लाइव टीवी

Ajmer: हरिद्वार के लिए बस चले तो मिले दिवंगत आत्माओं को शांति और मुक्ति
Ajmer News in Hindi

Abhijeet Dave | News18 Rajasthan
Updated: May 21, 2020, 3:17 PM IST
Ajmer: हरिद्वार के लिए बस चले तो मिले दिवंगत आत्माओं को शांति और मुक्ति
विधायक वासुदेव देवनानी ने अपने स्तर पर बस की व्यवस्था करते हुए खुद के विधानसभा क्षेत्र के 23 परिवारों के 34 सदस्यों को अस्थियां विसर्जन करने के लिए हरिद्वार भेजने का बंदोबस्त किया है.

पिछले 2 महीने से देशभर में लागू लॉकडाउन (Lockdown) के चलते कई दिवंगत आत्माओं की शांति और मुक्ति के लिए अस्थियां गंगा में विसर्जित नहीं की जा पा रही है.

  • Share this:
अजमेर. पिछले 2 महीने से देशभर में लागू लॉकडाउन (Lockdown) के चलते कई दिवंगत आत्माओं की शांति और मुक्ति के लिए अस्थियां गंगा में विसर्जित नहीं की जा पा रही है. इसको लेकर अब अजमेर सांसद भगीरथ चौधरी ने सीएम अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) को पत्र लिखकर हरिद्वार के लिए नियमित बस सेवा शुरू करने की मांग की है.

अस्थि कलशों को मोक्ष धाम और मंदिरों में पेड़ों पर लटकाकर रखा गया है
लॉकडाउन के चलते देश प्रदेश में केवल आवश्यक सेवाओं के लिए ही शासकीय अनुमति से परिवहन की व्यवस्था हो रही है. लेकिन लॉकडाउन के दौरान प्रदेश के कई जिलों में आकस्मिक देहावसान होने से उनके परिजनों को समय पर अस्थि विसर्जन के लिए धार्मिक स्थल हरिद्वार आदि जगह नहीं ले जाया जा पा रहा है. इसके कारण अस्थि कलशों को मोक्ष धाम, मन्दिर एवं गांवों में पेड़ों पर लटकाकर रखा गया है.

सरकार की ओर देख रहे हैं लोग



हिन्दू धर्म की मान्यतानुसार मृत आत्माओं की शान्ति के लिए उनका विसर्जन करना एक आवश्यक नैतिक एवं धार्मिक क्रियाकर्म है. लेकिन कोरोना महामारी के चलते ऐसे तीर्थ स्थलों पर आवाजाही पर भी रोक लगी हुई है. हालांकि जिले के कुछ जनप्रतिनिधियों ने सरकार से अनुमति के बाद 2-3 विधानसभा क्षेत्रों से अस्थि विसर्जन के लिए बसों को हरिद्वार भेजा गया है. लेकिन प्रदेशभर में सैंकड़ों लोग दिवगंत हुए अपने परिजन की अस्थियों का विसर्जन समय पर ही कराने के लिए सरकार की ओर देख रहे हैं. कई परिवारजन अपने निजी वाहनों से हरिद्वार जाकर विसर्जन क्रियाक्रम कराने की प्रतिक्षा में है.



जनप्रतिनिधियों ने अपने स्तर पर की व्यवस्था
अजमेर उत्तर से विधायक वासुदेव देवनानी ने अपने स्तर पर बस की व्यवस्था करते हुए खुद के विधानसभा क्षेत्र के 23 परिवारों के 34 सदस्यों को अस्थियां विसर्जन करने के लिए हरिद्वार भेजने का बंदोबस्त किया है. इसी तरह से किशनगढ़ विधायक सुरेश टाक ने भी अपने स्तर पर बस का बंदोबस्त कर प्रभावित परिवारों को राहत देने का प्रयास किया है.

Rajasthan: 1 जून से सरकारी स्कूलों के स्टूडेंट्स TV के जरिये करेंगे पढ़ाई 

COVID: पानी, बिजली के बिल और स्कूल फीस माफ करने की मांग, AAP करेगी आंदोलन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अजमेर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 21, 2020, 3:07 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading