इलाके में 3 महीने बाद आये प्रभारी मंत्री, शिकायतों की 'पोटली' से कांग्रेसियों ने किया स्वागत!

प्रभारी मंत्री से शिकायतों की चर्चा करते कांग्रेस कार्यकर्ता.
प्रभारी मंत्री से शिकायतों की चर्चा करते कांग्रेस कार्यकर्ता.

करीब 3 महीने बाद इलाके में आये प्रभारी मंत्री प्रमोद जैन भाया (Minister Pramod Jain Bhaya) ने अजमेर (Ajmer) जिले में कोरोना से निपटने के लिए प्रशासन की और से उठाए गए कदमो की समीक्षा की.

  • Share this:
अजमेर. करीब 3 महीने बाद इलाके में आये प्रभारी मंत्री प्रमोद जैन भाया (Minister Pramod Jain Bhaya) ने अजमेर (Ajmer) जिले में कोरोना से निपटने के लिए प्रशासन की और से उठाए गए कदमो की समीक्षा की, लेकिन इससे पहले की वे सरकारी अफसरों की वर्क परफॉरमेंस को आंकते कांग्रेस कार्यकर्तओं ने कलेक्ट्रेट में मंत्री के प्रवेश के साथ ही उन्हें शिकायतों और समस्यायों का एक लंबा ज्ञापन थमाते हुए उनका स्वागत किया. इसके बाद मंत्री आगे के कार्यक्रमों में शामिल हो सके.

पूर्व पार्षद और सेवादल के पूर्व अध्यक्ष शैलेन्द्र अग्रवाल की अगुवाई में कार्यकर्ताओं ने मंत्री भाया को गर्मी के इस भीषण दौर में बीसलपुर बांध में पर्याप्त पानी होने के बावजूद जलदाय विभाग की और से जलापूर्ति 3 से 4 दिन के अंतराल में किये जाने की शिकायत की. ज़िले की बिगड़ती पेयजल सप्लाई व्यवस्था तथा अजमेर नगर निगम क्षेत्र के विभिन्न नालों की सफाई अव्यवस्था को लेकर भी ज्ञापन देकर शिकायत की गई.

ये भी पढ़ें: राजस्थान: PCC चीफ की अटकलों के बीच सचिन पायलट का बयान- 'राजनीति में कब क्या हो जाए मालूम नहीं'



बताई ये समस्या
शिकायत में कहा गया कि बीसलपुर बांध में भरपूर पानी होने के बावजूद अजमेर में पेयजल सप्लाई व्यवस्था बिगड़ी हुई है. 48 से 72 घंटे के अंतराल से मात्र 1 घंटे दी जाने वाली पेयजल सप्लाई में भी पानी का प्रेशर इतना कम होता है कि उससे आम उपभोक्ता की जरूरत के हिसाब से पूर्ति नहीं हो पाती है. साथ ही मानसून आने वाला है, परन्तु अभी तक अजमेर नगर निगम क्षेत्र के बड़े व छोटे नालों की पूरी तरह सफाई नहीं हुई है, जिससे बरसात के समय निचले इलाकों में पानी भरने की तथा शहर में गन्दगी फैलने की समस्या सामने आ सकती है. मंत्री भाया ने इस सब शिकायतों पर तत्काल अधिकारियों को कार्यवाही और जांच के निर्देश दिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज