Coronavirus: CBSE की बोर्ड परीक्षाएं स्थगित होने के बाद अब नजरें राजस्थान बोर्ड की परीक्षाओं पर

राजस्थान बोर्ड की 10वीं और 12वीं की परीक्षाओं में करीब 20 लाख परीक्षार्थी पंजीकृत हैं जो प्रदेश में बनाये गए 5,685 केंद्रों पर परीक्षा दे रहे हैं.
राजस्थान बोर्ड की 10वीं और 12वीं की परीक्षाओं में करीब 20 लाख परीक्षार्थी पंजीकृत हैं जो प्रदेश में बनाये गए 5,685 केंद्रों पर परीक्षा दे रहे हैं.

कोरोना वायरस (Corona virus) से बचाव के तमाम प्रयासों के बीच बुधवार देर रात सीबीएसई (CBSE) की 10वीं और 12वीं की आगामी परीक्षाएं स्थगित (Exams postponed) कर दी गई हैं. इसके बाद अब नजरें राजस्थान बोर्ड (Rajasthan Board) की परीक्षाओं पर टिक गई हैं.

  • Share this:
अजमेर. कोरोना वायरस (Corona virus) से बचाव के तमाम प्रयासों के बीच बुधवार देर रात सीबीएसई (CBSE) की 10वीं और 12वीं की आगामी परीक्षाएं स्थगित (Exams postponed) कर दी गई हैं. इसके बाद अब नजरें राजस्थान बोर्ड (Rajasthan Board) की परीक्षाओं पर टिक गई हैं. सीबीएसई अजमेर रीजन के अधीन आने वाले राजस्थान और मध्यप्रदेश में करीब डेढ़ लाख परीक्षार्थी पंजीकृत हैं. सीबीएसई की नई परीक्षा तारीखों का ऐलान बाद में किया जाएगा.

करीब 20 लाख परीक्षार्थी पंजीकृत हैं
मानव संसाधन मंत्रालय की गाइडलाइंस का राजस्थान बोर्ड के अधिकारियों ने बुधवार देर रात गहरा अध्यययन किया और राज्य सरकार को फ़ाइल भेज दी है. राजस्थान बोर्ड की परीक्षाओं को स्थगित करने का अंतिम फैसला राज्य सरकार लेगी. राजस्थान बोर्ड की 10वीं और 12वीं की परीक्षाओं में करीब 20 लाख परीक्षार्थी पंजीकृत हैं जो प्रदेश में बनाये गए 5,685 केंद्रों पर परीक्षा दे रहे हैं.

अंतिम फैसला सरकार को करना है
बोर्ड की 10वीं की परीक्षाएं 24 मार्च को संपन्न होंगी, वही 12वीं की 3 अप्रैल को समाप्त होंगी. हालांकि बोर्ड के आला अधिकारियों ने साफ कहा कि उन्होंने कोरोना वायरस से निपटने के लिए परीक्षा केंद्रों पर माकूल बंदोबस्त किए हैं. हर परीक्षा केंद्र पर सेनिटाइजर के साथ ही हैंडवाश की सुविधा दी गई है. इसके साथ ही वीक्षकों को मास्क पहनने के निर्देश जारी किए गए हैं. बोर्ड ने अपने स्तर पर ऐहतियात के सभी बंदोबस्त किए हैं, लेकिन परीक्षा को स्थगित करने का अंतिम फैसला सरकार को ही करना है.



पूरे प्रदेश में धारा 144 लागू कर दी गई है
आपको बता दें कि सरकार ने बुधवार देर रात को ही पूरे प्रदेश में धारा 144 लागू कर दी है. उसके बाद सार्वजनिक स्थानों पर 5 से अधिक लोगों के जुटने पर रोक लग गई है. ऐसे में बोर्ड की परीक्षाओं में एक परीक्षा केंद्र के हॉल में करीब 50 से 60 विद्यार्थी बैठ रहे हैं. इतना ही नहीं बोर्ड की उत्तर पुस्तिकाओं के केंद्रीय मूल्यांकन के लिए भी बोर्ड के रीट दफ्तर में भी एक साथ वीक्षक बैठकर उत्तर पुस्तिकाएं जांच रहे हैं. हालांकि बोर्ड ने अपने पूरे कार्यालय में साफ सफाई और सेनिटाइजर की व्यवस्था की है. लेकिन बावजूद इसके सरकार के नए आदेशों के बाद अब नजरें इस बात पर टिकी हैं कि क्या कुछ दिनों के लिए बोर्ड परीक्षा की व्यवस्था में भी बदलाव किया जाएगा.

 

Good News: अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों को बिना भर्ती के सीधे मिलेगी सरकारी नौकरी

 

Corona Effect: कोटा सेंट्रल जेल से कुछ बंदियों को किया जाएगा शिफ्ट
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज