अपना शहर चुनें

States

दोषियों को मिले फांसी की सज़ा, बोली अलवर गैंगरेप की पीड़िता

पीड़िता युवती ने अपनी बात रखी.
पीड़िता युवती ने अपनी बात रखी.

अलवर गैंगरेप की पीड़िता ने पहली बार अपनी बात रखी है. डरी-सहमी महिला ने बताया कि आरोपियों ने किस तरह से उनके साथ दरिंदगी की.

  • Share this:
राजस्थान के अलवर गैंगरेप केस में बुधवार को पहली बार पीड़ित महिला ने अपनी बात रखी. डरी-सहमी युवती ने बताया कि कैसे वह पति के साथ हंसी-खुशी ससुराल जा रही थी और कैसे दरिंदों ने उनका रास्ता रोका और उसके साथ पाप किया. पीड़िता ने बताया कि कैसे पिछले 10 दिन से उसके पति, परिवार और खुद वह डरी हुई हैं.

पीड़ि‍ता ने बताया कि आरोपी फोन कर धमकी दे रहे हैं. उन्‍होंने बताया कि जान से मारने तक की धमकी दी जा रही है. हालांकि, इतना सब गुजरने के बाद भी पीड़िता ने हिम्मत नहीं हारी है और अब दोषियों के लिए कड़ी से कड़ी सजा की मांग कर रही है. पीड़िता ने कहा है कि दोषियों को फांसी की सजा होनी चाहिए, जिससे ऐसी दरिंदगी किसी और महिला के साथ करने से पहले ऐसे लोग सौ बार सोचें.

अलवर के थानागाजी में दरिंदगी वाले दिन क्या हुआ?
पीड़ित महिला ने बताया कि वह अपने घर से पति के साथ बाइक पर जा रही थी. उनके पीछे-पीछे दो माेटरसाइकिलों पर पांच युवक आ रहे थे. पहले आरोपियों ने छेड़छाड़ शुरू की थी. बाद में एक एक बाइक उनके आगे लगा दी गई. पीड़‍िता ने बताया कि सड़क पर उन्‍हें घेरते हुए पांचों बदमाशों ने बदतमीजी शुरू कर दी. गर्दन पकड़ कर हमें सड़क से दूर टीलों में ले जाने लगे.
टॉचर किया, कपड़े फाड़ दिए


पीड़िता ने बताया कि सुनसान टीलों में ले जाकर पांचों बदमाशों ने उन्‍हें टॉचर्र करना शुरू कर दिया. उनके बारे में पूछताछ करने लगे. महिला ने बताया कि नाम और पता पूछने के साथ-साथ उनके कपड़े फाड़ने लगे. पीड़िता कहती हैं कि 'मेरे पति ने उनसे बहुत विनती की लेकिन उन्होंने एक नहीं सुनी, उन्होंने मारते-पीटते हमा दोनों के कपड़े उतार दिए.'

पहले वीडियो बनाया और फिर...
इस दरिंदगी की शिकार पीड़िता ने बताया कि बदमाशों ने पहले उनका वीडियो बनाया. पति के विरोध पर उनके साथ मारपीट भी की गई. वीडियो बनाने के बाद पांचों ने बारी-बारी से उनके साथ बलात्कार किया.

दरिंदों को फांसी दिलाने के लिए बिना डरे गवाही दूंगी
पीड़िता अब भी डरी-सहमी हुई है, लेकिन जब उनसे आरोपी बदमाशों के खिलाफ सजा की बात की गई तो उन्‍होंने कहा, 'उन्हें फांसी की सजा होनी चाहिए.' जब पुलिस कार्रवाई और पूछताछ के दौरान धमकी मिलने और बयान पर कायम रहने की बात की गई तो पीड़िता ने कहा, 'मैं दरिंदों को फांसी दिलाने के लिए बिना डरे गवाही देने को तैयार हूं, ताकि कोई और ऐसी घिनौनी हरकत करने से पहले सौ बार सोचने को मजबूर हो.'

ये भी पढ़ें- अलवर गैंगरेप केस: थानागाजी थाना प्रभारी सस्पेंड, 26 अप्रैल का मामला 2 मई को हुई FIR दर्ज

ये भी पढ़ें- अलवर: गैंगरेप का VIDEO वायरल, गौर से देखिए ये हैं आरोपी

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज