लाइव टीवी

गौरक्षा के लिए 27 महीने पहले लेह से पैदल यात्रा पर निकले फैज़ खान पहुंचे अजमेर, कही ये बात...

Abhijeet Dave | News18 Rajasthan
Updated: October 9, 2019, 1:20 PM IST
गौरक्षा के लिए 27 महीने पहले लेह से पैदल यात्रा पर निकले फैज़ खान पहुंचे अजमेर, कही ये बात...
24 जून 2017 से पैदल यात्रा पर हैं फैज़ खान, जनवरी 2020 में होगी समाप्त

प्रसिद्ध गौ कथा वाचक मोहम्मद फैज़ खान गौ रक्षा (Cow Protection) और उसे लेकर देश में फैली भ्रांति (False Impression) को दूर करने के लिए निकाली गई पैदल यात्रा की कड़ी में बुधवार को अजमेर पहुंचे.

  • Share this:
अजमेर. राजस्थान (Rajasthan) के अजमेर (Ajmer) जिले में प्रसिद्ध गौ कथा वाचक मोहम्मद फैज़ खान गौ रक्षा (Cow Protection) और उसे लेकर देश में फैली भ्रांति (False Impression) को दूर करने के लिए निकाली गई पैदल यात्रा की कड़ी में बुधवार को अजमेर पहुंचे.

अजमेर में पत्रकारों के साथ बातचीत में फैज़ खान ने कहा कि इस्लाम (Islam) में भी गाय की महत्ता को दर्शाया गया है, लेकिन गौ हत्या (cow killing) और तस्करी (cow smuggling) को लेकर मॉब लिंचिंग (Mob lynching) के नाम पर समाज में गलत भ्रांति फैलाई जा रही है.

24 जून 2017 से पैदल यात्रा पर हैं फैज़ खान, जनवरी 2020 में होगी समाप्त

बता दें कि देश में गौ रक्षा का संदेश देने के लिए फैज़ खान बीते 24 जून 2017 को लेह लद्दाख (leh ladakh) से पैदल यात्रा पर निकले हैं. पिछले 27 महीने में उन्होंने 13 हजार किलोमीटर का सफर पैदल तय किया है. अगले वर्ष 2020 के जनवरी माह में जम्मू में उनकी पैदल यात्रा समाप्त होगी.

दुनिया का सबसे बड़ा मंदिर 'भारत' है: फैज़

पत्रकारों के साथ बातचीत में फैज़ ने कहा कि दुनिया का सबसे बड़ा मंदिर 'भारत' (INDIA) है, जहां सभी धर्मों के लोग आपस में मिलजुल कर रहते हैं. उन्होंने कहा कि वे अपनी पैदल यात्रा के जरिए गाय के वास्तिवक महत्व को जन-जन तक पहंचाने के लिए निकले हैं. फैज़ ने कहा कि गाय इस्लाम में भी आदर और सम्मान का प्रतीक माना जाता है.

गौ रक्षा-cow protection
मोहम्मद फैज़ खान ने कहा कि दुनिया का सबसे बड़ा मंदिर 'भारत' है, जहां सभी धर्मों के लोग आपस में मिलजुल कर रहते हैं.

Loading...

फैज खान कहते हैं कि वेद में गाय को हिंदू, मुस्लिम, सिख या ईसाई की मां नहीं कहा गया है बल्कि वेद में गाय को संपूर्ण विश्व की माता बताया गया है. गाय को किसी भी जाति या समुदाय से बांधना गलत है.

ये भी पढ़ें:- बच्चा चोर गिरोह की आशंका में भीड़ ने 2 युवकों को बेरहमी से पीटा...

ये भी पढ़ें:- पुलिसकर्मियों को बंधक बनाकर रात भर पीटा, फिर मरा समझकर छोड़ गए

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अजमेर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 9, 2019, 1:20 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...