• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • OMG: राजस्थान पुलिस के 4 सिपाहियों ने जीजा-साले से लूटे 40 हजार रुपये, अब नौकरी से बर्खास्त

OMG: राजस्थान पुलिस के 4 सिपाहियों ने जीजा-साले से लूटे 40 हजार रुपये, अब नौकरी से बर्खास्त

लूट की वारदात को अंजाम देने वाले पुलिसकर्मी अलवर शहर के तीन अलग-अलग थानों में NEB, शिवाजी पार्क और सदर थाने में तैनात थे.

लूट की वारदात को अंजाम देने वाले पुलिसकर्मी अलवर शहर के तीन अलग-अलग थानों में NEB, शिवाजी पार्क और सदर थाने में तैनात थे.

Rajasthan Big News: अलवर जिले के विभिन्न थानों में तैनात पुलिसकर्मियों को जांच के बाद पुलिस अधीक्षक ने बर्खास्‍त कर दिया है. पीड़ि‍त ने बताया कि उनसे Paytm से भी पैसे ट्रांसफर करवाए गए थे.

  • Share this:

अलवर. राजस्‍थान के अलवर जिले के गोविंदगढ़ थाना इलाके में पुलिसकर्मियों (Policemen) ने ही जीजा-साले को लूट लिया. लूट की वारदात को अंजाम देने और बाद में मामले को दबाने वाले 4 पुलिसकर्मियों को सरकारी सेवा से बर्खास्त (Dismissed) कर दिया गया है. पुलिस अधीक्षक तेजस्वनी गौतम ने चारों की बर्खास्तगी के आदेश जारी कर दिए हैं. लूटपाट में शामिल इन चारों पुलिसकर्मियों को पहले निलंबित किया गया था. बाद में गिरफ्तार किए जाने पर उनको बर्खास्त कर दिया गया है. इनमें एनईबी थाने में तैनात कांस्टेबल अनीश तथा गंगाराम और शिवाजी पार्क थाने का कांस्टेबल नरेंद्र लूट के मुख्य आरोपी थे, जबकि कांस्टेबल रामजीत गुर्जर ने पीड़ित पक्ष को धमका कर राजीनामा के लिए दबाव बनाया था.

पुलिस अधीक्षक तेजस्वनी गौतम ने बताया कि इस मामले में 3 पुलिसकर्मी लूट में शामिल थे, जबकि एक पुलिसकर्मी ने समझौता करने के लिए पीड़ित पर दबाव बनाया था. 12 अगस्त को इस घटना का खुलासा हुआ था. भरतपुर जिले के नगर पुलिस थाना क्षेत्र के छीतरेड़ी गांव निवासी साहिल ने थाने में 29 जुलाई को रिपोर्ट दर्ज कराई थी. उन्‍होंने पुलिस में दी शिकायत में बतया कि वह साले सालिद के साथ बाइक से अपने गांव से गोविंदगढ़ आ रहा था. इसी दौरान भैंसड़ावत मोड़ के पास पीछे से एक बोलेरो गाड़ी आई. उसमें चार व्यक्ति बैठे थे.

Rajasthan Congress: विधायक गोविंदराम मेघवाल ने युवक से की गाली गलौच, Video Viral

जंगल में ले जाकर 40 हजार रुपये लूट लिये
साहिल ने बताया कि बोलोरो चालक ने अपनी गाड़ी बाइक के आगे लगा दी. बाद में जबर्दस्ती बोलेरो में बिठाकर सुनसान जंगल में ले गए. आरोपियों ने उनसे 27000 रुपये लूट लिए और 13000 रुपये पेटीएम के जरिए अपने बैंक खाते में डलवा लिए. पुलिस ने मामला दर्ज कर उसकी जांच शुरू की. लूट में 3 पुलिसकर्मियों की भूमिका सामने आने पर उन्हें तत्काल निलंबित कर दिया गया. एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया. आरोप है कि जब पीड़ित शख्स इंसाफ के लिए थाने पहुंचा तो चौथे पुलिसकर्मी ने उस पर समझौते के लिए दवाब बनाया. इस पर पीड़ित ने मामले की शिकायत पुलिस अधिकारियों से की.

सभी पुलिसकर्मी अलग-अलग थानों में थे तैनात
मामले में सख्त एक्शन लेते हुए पूरी जांच कर चारों पुलिसकर्मियों को बर्खास्त कर दिया गया है. हैरान करने वाली बात यह थी कि लूट की वारदात को अंजाम देने वाले पुलिसकर्मी अलवर शहर के तीन अलग-अलग NEB, शिवाजी पार्क और सदर थाने में तैनात थे. तीनों पुलिसकर्मी लूट की घटना के बाद 30 जुलाई से ही ड्यूटी पर नहीं आ रहे थे. इस मामले में उनका साथ देने वाला चौथा पुलिसकर्मी रामजीत गुर्जर घटना के वक्त गोविंदगढ़ थाने में तैनात था. मिलीभगत मिलने पर उसका तबादला सदर थाने में हो गया था.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज