहां बीजेएस को जीत मिली थी, लेकिन सरकार कांग्रेस की बनी थी. 1962 और 1990 में भी ऐसा ही हुआ. साल 1990 में कांग्रेस को जीत मिली थी लेकिन राजस्थान में सरकार बीजेपी की बनी थी.

    ये भी पढ़ें: कांग्रेस के लिए 'नाक' का सवाल होगा मिज़ोरम जीतना

    हीरा कारोबारी के मर्डर केस में घिरीं टीवी एक्ट्रेस 'गोपी बहू'

    Tags: Assembly Election 2018, BJP, Congress, Rajasthan Polls, Vasundhara raje

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर