Side effect of lockdown: अजमेर में बड़ी संख्या में मुर्गियों की मौत ! प्रशासन ने किया इनकार
Ajmer News in Hindi

Side effect of lockdown: अजमेर में बड़ी संख्या में मुर्गियों की मौत ! प्रशासन ने किया इनकार
अजमेर जिले में चल रहे करीब 500 पोल्ट्री फार्म में 60 लाख मुर्गियां हैं.

कोरोना वायरस (COVID-19) के कारण लागू लॉकडाउन (Lockdown) के बीच अब राजस्थान के अजमेर से एक और चिंतित करने वाली खबर आ रही है. यहां बड़ी संख्या में मुर्गियों के मरने की सूचना है.

  • Share this:
अजमेर. कोरोना वायरस (COVID-19) के कारण लागू लॉकडाउन (Lockdown) के बीच अब राजस्थान के अजमेर से एक और चिंतित करने वाली खबर आ रही है. लॉकडाउन के चलते दोहरी मार झेल रहा पोल्ट्री व्यवसाय अपनी मुर्गियों को भी मरने से नहीं रोक पा रहा है. अजमेर में बड़ी संख्या में मुर्गियों के मरने की सूचना है, लेकिन जिला प्रशासन ने इससे इनकार किया है. पोल्ट्री फार्म संचालकों का आरोप है कि दाने के अभाव में मुर्गियां मर रही हैं.

अजमेर में 500 पोल्ट्री फार्म में 60 लाख मुर्गियां हैं
अजमेर जिले में चल रहे करीब 500 पोल्ट्री फार्म में 60 लाख मुर्गियां हैं. लेकिन लॉकडाउन के चलते पिछले 15 दिन से इन पोल्ट्री फार्म से ना तो अंडों का उठाव हो रहा है और ना ही मुर्गियों को मिलने वाला दाना पर्याप्त मात्रा में मिल पा रहा है. कई पोल्ट्री फार्म संचालकों की शिकायत है कि दाने के अभाव में मुर्गियां मर रही हैं. सोशल मीडिया पर ऐसे कई वीडियो वायरल हो रहे हैं जिनमें सैंकड़ो की संख्या में मुर्गियां मरी हुई एक खुले मैदान में नजर आ रही हैं. इतना ही नहीं आर्थिक तंगी के चलते कई पोल्ट्री फार्म संचालकों ने अपनी मुर्गियों को जिंदा खुले मैदान में छोड़ दिया है, जिससे एक नया खतरा पैदा होने की आशंका बढ़ गई है.

प्रशासन ने प्रेस रिलीज कर कहा दाने के परिवहन पर रोक नहीं



वहीं इस पूरे मामले को लेकर अजमेर जिला प्रशासन की ओर से प्रेस रिलीज जारी कर कहा गया है कि मुर्गियों के दाने से जुड़े वाहनों के परिवहन पर किसी तरह की रोक नही लगाई गई है. साथ ही यह भी कहा गया है कि जिले में भूख से मुर्गियों के मरने का कोई मामला नहीं आया है. बकायदा पशु चिकित्सा अधिकारी की ओर से अलग से प्रेस रिलीज निकाली गई है. लेकिन इन सबके बीच जिले में कोरोना वायरस से रोकथाम की मुहिम के दौरान यह नई समस्या आ खड़ी हुई है, जिससे निपटने के लिए अब प्रयास किये जा रहे हैं.



छोटे व्यापारियों के सामने परेशानी है
बड़े पोल्ट्री फार्म कारोबारियों ने तो मुर्गियों के दाने-पानी का स्टॉक कर रखा है लेकिन हालात उनके खराब है जिनका काम छोटे स्तर पर हैं. इस सबके बीच अजमेर प्रशासन ने प्रेस रिलीज जारी कर एक नई जानकारी दी है जिसमें कहा गया है कि अंडा, मीट और चिकन की दुकान खोलने पर किसी तरह की रोक नहीं है.

COVID-19: राजस्थान में अब 191 पॉजिटिव केस, इनमें 41 तबलीगी जमात से

बीकानेर में कोरोना वायरस का पहला शिकार, मौत के बाद सामने आई रिपोर्ट पॉजिटिव
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading