Home /News /rajasthan /

Rajasthan: बच्ची से रेप-हत्या के आरोपी को फांसी, 4 महीने में फैसला, 20 गवाह और 51 दस्तावेज हुए पेश

Rajasthan: बच्ची से रेप-हत्या के आरोपी को फांसी, 4 महीने में फैसला, 20 गवाह और 51 दस्तावेज हुए पेश

अजमेर की पोक्सो कोर्ट ने नाबालिग से दुष्कर्म और रेप के आरोपी को फांसी की सजा सुनाई.

अजमेर की पोक्सो कोर्ट ने नाबालिग से दुष्कर्म और रेप के आरोपी को फांसी की सजा सुनाई.

Ajmer Minor Rape Murder Case : अजमेर (Ajmer) की पोक्सो कोर्ट ने मंगलवार को नाबालिग से दुष्कर्म और रेप के आरोपी को फांसी की सजा सुनाई. कोर्ट ने रिकॉर्ड 4 महीने 4 दिन के अंदर यह फैसला सुनाया. इस दौरान 20 गवाह और 51 दस्तावेज पेश किए गए थे. पोक्सो कोर्ट के न्यायधीश रतनलाल मूंड ने अपने फैसले में टिप्पणी करते हुए कहा कि यह घटना पशुवध के समान है. ऐसे अपराधियों के साथ नरमी बरतना समाज की सुरक्षा के लिए खतरा है.

अधिक पढ़ें ...

अजमेर. राजस्थान (Rajasthan) के अजमेर (Ajmer) की पोक्सो कोर्ट ने मंगलवार को एक ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए नाबालिग के साथ दुष्कर्म (Rape) और फिर जघन्य हत्या (Murder) के सनसनीखेज मामले में आरोपी को फांसी की सजा सुनाई है. पोक्सो कोर्ट के न्यायधीश रतनलाल मूंड ने अपने फैसले में टिप्पणी करते हुए कहा कि यह घटना पशुवध के समान है. ऐसे अपराधियों के साथ नरमी बरतना समाज की सुरक्षा के लिए खतरा है. मामला अजमेर जिले के पुष्कर थाने का है. यहां की पहाड़ियों में बकरियां चराने गई 11 साल की मासूम के साथ  उसके ही समाज के परिचित आरोपी सुरेंद्र ने दुष्कर्म किया था.

फिर बाद में पहचान छुपाने की नीयत से पत्थरों से नाबालिग का सिर कुचलकर हत्या कर दी थी. वारदात के 12 घंटे के अंदर पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया था और महज 60 घंटे के अंदर चालान पेश कर न्यायिक कार्रवाई शुरू की थी. इस मामले में अभियोजन पक्ष की और से 20 गवाह और 51 दस्तावेज पेश किए गए, जिसके बाद रिकॉर्ड 4 महीने 4 दिन के अंदर पोक्सो कोर्ट ने यह ऐतिहासिक फैसला सुनाया.

लॉरेंस विश्नोई गैंग के गुर्गों ने आरोपी को दी थी जान से माने की धमकी

इस मामले में एक और दिलचस्प पहलू यह भी सामने आया कि जब आरोपी को गिरफ्तार कर पुलिस उसे कोर्ट में पेश करने की तैयारी में थी तब कुख्यात बदमाश लॉरेंस विश्नोई गैंग के गुर्गों ने आरोपी को जान से मारने की धमकी भी दी थी. इसके बाद आरोपी को ऑनलाइन कोर्ट के सामने पेश किया गया था. इस पूरे केस को सुलझाने और आरोपी को सजा दिलवाने में अजमेर के तत्कालीन एसपी जगदीशचंद्र शर्मा ने भी अहम भूमिका निभाई थी और घटना के बाद से दो दिन पुष्कर में कैम्प किया था.

ये भी पढ़ें: Rajasthan: 7 साल की बच्ची से रेप के आरोपी को फांसी की सजा, 30 दिन में फैसला, पढ़ें जज ने क्या कहा

rapist surendra sentence to death, ajmer rape case, ajmer rape case verdic, rajasthan minor rape murder case, rajasthan crime news, ajmer taja samachar, ajmer news in hindi, अजमेर नाबालिग से रेप हत्या, फांसी की सजा, rajasthan news

बकरियां चराने गई 11 साल की मासूम के साथ उसके ही समाज के परिचित आरोपी सुरेंद्र ने दुष्कर्म किया था.

नागौर में बच्ची से रेप के आरोपी को भी फांसी की सजा
इधर, राजस्थान के नागौर में सात साल की मासूम बच्ची से रेप और हत्या के मामले में कोर्ट ने आरोपी को फांसी की सजा सुनाई है. 30 दिन में पोक्सो कोर्ट ने यह फैसला सुना दिया है. पॉक्सो विशेष कोर्ट की जज रेखा राठौड़ ने दोषी दिनेश जाट को फांसी की सजा सुनाते हुए टिप्पणी की थी कि यह क्रूरतापूर्ण अपराध है और राक्षस की प्रवृत्ति को दर्शाता है. अगर उसे जिंदा रखा गया तो उसके भविष्य में अपराध करने की आशंका रहेगी और अन्य अपराधियों का मनोबल बढ़ेगा.

Tags: Ajmer news, Crime in Rajasthan, Girl Child Rape Murder, Girl rape, Rajasthan news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर