लाइव टीवी

अलवर: कोटकासिम थाने के लॉकअप से फरार हुआ हत्या का आरोपी, पुलिस में मचा हड़कंप

Rajendra Prasad Sharma | News18 Rajasthan
Updated: February 15, 2020, 2:03 PM IST
अलवर: कोटकासिम थाने के लॉकअप से फरार हुआ हत्या का आरोपी, पुलिस में मचा हड़कंप
कोटकासिम पुलिस ने वेदप्रकाश हत्याकांड के मामले में पवन जाट उर्फ डागा (लाल घेरे में) और सोनू कुमार को गुरुवार को गिरफ्तार किया था.

अलवर (Alwar) जिले के बहरोड़ पुलिस थाना लॉकअप ब्रेक कांड (Behror Police Station Lockup Brake Scandal) के बाद भी पुलिस ने कोई सबक नहीं लिया है. अब कोटकासिम पुलिस थाने (Kotkasim) के लॉकअप में बंद हत्या का आरोपी (Accused of murder) पवन जाट शनिवार को फरार (Escaped) हो गया.

  • Share this:
अलवर. जिले के बहरोड़ पुलिस थाना लॉकअप ब्रेक कांड (Behror Police Station Lockup Brake Scandal) के बाद भी पुलिस ने कोई सबक नहीं लिया है. बहरोड़ कांड के बाद अब कोटकासिम पुलिस थाने (Kotkasim) के लॉकअप में बंद हत्या का आरोपी (Accused of murder) पवन जाट शनिवार को फरार (Escaped) हो गया. घटना के बाद पुलिस महकमे में हड़कंप (Stir) मच गया. पुलिस आरोपी को पकड़ने के बजाय मामले को दबाने में जुटी रही. बाद में कई थानों की पुलिस आरोपी की तलाश में जुटी. लेकिन इस बीच आरोपी ग्रामीणों के धक्के चढ़ गया. ग्रामीणों ने आरोपी को पकड़कर पुलिस को सौंप दिया. प्रदेश में गत 15 दिनों में पुलिस की गिरफ्त से आरोपियों के फरार होने की यह तीसरी घटना है.

दो दिन पहले पकड़ा था, रिमांड पर चल रहा था
जानकारी के अनुसार कोटकासिम पुलिस ने वेदप्रकाश हत्याकांड के मामले में पवन उर्फ डागा और सोनू कुमार को गुरुवार को गिरफ्तार किया था. पुलिस ने दोनों को कोर्ट में पेशकर रिमांड पर लिया था. उसके बाद शनिवार को सुबह थाने के लॉकअप में बंद पवन पुलिस को गच्चा देकर फरार हो गया. आरोपी की फरारी की सूचना मिलते ही पुलिस के हाथ-पांव फूल गए. बाद में पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर आनन-फानन में कोटकासिम थाने समेत आसपास के अन्य थानों की पुलिस आरोपी की तलाश में जुटी. पुलिस आरोपी की तलाश में खाक छान रही थी कि इसी बीच वह ग्रामीणों के हाथ लग गया. उन्होंने आरोपी पवन को पुलिस को सौंप दिया. तब जाकर पुलिस की सांस में सांस आई.

डेढ़ माह पहले भी इस थाने से एक चोर फरार हो गया था

कोटकासिम थाने से करीब डेढ़ माह पहले भी एक एटीएम चोर फरार हो गया था. उसे 5 दिन बाद वापस गिरफ्तार किया जा सका था. उसके बावजूद थानाधिकारी और अन्य दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई थी. इससे पहले गत वर्ष बहरोड़ थाने के लॉकअप में बंद हरियाणा के कुख्यात बदमाश विक्रम उर्फ पपला को उसके साथी AK-47 जैसे घातक हथियारों से थाने पर हमलाकर छुड़वाकर ले गए थे. पपला अब भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है. इस मामले में अलवर पुलिस की बेजा बदनामी हुई थी. वहीं इस माह चूरू के सादुलपुर और बीकानेर में रेप के दो आरोपी पुलिस गिरफ्त से फरार हो गए थे.

 

अलवर: गैंगस्टरों को फाइनेंस करने वाला कुख्यात बदमाश विक्रांत यादव गिरफ्तार 

पंचायत चुनाव-2020: आयोग ने जारी किया मतदाता सूचियों का पुनरीक्षण कार्यक्रम

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अलवर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 15, 2020, 1:58 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर