Assembly Banner 2021

वसुंधरा राजे खास अंदाज में मनाएंगी अपना जन्मदिन, देव दर्शन के दो दिनी कार्यक्रम की घोषणा

7 और 8 मार्च को राजे करेंगी देव दर्शन. (फाइल फोटो)

7 और 8 मार्च को राजे करेंगी देव दर्शन. (फाइल फोटो)

7 मार्च को वसुंधरा राजे गोवर्धन जी सप्तकोशी की भी परिक्रमा करेंगी. 8 मार्च को अपने जन्मदिन के मौके पर वसुंधरा राजे आदि बद्रीनाथ मंदिर में होने वाली मंगला आरती में शामिल होंगी.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान भाजपा (Rajasthan BJP) में चल रही खींचतान के बीच पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे (Vasundhara Raje) का देव दर्शन (Dev Darshan) कार्यक्रम तय हो चुका है. हांलाकि बीते दिनों भी राजे ने कई मंदिरों में जाकर देवों के दर्शन किए थे. देव दर्शन के दिन भाजपा के अधिकतर नेता उनके साथ थे. कहा गया था कि वसुंधरा राजे ने यह एक तरह से शक्ति प्रदर्शन किया है.

आपको बता दें कि 8 मार्च को वसुंधरा राजे का जन्मदिन होता है. हर साल अपने जन्मदिन को यह खास तरीके से मनाती रही हैं. इस बार भी उन्होंने इसे मनाने का ढंग अलग चुना है. इस बारे में उनके दो दिन के कार्यक्रम की घोषणा की गई है. इसके तहत 7 मार्च को वसुंधरा राजे के लिए गिरिराज मंदिर में दर्शन और पूजा अर्चना का कार्यक्रम तय किया गया है. इसी दिन वे गोवर्धन जी सप्तकोशी की भी परिक्रमा करेंगी. तय कार्यक्रम के मुताबिक वे 7 मार्च को आदि बद्री में रात्रि विश्राम करेंगी. 8 मार्च को अपने जन्मदिन के मौके पर वसुंधरा राजे आदि बद्रीनाथ मंदिर में होने वाली मंगला आरती में शामिल होंगी, जिसके बाद केदारनाथ मंदिर में पूजा-अर्चना करेंगी.

आपको याद दिला दें कि राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने बीते रविवार की शाम जयपुर के गोविंद देव मंदिर और काले हनुमान मंदिर में देव दर्शन किए थे. वैसे तो मंदिर ओर देव दर्शन से वसुंधरा राजे का पुराना जुड़ाव है, लेकिन इस बार राजनीतिक पंडितों का मानना है कि प्रदेश में भाजपा में जो अंदरुनी खींचतान चल रही है, उस बीच रविवार को राजे के देव दर्शन कार्यक्रम के अलग मायने हैं. उनका मानना है कि इस देव दर्शन के जरिए राजे ने विरोधियों को जयपुर शहर में अपनी सियासी ताकत का एहसास करवा दिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज