Home /News /rajasthan /

पृथ्वीराज चौहान मूवी को लेकर गुर्जर-राजपूत समुदाय आमने-सामने, प्रदर्शन और तोड़फोड़

पृथ्वीराज चौहान मूवी को लेकर गुर्जर-राजपूत समुदाय आमने-सामने, प्रदर्शन और तोड़फोड़

गुर्जर समाज के प्रतिनिधियों ने दावा किया कि पृथ्वीराज चौहान गुर्जर थे. गुर्जर है और गुर्जर रहेंगे. वे भगवान देवनारायण के वशंज से आते हैं.

गुर्जर समाज के प्रतिनिधियों ने दावा किया कि पृथ्वीराज चौहान गुर्जर थे. गुर्जर है और गुर्जर रहेंगे. वे भगवान देवनारायण के वशंज से आते हैं.

Prithviraj Chauhan movie dispute in Ajmer: सम्राट पृथ्वीराज चौहान पर बनी फिल्म को लेकर राजस्थान में माहौल गरमा गया है. राजस्थान के अजमेर में गुर्जर समाज ने पृथ्वीराज चौहान की विरासत पर अपना दावा ठोकते हुए उन्हें गुर्जर समाज का बताया है. इस मामले को लेकर गुर्जर समाज ने सोमवार को पृथ्वीराज चौहान की नगरी अजमेर में जबर्दस्त प्रदर्शन किया. गुर्जर समाज का कहना था कि अगर इतिहास से छेड़छाड़ की गई तो वे देशव्यापी बड़ा आंदोलन करेंगे. कुल मिलाकर अब इस मसले गुर्जर और राजपूत समाज आमने सामने आ गये हैं.

अधिक पढ़ें ...

अजमेर. राजस्थान में अब सम्राट पृथ्वीराज चौहान (Prithviraj Chauhan) की विरासत को लेकर गुर्जर और राजपूत समुदाय (Gujjar and Rajput community) आमने-सामने हो गए हैं. यशराज बैनर तले बन रही फिल्म पृथ्वीराज चौहान के टाइटल को लेकर गुर्जरों ने आपत्ति दर्ज कराई है. उन्होंने बिना टाइटल बदले फिल्म रिलीज करने पर आंदोलन की चेतावनी दी है. गुर्जर समाज के लोगों ने सोमवार को अजमेर में विरोध प्रदर्शन कर यह चेतावनी दी. गुर्जरों ने प्रदर्शन के दौरान कई कारों के शीशे भी तोड़ दिए.

प्रदर्शनकारी गुर्जरों का दावा है कि पृथ्वीराज गुर्जर थे न कि राजपूत. अब तक पृथ्वीराज चौहान को राजपूत ही माना जाता रहा है. दूसरी तरफ राजपूत समुदाय ने गुर्जरों के दावे को गलत बताया है. राजपूत समुदाय का कहना है कि पृथ्वीराज चौहान राजपूत है. इसे साबित करने की जरूरत नहीं है. यह ऐतिहासिक तथ्य और हकीकत है. इसे बदला नहीं जा सकता.

अजमेर के देवनारायण मंदिर में जुटे थे गुर्जर समाज के लोग
सोमवार को इस मसले को लेकर गुर्जर समाज की देवनारायण मंदिर में बैठक हुई. बैठक में वक्ताओं ने दावा किया कि पृथ्वीराज चौहान गुर्जर थे. गुर्जर है और गुर्जर रहेंगे. गुर्जर समाज के प्रतिनिधियों ने दावा किया कि वे भगवान देवनारायण के वशंज से आते हैं. बैठक में शामिल गुर्जर समाज के प्रतिनिधियों का कहना था कि पृथ्वीराज चौहान वंश से हैं. आप इतिहास उठाकर देख लीजिए वे गुर्जर थे.

अब गुर्जर समाज ने दी चेतावनी कि बड़ा आंदोलन किया जाएगा
गुर्जर समाज के प्रतिनिधियों का कहना था कि अगर किसी के पास इससे इतर कोई सबूत हो तो पेश करें. उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि इतिहास से छेड़छाड़ नहीं की जाए. यह फिल्म जो रिलीज की जा रही है उसे तुरंत रोका जाए. इसके लिए सीएम को पत्र भी लिख दिया है. पहले इसे गुर्जर मंडल को दिखाई जाए. अन्यथा गुर्जर समाज बड़ा आंदोलन करेगा.

मेवाड़ के चित्तौड़गढ़ में भी गरमा रहा है माहौल
उल्लेखनीय है कि राजस्थान में एक बार फिर इतिहास को लेकर माहौल गरमाने लग गया है. सोमवार को ही चित्तौड़गढ़ में महारानी पद्मिनी से जुड़े विवादित तथ्य को लेकर विवाद हो गया था. वहां चित्तौड़गढ़ दुर्ग पर स्थित कुंभा महल में जब 3D सिस्टम में बनाया गया लाइट एंड साउंड शो चलाया गया तो महारानी पद्मिनी से जुड़ा प्रसंग आने पर विवाद हो गया था. बाद में वहां मौजूद चित्तौड़गढ़ सांसद सीपी जोशी ने उसे रुकवा दिया था. उसके बाद आज चित्तौड़गढ़ में इस मसले को लेकर राजपूत समुदाय की बैठक हुई है.

Tags: Ajmer news, Akshay kumar, Rajasthan news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर