अपना शहर चुनें

States

Kisan Andolan: ट्रैक्टर रैली के लिए केंद्र सरकार की असंवदेनशील नीतियां जिम्मेदार: CM गहलोत

गहलोत ने कहा कि सरकार की असंवेदनशील नीतियों ने देश में ऐसा अभूतपूर्व माहौल बना दिया है.(फाइल फोटो)
गहलोत ने कहा कि सरकार की असंवेदनशील नीतियों ने देश में ऐसा अभूतपूर्व माहौल बना दिया है.(फाइल फोटो)

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा (Govind Singh Dotasara) ने कहा कि राजस्थान से भी हजारों किसान ट्रैक्टर- ट्रॉली लेकर दिल्ली की ओर निकल पड़े हैं और कांग्रेस किसानों के साथ खड़ी है.

  • Last Updated: January 26, 2021, 7:52 PM IST
  • Share this:
जयपुर. राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Chief Minister Ashok Gehlot) ने सोमवार को कहा कि केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार (PM Modi) की असंवेदनशील नीतियों के चलते देश का किसान ट्रैक्टर रैली निकालने को मजबूर है. केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसान मंगलवार को देश की राजधानी दिल्ली में ट्रैक्टर रैली निकाल रहे हैं. गहलोत ने ट्वीट किया, ‘‘मोदी सरकार की असंवेदनशील नीतियों ने देश में ऐसा अभूतपूर्व माहौल बना दिया है, जहां हमारे किसान नए कृषि कानूनों के विरोध में गणतंत्र दिवस (Republic Day) के अवसर पर ट्रैक्टर रैली निकालने के लिए मजबूर हैं.’’ इससे पहले कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि राजस्थान से भी हजारों किसान ट्रैक्टर- ट्रॉली लेकर दिल्ली की ओर निकल पड़े हैं और कांग्रेस किसानों के साथ खड़ी है.

वहीं, बीते दिनों सीएम अशोक गहलोत ने कहा था केंद्र सरकार को किसान आंदोलन  का कोई सर्वमान्य समाधान निकालना चाहिए और किसानों की चिंताओं पर सहानुभूतिपूर्वक ध्यान देना चाहिए. गहलोत ने ट्वीट किया, ‘बीजेपी नेताओं द्वारा किसान आंदोलन को बदनाम करने वाले बयान दिया जाना दुर्भाग्यपूर्ण और निंदनीय है. केंद्र सरकार को कोई सर्वमान्य समाधान निकालना चाहिए तथा इन आंदोलनों के लिए किसी गिरोह या अन्य तत्वों पर आरोप लगाने के बजाय किसानों की चिंताओं पर सहानुभूतिपूर्वक ध्यान देना चाहिए.’ सीएम गहलोत ने कहा था कि किसान बड़े ही शांतिपूर्ण तरीके से आंदोलन कर रहे हैं.





ट्रैक्टर रैली निकाल रहे हैं
तब मुख्यमंत्री ने कहा था कि किसान अपनी उन जरूरी चिंताओं को लेकर आंदोलन कर रहे हैं जिनकी सरकार अनदेखी कर रही है. कृषि कानून, जो कि किसान समुदाय के हित में नहीं हैं उन्हें वापस लिया जाना चाहिए. बता दें कि पंजाब, हरियाणा, पश्चिमी उत्तर प्रदेश समेत अन्य प्रदेशों के किसान कृषि कानूनों का कड़ा विरोध कर रहे हैं. वो पिछले दो महीने से दिल्ली के बॉर्डर पर जमे हुए हैं. वहीं, आज किसान ट्रैक्टर रैली निकाल रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज