लाइव टीवी

परीक्षा पर चर्चा में पीएम मोदी ने दिया मंत्र, टेक्नोलॉजी को खुद पर न होने दे हावी

Shakir Ali | News18 Rajasthan
Updated: January 20, 2020, 11:45 PM IST
परीक्षा पर चर्चा में पीएम मोदी ने दिया मंत्र, टेक्नोलॉजी को खुद पर न होने दे हावी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशभर के विद्यर्थियों के साथ सीधा संवाद किया.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने सोमवार को दिल्ली के तालकटोरा मैदान से परीक्षा पर चर्चा (Pariksha Pe Charcha) का तीसरा संस्करण जारी करते हुए देश भर के लाखों करोड़ों विद्यर्थियों के साथ सीधा संवाद किया.

  • Share this:
अजमेर. देश मे फिलहाल स्कूल बोर्ड एग्जाम का माहौल चल रहा है और ऐसे में विद्यार्थियों के मन मे कई तरह कि शंकाएं और चिंताएं पनपने लगती हैं. ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने सोमवार को दिल्ली के तालकटोरा मैदान से परीक्षा पर चर्चा (Pariksha Pe Charcha) का तीसरा संस्करण जारी करते हुए देश भर के विद्यार्थियों के साथ सीधा संवाद किया. पीएम मोदी ने करीब 2 घंटे तक विद्यार्थियों के मन मे उपजी कई तरह की जिज्ञासाओं को न सिर्फ शांत किया बल्कि उन्हें शांत और तनावरहित रहते हुए परीक्षा देने के गुर भी सिखाए. पीएम मोदी के इस संवाद का अजमेर की भी कई स्कूलों में लाइव स्ट्रीमिंग की गई और बड़ी संख्या में विद्यार्थियों ने मोदी सर की क्लास को एकाग्रता के साथ अटेंड किया.

पीएम मोदी ने परीक्षा के दिनों में होने वाले मूड ऑफ से लेकर विफलताओं से घिरे रहने के कारण होने वाले अवसाद और टेक्नोलॉजी के बढ़ती आदत जैसे मुद्दों को छुआ. अजमेर में मोदी सर कि क्लास अटेंड करने के बाद विद्यार्थियों ने अपने अंदर एक नया बदलाव अनुभव किया और कहा कि पहली बार बोर्ड एग्जाम देने को लेकर मन मे कई तरह के सवाल और चिंताएं थी जिनका निवारण हो गया है.



खासतौर से परीक्षा में अच्छे अंक ना आने पर जो डिप्रेशन आता है उससे कैसे बाहर निकला जा सके. इसको लेकर पीएम मोदी ने चंद्रयान मिशन का हवाला भी दिया और कहा कि उपलब्धि कभी छोटी और बड़ी नही होती.  उपलब्धि कठिन परिश्रम से हासिल होती है और हमे उस परिश्रम का सम्मान करना चाहिए.

पीएम मोदी ने करीब 2 घंटे तक विधायर्थियो से संवाद किया जिस पर कई स्टूडेंट्स काफी प्रोत्साहित हुए और कहा कि उन्हें यह देखकर बहुत अच्छा लगा कि देश के प्रधानमंत्री उनके लिए इतना सोच रहे हैं और अब वक्त है उनकी बातों का अनुसरण करने का. पीएम मोदी ने टेक्नोलॉजी के बढ़ते उपयोग पर भी कहा कि विद्यार्थियों को इसमें संतुलन बनाए रखने की जरूरत है. टेक्नोलॉजी को अपने उपर हावी नहीं होने देकर उसको काबू में करने की जरूरत है. पीएम मोदी ने अपील की कि विद्यार्थी मोबाइल से एक न्यूनतम दूरी बनाते हुए उस समय को परिवार के बुजुर्गों और माता पिता के साथ बिताएं और उनसे बातें करें, जिससे उनके अनुभव जीवन में आगे बढ़ने के लिए काम आए.

ये भी पढ़ें- 

जयपुर में सूर्यग्रहण देखने से 14 बच्चों की आंखें 70% तक खराब,अस्पताल में भर्ती

सरपंच चुनाव: टायर ट्यूब में भरी 315 लीटर देसी शराब जब्त, 2 गिरफ्तार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अजमेर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 20, 2020, 6:33 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर