3 साल बाद राजस्‍थान पुलिस की पकड़ में आया यह इनामी अपराधी, हत्‍या-डकैती के लिए था कुख्‍यात

राजस्‍थान पुलिस 2017 से इस डकैत की तलाश कर रही थी.
राजस्‍थान पुलिस 2017 से इस डकैत की तलाश कर रही थी.

3 साल पहले राजस्‍थान पुलिस (Rajasthan Police) के जवानों की आंख में मिर्च झोंककर यह डकैत फरार हो गया था.

  • Share this:
चूरू. हत्‍या, लूट, डकैती जैसे जघन्‍य वारदातों में वांछित राजस्‍थान (Rajasthan) के मोस्‍ट वान्टेड अपराधी गजेंद्र सिंह को चुरू पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. डीटीएस, दुधवाखारा और सालासर थाना पुलिस के संयुक्‍त ऑपरेशन में 15 हजार के ईनामी बदमाश गजेंद्र सिंह को मलसीसर गांव के पास से गिरफ्तार किया गया. गजेंद्र सिंह पर राजधानी जयपुर, बीकानेर, सीकर, चूरू सहित विभिन्न थानों में हत्या, लूट, डकैती जैसे 19 संगीन मामले दर्ज हैं.

पुलिस की आंख में मिर्च डाल कर फरार हो गया था गजेंद्र
तीन साल पहले सालासर थाने के अंतर्गत आने वाले बडाबर गांव में गजेंद्र सिंह ने शराब के ठेके के सेल्‍समैन की हत्‍या कर दी थी. 21 मार्च, 2016 को हुई इस हत्‍या के आरोप में पुलिस ने गजेंद्र सिंह को गिरफ्तार किया था. इस मामले की पेशी के लिए आरोपी गजेंद्र सिंह को बीकानेर जेल से सुजानगढ़ कोर्ट में पेश करने के लिए लाया जा रहा था. इस दौरान गजेन्द्र अपने साथियों की मदद से पुलिस की आंखों में मिर्च डालकर फरार हो गया था. तभी से पुलिस को इसकी तलाश थी.

अपनी बुआ से मिलने आया था कुख्‍यात अपराधी गजेंद्र सिंह
पुलिस के अनुसार, सूचना मिली थी कि हथियारों से लैस अपराधी अपनी गाड़ी से अपनी बुआ के पास मलसीसर जा रहा है. सूचना के आधार पर, डीटीएस, दुधवाखारा और सालासर थाना पुलिस ने इलाके की घेराबंदी की. दोपहर के करीब एक बजे पुलिस टीम ने एक डस्टर कार को रुकने का इशारा किया. पुलिस को देखकर अपराधी कार को बैक करने की कोशिश करने लगा. लेकिन खुद को दोनों तरह से घिरा देख कर वो पैदल ही खेतों की तरफ दौड़ पड़ा.



संयुक्‍त पुलिस टीम ने पीछा कर अपराधी को दबोचा
कुख्‍यात अपराधी गजेंद्र फरार हो पाता इससे पहले संयुक्‍त पुलिस टीम ने पीछा कर उसे दबोच लिया. पुलिस के अनुसार, गजेंद्र सिंह पर सालासर के अलावा जयपुर, लोसल, नेछवा, डीडवाना, सीकर, मोलासर, सुजानगढ़, बीकानेर, रतनगढ़ आदि पुलिस थानों में हत्या, लूटपाट व डकैती आदि के 19 मामले दर्ज है. जिनमें से 18 मामले कोर्ट में पेंडिंग चल रहे है.

 

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज