लाइव टीवी

निकाय चुनाव: प्रदेश के इस वार्ड में महज 9 मत पाने वाला प्रत्याशी बन जाएगा पार्षद

Abhijeet Dave | News18 Rajasthan
Updated: November 1, 2019, 3:00 PM IST
निकाय चुनाव: प्रदेश के इस वार्ड में महज 9 मत पाने वाला प्रत्याशी बन जाएगा पार्षद
नसीराबाद के जिस इलाके को नगरपालिका का दर्जा दिया गया है वह हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी है. वहां मात्र 1000 मकान हैं. इस इलाके को 20 वार्ड में बांटा गया है. फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।

प्रदेश में होने जा रहे निकाय चुनाव (Local Body Election) के इस महासमर में राजस्थान (Rajasthan) में एक वार्ड ऐसा भी है जहां अगर दो ही प्रत्याशी चुनाव मैदान उतरते हैं तो महज 9 मत पाने वाला प्रत्याशी पार्षद (Councilor) बन जाएगा. यह वार्ड है हाल ही में गठित हुई अजमेर की नसरीराबाद नगरपालिका (Nasrirabad municipality) का.

  • Share this:
अजमेर. प्रदेश में होने जा रहे निकाय चुनाव (Local Body Election) के इस महासमर में राजस्थान (Rajasthan) में एक वार्ड ऐसा भी है जहां अगर दो ही प्रत्याशी चुनाव मैदान उतरते हैं तो महज 9 मत पाने वाला प्रत्याशी पार्षद (Councilor) बन जाएगा. यह वार्ड है हाल ही में गठित हुई अजमेर की नसरीराबाद नगरपालिका (Nasrirabad municipality) का. नसीराबाद नगरपालिका के वार्ड संख्या-8 में केवल 16 मतदाता (Voter) हैं. यहां अगर दो से ज्यादा प्रत्याशी हुए तो मुकाबला बेहद कड़ा और रोमांचक (Extremely tough and exciting) होगा.

सैन्य छावनी क्षेत्र है नसीराबाद
दरअसल नसीराबाद को हाल ही में नगरपालिका बनाया गया है. यह सैन्य छावनी का क्षेत्र है. प्रदेश की पिछली बीजेपी सरकार ने अजमेर लोकसभा उपचुनाव के दौरान इसे पूर्ण नगरपालिका का दर्जा दिलाने की घोषणा की थी. बाद में रक्षा मंत्रालय के साथ मिलकर काम करते हुए इसकी शुरुआत भी की थी. नसीराबाद को नगरपालिका का दर्जा भी मिला. कांग्रेस सरकार में इसकी अधिसूचना जारी हुई. लेकिन सैन्य छावनी क्षेत्र होने के कारण इसका बहुत थोड़ा पार्ट ही नसीराबाद नगरपालिका में शामिल हो पाया है.

वार्ड संख्या 8 में महज 16 मतदाता हैं

नसीराबाद कस्बे की कुल आबादी करीब 50 हजार है. यह आबादी छावनी परिषद के अधीन है. मौजूदा समय में जिस इलाके को नगरपालिका का दर्जा दिया गया है वह हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी है. वहां मात्र 1000 मकान हैं. इस इलाके को 20 वार्ड में बांटा गया है. इनमें कुल 957 मतदाता हैं. इसमें सर्वाधिक 144 मतदाता वार्ड संख्या 20 में हैं. वहीं न्यूनतम मतदाता वार्ड संख्या 8 में महज 16 हैं. ऐसे में अगर इस वार्ड से केवल दो ही प्रत्याशी चुनाव में खड़े होते हैं तो 9 मत पाने वाला प्रत्याशी पार्षद बन जाएगा. लेकिन अगर प्रत्याशियों की संख्या ज्यादा होगी तो इससे कम मत पाने वाला भी पार्षद बन सकता है.

दो अन्य वार्डों में भी चुनिंदा मतदाता हैं
वहीं इस नगरपालिका के वार्ड-9 में 17 और वार्ड-6 में मात्र 20 मतदाता हैं. बहरहाल नसीराबाद नगरपालिका भले ही बन गई हो, लेकिन इसका लाभ कस्बे की बेहद थोड़ी आबादी को मिल पाएगा. आगे इस नगरपालिका में क्या बदलाव होगा यह भविष्य के गर्भ में है.
Loading...

निकाय चुनाव: नगरपालिका के नाम पर नसीराबाद के साथ हुआ मजाक !

निकाय चुनाव: कांग्रेस में पार्षद की टिकटों का फैसला स्थानीय स्तर पर ही होगा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अजमेर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 1, 2019, 2:56 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...