Exclusive: 99 के फेर में फंसे हैं अशोक गहलोत, 109 विधायकों का दावा है गलत
Jaipur News in Hindi

Exclusive: 99 के फेर में फंसे हैं अशोक गहलोत, 109 विधायकों का दावा है गलत
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने विश्व आदिवासी दिवस पर सार्वजनिक अवकाश घोषित किया

Rajasthan Political Crisis: राजस्थान में 200 सदस्यीय विधानसभा में 101 विधायकों के समर्थन की जरूरत है. अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) को बहुमत साबित करने के लिए सीपीएम के विधायक बलवान पूनिया ने कुछ वक्‍त पहले साथ देने का भरोसा दिलाया था, लेकिन वे न जयपुर में बाडेबंदी में थे न ही जैसलमेर गए थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 1, 2020, 5:51 AM IST
  • Share this:
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) और उनका कैंप दावा कर रहा है कि उनके पास 109 विधायक है लेकिन न्यूज18 इंडिया के पास गहलोत समर्थक विधायकों की पुरी सूची है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत कैंप के पास 99 विधायक ही हैं. इन 99 में से 92 विधायक ही जयपुर (Jaipur) से आज जैसलमेर (Jaisalmer) पहुंचे. चार मंत्री समेत 7 विधायक जयपुर में ही हैं. इसमें से कुछ विधायक शनिवार को जैसलमेर जा सकते हैं.

राजस्थान में 200 सदस्यीय विधानसभा में 101 विधायकों के समर्थन की जरूरत है. अशोक गहलोत को बहुमत साबित करने के लिए सीपीएम के विधायक बलवान पूनिया ने कुछ वक्‍त पहले साथ देने का भरोसा दिलाया था, लेकिन वे न जयपुर में बाडेबंदी में थे न ही जैसलमेर गए थे. पूनिया ने अगर पार्टी व्हिप का पालन किया और कांग्रेस के पक्ष में मत नहीं दिया तो गहलोत सरकार के पास विधायक 99 ही रहेंगे. यानी गहलोत सरकार के गिरने का खतरा.

एक मंत्री मास्टर भंवरलाल इतने बीमार हैं कि मतदान नहीं कर सकते हैं. फिलहाल उनका मत किसी कैंप में नहीं है. स्पीकर सीपी जोशी सिर्फ पक्ष-विपक्ष की समान मत संख्या पर ही मतदान करा सकते हैं. अगर गहलोत के पास 99 मत ही रहते हैं तो सीपी जोशी मतदान नही कर पाएंगे यानी सरकार नहीं बचा सकते. जोशी सरकार को तभी बचा सकते हैं जब गहलोत 100 विधायक जुटा लें ऐसा तभी संभव है जब सीपीएम के दो में से कम से एक गहलोत के पक्ष में मत करे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading