लाइव टीवी

अजमेर: प्रो. धर्मपाल जारौली बने माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष, 3 साल के लिए हुई नियुक्ति
Ajmer News in Hindi

Abhijeet Dave | News18 Rajasthan
Updated: February 24, 2020, 7:10 PM IST
अजमेर: प्रो. धर्मपाल जारौली बने माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष, 3 साल के लिए हुई नियुक्ति
जारौली के सामने सबसे बड़ा टास्क बोर्ड की परीक्षा शांतिपूर्वक संपन्न करवाना है. बोर्ड की परीक्षाएं आगामी 5 मार्च से शुरू हो रही हैं.

राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (Rajasthan Board of Secondary Education) को आखिरकार एक साल के लंबे इंतजार के बाद पूर्णकालिक अध्यक्ष (Full time president) मिल गया है. राज्य सरकार (State government) ने सोमवार को प्रोफेसर धर्मपाल जारौली (Prof. Dharmapala Jarauli) को बोर्ड अध्यक्ष नियुक्त (Appointed) कर दिया है.

  • Share this:
अजमेर. राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (Rajasthan Board of Secondary Education) को आखिरकार एक साल के लंबे इंतजार के बाद पूर्णकालिक अध्यक्ष (Full time president) मिल गया है. राज्य सरकार (State government) ने सोमवार को प्रोफेसर धर्मपाल जारौली (Prof. Dharmapala Jarauli) को बोर्ड अध्यक्ष नियुक्त (Appointed) कर दिया है. उनकी नियुक्ति के आदेश जारी हो गए हैं. वे राजस्थान विश्वविद्यालय से जूलोजी विभाग से रिटायर्ड है. जारौली मंगलवार को अपना पदभार संभालेगें और अधिकारियों की बैठक लेंगे.

सबसे बड़ा टास्क बोर्ड की परीक्षाएं हैं
जारौली की नियुक्ति पद संभालने की तारीख से तीन साल तक के लिए रहेगी. इसके बाद सरकार चाहेगी तो उनका कार्यकाल बढ़ा भी सकती है. जारौली के सामने सबसे बड़ा टास्क बोर्ड की परीक्षा शांतिपूर्वक संपन्न करवाना है. बोर्ड की परीक्षाएं आगामी 5 मार्च से शुरू हो रही हैं. इसमें करीब 20 लाख परीक्षार्थी पंजीकृत हुए हैं. ऐसे में अध्यक्ष पद संभालते ही जारौली के सामने एक बडी चुनौती परीक्षाओं को शांतिपूर्ण संपन्न कराने की रहेगी. बोर्ड अध्यक्ष की नियुक्ति के साथ ही अब बोर्ड के कामकाज में भी गति आने की संभावना बनी है.

शिक्षा विभाग के निदेशक के पास था अतिरिक्त प्रभार



इससे पहले प्रोफेसर बीएल चौधरी का बोर्ड अध्यक्ष के रूप में कार्यकाल समाप्त होने के बाद से सरकार ने इस पद का अतिरिक्त प्रभार शिक्षा विभाग के निदेशक को सौंप रखा था. हालांकि अध्यक्ष पद की दौड़ में अजमेर स्थित राजकीय महाविद्यालय के प्राचार्य मुन्नालाल अग्रवाल भी शामिल थे. लेकिन अग्रवाल की एप्रोच तकनीकी शिक्षा राज्यमंत्री सुभाष गर्ग तक ही सीमित थी. अग्रवाल और जारोली दोनों ही राजीव गांधी स्टडी सर्किल से जुड़े हुए हैं.



परीक्षाओं के परिणाम जल्द घोषित कराने पर रहेगा जोर
हालांकि स्टडी सर्किल गैर राजनीतिक संगठन माना जाता है, लेकिन इस संगठन में कांग्रेस विचारधारा के कॉलेज शिक्षक ही शामिल हैं. नवनियुक्त अध्यक्ष प्रो. जारोली ने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने निरोगी राजस्थान का जो अभियान शुरू किया है उसे अब शिक्षा बोर्ड के पाठ्यक्रम में शामिल किया जाएगा. उन्होंने कहा कि परीक्षाओं के परिणाम जल्द घोषित हो इसके लिए भी काम किया जाएगा.

 

अजमेर में डबल मर्डर: जंगल में खून से लथपथ मिले दो शव, जादू-टोने की आशंका

 

विधानसभा: 27 फरवरी को CM गहलोत देंगे बजट बहस का जवाब, 13 मार्च को पारित होगा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अजमेर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 24, 2020, 7:08 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading