Home /News /rajasthan /

अलवर में फिर मॉब लिंचिंग, गो तस्‍करी के शक में भीड़ ने शख्‍स को जमकर पीटा

अलवर में फिर मॉब लिंचिंग, गो तस्‍करी के शक में भीड़ ने शख्‍स को जमकर पीटा

छत्तीसगढ़ के मुंगेली जिला में मॉब लिंचिंग का मामला सामने आया है. (सांकेतिक फोटो)

छत्तीसगढ़ के मुंगेली जिला में मॉब लिंचिंग का मामला सामने आया है. (सांकेतिक फोटो)

मॉब लिंचिंग (Mob lynching) और गो तस्करी (Cow smuggling) के मामले में देशभर में बदनाम (Defame) हो चुके अलवर जिले (Alwar) में एक बार फिर से एक शख्‍स की गो तस्‍करी के शक में जमकर पिटाई की गई है.

अलवर. मॉब लिंचिंग (Mob lynching) और गो तस्करी (Cow smuggling) को लेकर देशभर में बदनाम (Defame) हो चुके अलवर जिले (Alwar) में एक बार फिर से गो तस्‍करी के शक में एक शख्‍स पर भीड़ कहर बनकर टूट पड़ी. भीड़ की पिटाई में कथित गो तस्कर गंभीर रूप से घायल (Seriously injured) हो गया. उसके शरीर में कई जगह फ्रैक्चर (Multiple fracture) आए हैं. पुलिस (Police) ने उसे भीड़ से बचाकर स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया है. वहां उसका इलाज चल रहा है. भीड़ का शिकार हुआ गो तस्कर पुलिस की नाकाबंदी तोड़कर भाग रहा था.

शाहजहांपुर इलाके में रविवार देर रात को हुई घटना
जानकारी के अनुसार, मॉब लिंचिंग की वारदात शाहजहांपुर इलाके में रविवार देर रात को खुसा की ढाणी में हुई. मुनफेद खान वहां पुलिस की नाकाबंदी को तोड़कर भागने की कोशिश कर रहा था, लेकिन हड़बड़ाहट में वह भीड़ के हत्थे चढ़ गया. वहां भीड़ ने मुनफेद खान को पकड़कर उसकी जबर्दस्त पिटाई कर डाली. सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने मुनफेद को भीड़ से किसी तरह से बचाया और तत्काल शाहजहांपुर अस्पताल में भर्ती कराया.

मारपीट में मुनफेद को कई फ्रैक्चर
बताया जा रहा है कि मारपीट में मुनफेद को कई फ्रैक्चर हुए हैं. पुलिस ने मुनफेद की गाड़ी से सात गोवंश को बरामद किया है. उसके खिलाफ पूर्व में भी गोतस्करी के मामले दर्ज बताए जा रहे हैं.

अलवर पुलिस का अनोखा एक्शन, पपला के साथी बदमाशों का बहरोड़ में निकाला जुलूस

बहरोड़ लॉकअप ब्रेक कांड: पुलिस ने आरोपियों के हाथ बांधकर सड़क पर ये किया हश्र

Tags: Crime report, Mob lynching, Rajasthan news, Rajasthan police, अलवर

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर