Covid-19 से निपटने के लिए राजनैतिक दूरियां हुईं खत्म, एक छत के नीचे आई भाजपा-कांग्रेस
Ajmer News in Hindi

Covid-19 से निपटने के लिए राजनैतिक दूरियां हुईं खत्म, एक छत के नीचे आई भाजपा-कांग्रेस
जरूरतमंदों के लिए खाना पैक करते समाज सेवी संगठन के लोग

भोजन पैकेट (Food packet) तैयार करने के दौरान who के सुरक्षा निर्देशों की पालना की जा रही है. यहां से भोजन पैकेट शहर के 60 पार्षदों को दिए जा रहे है और प्रत्येक पैकेट की एवज में पार्षदों से 10 रुपये का सहयोग लिया जा रहा है.

  • Share this:
जयपुर. वैश्विक महामारी covid-19 की चपेट में आये राजस्थान के अजमेर (Ajmer) जिले में मंगलवार सुबह तक पॉजिटिव मरीजो की संख्या बढ़कर 5 हो गई. कोरोना पॉजिटिव (Corona positive) पांचों एक ही परिवार के हैं. फिलहाल, पांचों का जयपुर में इलाज चल रहा है. इस सबके बाद सतर्कता और सावधानी बढ़ने के साथ ही राजनैतिक दूरियां (Political Distances) भी खत्म हो गई हैं. मुश्किलों से भरे इन हालातों में सबसे ज्यादा जिन्हें मदद की जरूरत है उन तक राहत पहुंचाने के लिए अजमेर के युवा पार्षदों ने राजनैतिक विचारधारा के भेद को भुलाकर मानवता की सेवा का संकल्प लिया है.

पार्षद नीरज जैन और चंद्रेश सांखला ने वैशाली नगर इलाके में सत्यम पैलेस समारोह स्थल को जनता रसोई में बदल दिया है. इसके साथ ही दोनों पार्षद जनसहयोग के जरिये रोजाना 4 हजार फ़ूड पैकेट तैयार कर बंटवा रहे हैं. इसमें जनप्रतिनिधियों सहित व्यवसायियों और आमजन का भी सहयोग मिल रहा है. समारोह स्थल के मालिक कपिल ने अपनी जगह जनता रसोई के लिए निशुल्क उपलब्ध कराई है तो वही सब्जियां पहुंचाने का जिम्मा अजमेर दक्षिण की विधायक अनीता भदेल की है और रोटियां भिजवाने का बीड़ा अजमेर उत्तर विधायक वासुदेव देवनानी ने उठाया है. इसके साथ ही भोजन पैकेट मुहैया कराने का काम मेयर धर्मेंद्र गहलोत कर रहे है.  इस जनता रसोई में 50 से अधिक युवाओं की टोली लगी हुई है. शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष विजय जैन भी नियमित रूप से अपना योगदान दे रहे है.

सुरक्षा निर्देशों की पालना की जा रही है
भोजन पैकेट तैयार करने के दौरान who के सुरक्षा निर्देशों की पालना की जा रही है. यहां से भोजन पैकेट शहर के 60 पार्षदों को दिए जा रहे है और प्रत्येक पैकेट की एवज में पार्षदों से 10 रुपये का सहयोग लिया जा रहा है. भोजन के यह पैकेट स्थानीय पार्षद की निगरानी में ही जरूरतमंदों तक पहुंच रहे है. कोरोना महामारी से लड़ने के लिए युवाओं की यह टोली आपसी आर्थिक सहयोग भी ले रही है. शासन के साथ समन्वय बनाते हुए यह टोली जरूरतमंदों तक सीधा न पहुंच रखते हुए पार्षद और राजकीय कर्मचारी के सहयोग से मानवता का संदेश दे रही है और सीएम गहलोत के संकल्प की प्रदेश में कोई एक भी व्यक्ति भूखा न सोए को भी साकार कर रही है.
ये भी पढ़ें- 







अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज