• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • शरारती बच्चा कहकर जोधपुर के स्कूलों ने निकाला, अब UK की यूनिवर्सिटी में बना प्रेसिडेंट

शरारती बच्चा कहकर जोधपुर के स्कूलों ने निकाला, अब UK की यूनिवर्सिटी में बना प्रेसिडेंट

जोधपुर के अक्षय जैन का यूके में कमाल, यहां स्कूलों ने शरारती बताकर निकाला, वहां यूनिवर्सिटी में बना प्रेसिडेंट

वेल्स की 125 साल पुरानी कार्डिफ यूनिवर्सिटी में ज्यादातर इंजीनियर ओर डॉक्टर ही प्रेसिडेंट बनते आए हैं. यह पहली बार हुआ है कि कार्डिफ यूनिवर्सिटी में भारतीय स्टूडेंट्स प्रेसिडेंट बना है. अक्षय जैन एमबीए स्टूडेंट हैं और पहला एमबीए स्टूडेंट्स यूनिवर्सिटी में प्रेसिडेंट बना है.

  • Share this:

    जोधपुर. कहते हैं बच्चे की प्रतिभा शिक्षक ही पहचान सकता है, लेकिन जोधपुर (jodhpur) के एक स्टूडेंट को शिक्षकों ने बदमाश का तमगा देकर निकाला तो स्टूडेंट ने विदेशी यूनिवर्सिटी (foreign university) में कमाल कर दिखाया. जोधपुर के स्टूडेंट ने विदेशी यूनिवर्सिटी में ऐसा कमाल दिखाया कि वहां के स्टूडेंट ने उसको यूनिवर्सिटी का प्रेसिडेंट बना दिया. उसे जोधपुर में तीन स्कूलों ने दिया बदमाश का तमगा दिया था.

    जोधपुर के रहने वाले अक्षय जैन शुरुआती स्कूल शिक्षा में इतना शरारती था कि उसको स्कूल से निकाल दिया गया था. एक दो नहीं अक्षय को कई स्कूलों से बदमाशी के चलते निकाल दिया गया था. इस बीच अक्षय ने सीनियर सेकेंडरी, बीकॉम करने के बाद यूएसए यूनिवर्सिटी ऑफ केलिफोर्निया बर्कले में एमबीए किया. यूएसए यूनिवर्सिटी में उसने ऐसा काम किया कि वहां के स्टूडेंट ने अपने देश के स्टूडेंट लीडर को नहीं चुन अक्षय को अपना लीडर चुनते हुए यूनिवर्सिटी स्टूडेंट का प्रेसिडेंट बना दिया.

    यूएसए यूनिवर्सिटी प्रेसिडेंट के बाद भी किया कमाल

    कार्डिफ यूनिवर्सिटी में प्रेसिडेंट बनने के बाद अक्षय ने कई कमाल किए. यूनिवर्सिटी में स्पोर्ट्स व स्टडी को लेकर कई कार्य किए. कॉलेज में होर्ष पोलो,शूटिंग सहित कई गेम्स को यूनिवर्सिटी में अक्षय ने शुरू कराया. कोरोना संक्रमण काल में भी अक्षय घर से निकल कर कई स्टूडेंट की मदद करने पहुंचे. अक्षय के इन कार्यों के चलते वो यूनिवर्सिटी में सबके दिलों में बस गए. इस बीच यूनिवर्सिटी में हाउस ऑफ लॉर्ड्स के चुनाव में अक्षय को 10 में से 8.82 अंक देकर प्रेसिडेंट चुन लिया गया.

    डेड करोड़ के पैकेज में किया जॉब

    वेल्स की 125 साल पुरानी कार्डिफ यूनिवर्सिटी में ज्यादातर इंजीनियर ओर डॉक्टर ही प्रेसिडेंट बनते आए हैं. यह पहली बार हुआ है कि कार्डिफ यूनिवर्सिटी में भारतीय स्टूडेंट्स प्रेसिडेंट बना है. अक्षय जैन एमबीए स्टूडेंट है और पहला एमबीए स्टूडेंट्स यूनिवर्सिटी में प्रेसिडेंट बना है. अक्षय जैन पीएचडी की पढ़ाई से पहले एक कंपनी में डेढ़ करोड़ रुपए के पैकेज पर जॉब भी करते थे.

    यूएसए में आपदा में भी अक्षय ने किया कमाल

    यूएसए में जॉब के दौरान अक्षय ने यूएसए आर्मी के साथ तूफान में फंसे लोगों की मदद की थी. इस दौरान यूएसए आर्मी ने अक्षय का सम्मान भी किया था. उस समय यूएसए आर्मी ने अक्षय के सम्मान में भारतीय राष्ट्र गान गाया था. अक्षय विंग वाकिंग जैसे एडवेंचर के भी शौकीन हैं. अक्षय प्राइवेट पायलट कोर्स भी कर रहे हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज