लाइव टीवी

COVID-19: अजमेर में जागरूकता फैलाने के लिए अपने दम पर जुटा है यह 'कोरोना योद्धा'
Ajmer News in Hindi

Abhijeet Dave | News18 Rajasthan
Updated: March 23, 2020, 12:12 PM IST
COVID-19: अजमेर में जागरूकता फैलाने के लिए अपने दम पर जुटा है यह 'कोरोना योद्धा'
इस योद्धा का कहना है कि अभी वक्त कमाई के बारे में सोचने से कहीं ज्यादा अपने शहर को बचाने का है.

कोरोना वायरस (Coronavirus) से बचाव के लिए एक तरफ जहां राज्य और केन्द्र सरकार हर मुमकिन कोशिश में जुटी हुई है. वहीं अजमेर में एक ऐसा 'कोरोना योद्धा' भी है जो अपने स्तर पर इसके बचाव के लिए जी-जान से जुटा हुआ है.

  • Share this:
अजमेर. कोरोना वायरस (Coronavirus) से बचाव के लिए एक तरफ जहां राज्य और केन्द्र सरकार हर मुमकिन कोशिश में जुटी हुई है, वहीं अजमेर में एक ऐसा कोरोना योद्धा (Corona warrior) भी है, जो अपने स्तर पर इस बीमारी से बचाव के लिए जी-जान से जुटा हुआ है. लॉक डाउन के हालात के बीच यह योद्धा अजमेर में अपने ऑटो के ऊपर लाउडस्पीकर लगाकर कोरोना वायरस से बचाव और जागरूक रहने संबंधी जानकारियां प्रसारित कर रहा है.

ऑटो से जनजागरूकता अभियान

यह योद्धा है अजमेर का ऑटो चालक राजेन्द्र शर्मा. 52 साल के राजेन्द्र शर्मा इस महामारी से अपने शहर अजमेर के लोगों को बचाने और जागरूक करने के लिए प्रशासन की मदद को आगे आए हैं. ऑटो चलाकर अपने परिवार की रोजी-रोटी चलाने वाले राजेन्द्र अब इसी ऑटो से जागरूकता अभियान चला रहे हैं. पीएम नरेंद्र मोदी की 'जनता कर्फ्यू' की अपील और सीएम अशोक गहलोत के 31 मार्च तक प्रदेश में लॉकडाउन के ऐलान के बाद उन्होंने पहल करते हुए अपने ऑटो को जागरूकता का माध्यम बना लिया है.

लाउड स्पीकर से दे रहे बचाव की जानकारी



राजेन्द्र शर्मा अपने ऑटो के ऊपर लाउडस्पीकर लगाकर कोरोना वायरस से बचाव और लोगों को जागरूक रहने की जानकारी दे रहे हैं. इसके लिए राजेन्द्र शर्मा को प्रशासन की ओर से कोई निर्देश नहीं मिला है और न ही इस काम में आने वाला खर्च ही मिल रहा है. राजेन्द्र का कहना है कि इस महामारी से बचने के लिए वे स्वेच्छा से अपने खर्च पर इस अभियान को आगे बढ़ा रहे हैं. राजेन्द्र कहते हैं कि उनको यह प्रेरणा पुलिस, मीडिया और मेडिकल जगत के लोगों से मिली, जो इस भीषण आपदा के वक्त भी सावधानी बरतते हुए लोगों को बचाने के महाअभियान में जुटे हैं.

31 मार्च तक चलाएंगे अभियान

राजेन्द्र इस अपने जागरूकता अभियान को 31 मार्च तक अपने खर्च पर चलाने की बात कह रहे हैं. राजेन्द्र का कहना है कि कमाने के लिए ग्राहक का होना बेहद जरूरी है और अगर यह महामारी उनके शहर अजमेर में फैल गई, तो फिर ग्राहक कहां से आएंगे और फिर वे कैसे कमाएंगे. इसलिए अभी वक्त कमाई के बारे में सोचने से कहीं ज्यादा अपने शहर को बचाने का है.


ये भी पढ़ें-

COVID-19: राजस्थान में 3 नए पॉजिटिव केस आए, 28 तक पहुंचा आंकड़ा

 

COVID-19: अशोक गहलोत का पीएम मोदी को पत्र, सीएम ने की यह मांग

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अजमेर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 23, 2020, 11:25 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

भारत

  • एक्टिव केस

    5,218

     
  • कुल केस

    5,865

     
  • ठीक हुए

    477

     
  • मृत्यु

    169

     
स्रोत: स्वास्थ्य मंत्रालय, भारत सरकार
अपडेटेड: April 09 (05:00 PM)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर

दुनिया

  • एक्टिव केस

    1,151,000

     
  • कुल केस

    1,603,115

    +42
  • ठीक हुए

    356,422

     
  • मृत्यु

    95,693

    +1
स्रोत: जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी, U.S. (www.jhu.edu)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर