राकेश टिकैत पर हमला करने के आरोपी कुलदीप यादव को लेकर बीजेपी-कांग्रेस आमने-सामने

शुक्रवार को अलवर में किसान सभा में जा रहे राकेश टिकैत के काफिले पर पथराव की घटना सामने आई थी

शुक्रवार को अलवर में किसान सभा में जा रहे राकेश टिकैत के काफिले पर पथराव की घटना सामने आई थी

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने आरोपी कुलदीप यादव के बीजेपी से जुड़े होने का आरोप लगाया है. उन्होंने शनिवार को ट्वीट कर दावा किया कि बीजेपी के लोगों ने राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) पर हमला किया. दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी

  • Share this:
अलवर. राजस्थान के अलवर (Alwar) में भारतीय किसान यूनियन (BKU) के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकैत टिकैत (Rakesh Tikait) के काफिले पर हमला करने वाले छात्र नेता कुलदीप यादव (Kuldeep Yadav) किसी पार्टी से है इसको लेकर सियासत तेज हो गई. बीजेपी और कांग्रेस दोनों ने कुलदीप यादव का ताल्लुक अपनी पार्टी से होने से इनकार किया है. जिसके बाद अब यह सस्पेंस खड़ा हो गया कि आखिर वो किसी पार्टी से जुड़ा भी है या नहीं.

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आरोपी कुलदीप यादव के बीजेपी से जुड़े होने का आरोप लगाया है. उन्होंने शनिवार को ट्वीट कर दावा किया कि बीजेपी के लोगों ने राकेश टिकैत पर हमला किया. दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. वहीं, राकेश टिकैत ने भी अपने काफिल पर हुए हमले को लेकर बीजेपी पर आरोप लगाया है.



हकीकत क्या है, यह हमला किसने किया. यह सवाल इसलिए भी उठ रहे हैं क्योंकि जिस कुलदीप यादव को हमले का मुख्य आरोपी मानकर गिरफ्तार किया गया है, उसकी राजनीतिक पहचान पर सवाल पूछे जा रहे हैं.
बता दें कि कुलदीप यादव अलवर की राज ऋषि मत्स्य यूनिवर्सिटी का छात्रसंघ अध्यक्ष रहा है. उसने निर्दलीय चुनाव लड़ा था. लेकिन 28 सितंबर, 2019 को छात्रसंघ कार्यालय के उदघाटन में कांग्रेस के अलवर के बहरोड विधानसभा क्षेत्र से प्रत्याशी रहे आर.सी यादव मुख्य अतिथि थे. इस कार्यक्रम में कांग्रेस से जुड़े कई अन्य नेता और जयपुर के तत्कालीन जिला कलेक्टर जगरुप यादव भी शामिल थे. कुलदीप यादव 2019 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस से टिकट चाहने वालों की कतार में था.

आरोपी कुलदीप यादव की कांग्रेस और बीजेपी नेताओं के साथ तस्वीरें

एक फेसबुक पोस्ट में छात्रसंघ कार्यालय के उदघाटन के आमंत्रण पत्र की तस्वीरें भी वायरल हो रही हैं जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में तस्वीर के साथ कांग्रेस के नेता आर.सी यादव का नाम है. अगर इन तस्वीरों पर यकीन करें तो हमले के आरोपी कुलदीप यादव का संबंध कांग्रेस से है. हालांकि सोशल मीडिया पर कुछ और तस्वीरें भी वायरल हो रही हैं जिसमें यह दावा किया जा रहा है कि फरवरी 2020 में कुलदीप ने यूनिवर्सिटी में छात्रसंघ का एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था. इसमें बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया को बुलाया गया था.



वायरल तस्वीरोें में कुलदीप यादव के साथ राजस्थान बीजेपी के अध्यक्ष सतीश पूनिया, एबीवीपी के प्रांतीय मंत्री होशियार मीणा और अलवर से बीजेपी के सासंद बाबा बालकनाथ नजर आ रहे हें. इन तस्वीरों में कुलदीप के गले में एबीवीपी का दुपट्टा नजर आ रहा है. हालांकि कुछ समय बाद फर्जी डिग्री मामले में घिरने के बाद कुलदीप को छात्रसंघ अध्यक्ष पद से इस्तीफा देना पड़ा था.

राकेश टिकैत पर हमले से कुछ देर पहले कुलदीप यादव की एक फेसबुक पोस्ट वायरल हो रही है जिसमें राकेश टिकैत को संबोधित कर लिखा गया है कि हम राकेश टिकैत का विरोध कर रहे हैं. टिकैत उस कांग्रेस का समर्थन क्यों कर रहे हैं जिसने 10 दिन में कर्ज माफी का अपना वादा नहीं निभाया. बाजरे की समर्थन मूल्य पर खरीद नहीं कर रही राजस्थान में कांग्रेस सरकार.

इस पोस्ट को भी कांग्रेस ने कुलदीप यादव के बीजेपी से जुड़े होने के तार जोड़ लिए. हालांकि पुलिस ने अभी तक पुष्टि नहीं की कि कुलदीप यादव का ताल्लुक किस पार्टी से है.

बता दें कि राजस्थान में 17 अप्रेल को तीन विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होना है. जाहिर है कुलदीप यादव पर जिस राजनीतिक दल का लेबल लगेगा दूसरी पार्टी उसका चुनावी फायदा उठाने की कोशिश करेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज