Home /News /rajasthan /

अजमेर दरगाह के दीवान बोले- आतंकवाद पाकिस्तान की स्टेट पॉलिसी का हिस्सा

अजमेर दरगाह के दीवान बोले- आतंकवाद पाकिस्तान की स्टेट पॉलिसी का हिस्सा

अजमेर दरगाह के दीवान सैयद ज़ैनुल आबेदीन अली खां ने पाकिस्तान पर जमकर हमला बोला

अजमेर दरगाह के दीवान सैयद ज़ैनुल आबेदीन अली खां ने पाकिस्तान पर जमकर हमला बोला

सैयद ज़ैनुल आबेदीन अली खां ने कहा कि पाकिस्तान की संसद में प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) द्वारा एक आतंकी को शहीद कहकर संबोधित करना इस बात की दलील है कि आतंकवाद (Terrorism) पाकिस्तान की स्टेट पॉलिसी का हिस्सा है.

अजमेर. सूफ़ी संत ख्वाजा मोईनुद्दीन हसन चिश्ती के वंशज और अजमेर दरगाह (Ajmer Dargah) के आध्यात्मिक प्रमुख दीवान सैयद ज़ैनुल आबेदीन अली खां ने एक बार फिर पाकिस्तान (Pakistan) पर बड़ा हमला बोला है. दरगाह दीवान ने कहा कि आतंकवाद (Terrorism) पाकिस्तान की स्टेट पॉलिसी का हिस्सा है. दीवान की ओर से एक बयान जारी कर कहा गया कि पाकिस्तान की संसद में पाक प्रधानमंत्री का ओसामा बिन लादेन (Osama Bin Laden) जैसे ग्लोबल आतंकी को शहीद कहकर बुलाना इस बात को सिद्ध करता है कि आतंकवाद पाकिस्तान की स्टेट पॉलिसी का हिस्सा है.

शनिवार को जारी बयान में सैयद ज़ैनुल आबेदीन अली खां ने कहा कि पाक की संसद में प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा एक आतंकी को शहीद कहकर संबोधित करना इस बात की दलील है कि आतंकवाद पाकिस्तान की स्टेट पॉलिसी का हिस्सा है. उन्होंने पाक पीएम इमरान खान के बयान की निंदा करते हुए कहा कि बड़े शर्म बात है कि गुरुवार को इमरान खान ने पाकिस्तानी संसद में कहा कि अमेरिकी सेना ने पाकिस्तान में घुसकर लादेन को शहीद कर दिया. पाक पीएम का यह बयान आतंकवाद के प्रति पाकिस्तान के रवैये को साफ जाहिर करता है. और चीन जैसे देश आतंकवाद को बढ़ावा देने के लिए पाकिस्तान जैसे देश को हथियार और आर्थिक मदद देता है.

'पाकिस्तान के आतंकी दुनिया के लिए खतरा' 

दरगाह दीवान ने कहा कि आज तक पाकिस्तान लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद जैसे संगठनों को पहुंचने वाली फंडिंग पर नकेल नहीं कस पाया है. इसलिए फाइनेंशल एक्शन टास्क फोर्स (एफएटीएफ) ने बुधवार को फैसला किया कि पाकिस्तान को ग्रे सूची में ही रखा जाएगा, जो की बिल्कुल सही निर्णय है. क्योंकि बार-बार भारत को निशाना बना रहे आतंकी लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद जैसे संगठनों को पाकिस्तान मदद करता आया है. पाकिस्तान में जैश के संस्थापक मसूद अजहर और 2008 के मुंबई धमाकों के 'प्रॉजेक्ट मैनेजर' साजिद मीर जैसे कई आतंकी आजाद घूम रहे हैं, जो भारत ही नहीं पूरी दुनिया के लिए एक बड़ा ख़तरा है.

चीन में मुसलमानों को सबसे ज्यादा प्रताड़ना 

दरगाह दीवान ने कहा की पाकिस्तान की आतंकी हरकतों को चीन हमेशा से समर्थन करता है. और यही करण है कि इस्लाम के नाम का सहारा लेने वाले आतंकी संगठन चीन के विरुद्ध कभी भी कोई कार्यवाही नही करते. जबकि हकीकत यह है कि आज दुनिया में सब से ज्यादा मुसलमानों पर और उनके अधिकारों पर कुठाराघाट कोई देश कर रहा है वो चीन है. चीन में रह रहे मुसलमानों को तरह-तरह से प्रताड़ित किया जा रहा है. जिसके लिए भारत को भी मुस्लिम देशों के साथ मिलकर आवाज उठाने की जरूरत है.

 

Tags: Ajmer news, Imran khan, Rajasthan news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर