पुलिस सर्विस ज्वॉइन करने जा रही अलवर गैंगरेप पीड़िता बोली- ऐसा किसी और के साथ ना हो

राजस्थान के अलवर जिले में करीब तीन महीने पहले अपने पति के सामने पांच युवकों द्वारा कथित रूप से बलात्कार की शिकार हुई 18 वर्षीय पीड़िता अब राजस्थान पुलिस में कांस्टेबल बनने की तैयारी कर रही है.

News18 Rajasthan
Updated: July 28, 2019, 2:43 PM IST
पुलिस सर्विस ज्वॉइन करने जा रही अलवर गैंगरेप पीड़िता बोली- ऐसा किसी और के साथ ना हो
फाइल फोटो।
News18 Rajasthan
Updated: July 28, 2019, 2:43 PM IST
राजस्थान के अलवर जिले में करीब तीन महीने पहले अपने पति के सामने पांच युवकों द्वारा कथित रूप से बलात्कार की शिकार हुई 18 वर्षीय पीड़िता अब राजस्थान पुलिस में कांस्टेबल बनने की तैयारी कर रही है. जिंदगी में कभी ना भूल सकने वाले इस हादसे के बाद पुलिस सेवा में आ रही पीड़िता का कहना है कि उसकी कोशिश रहेगी कि जो उसके साथ हुआ वह किसी भी दूसरी लड़की के साथ ना हो.

ड्यूटी को प्रभावी तरीके निभाएगी
इंडियन एक्सप्रेस को दिए एक साक्षात्कार में पीड़िता ने कहा कि उसे पता है कि ऐसे हादसे के बाद एक औरत पर क्या बीतती है. करीब तीन महिने पहले हुई इस वारदात के दौरान आरोपियों ने उसका वीडियो बना लिया था. बाद से एक आरोपी ने उसे सोशल मीडिया में वायरल कर दिया था. वारदात के बाद बड़ी मुश्किल से संभली पीड़िता अब पुलिस सर्विस ज्वाइन करने के लिए संकल्पित है. पीड़िता ने कहा कि पुलिस अगर उसके मामले में समय पर कार्रवाई करती तो वीडियो को वायरल होने से रोका जा सकता था. लेकिन अब वह अपनी ड्यूटी को प्रभावी तरीके निभाएगी.

आरोपियों ने वारदात कर वीडियो बनाकर वायरल कर दिया था

उल्लेखनीय है कि अलवर के थानागाजी इलाके में करीब तीन माह पूर्व पांच युवकों ने पीड़िता को पति के साथ बाइक से जाते हुए पकड़ लिया था. युवकों ने उसके पति को बंधक बना लिया. बाद में पांच युवकों ने उससे गैंगरेप किया और एक अन्य ने उसका वीडियो बना लिया. आरोपियों ने उस वीडियो के दम पर पीड़िता को फिर ब्लैकमेल करने की कोशिश की थी. इसी बीच एक आरोपी ने वारदात का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल कर दिया था.

पुलिस ने लापरवाही कर मामले को टाल दिया था
इस दरम्यिान लोकसभा चुनाव होने के कारण पुलिस ने मामले में लापरवाही बरतते हुए टाल दिया था. बाद में मामला सामने आने पर इसको लेकर प्रदेश समेत देशभर में काफी बवाल मचा था. हंगामा होने पर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए सभी छह आरोपियों इंद्रराज गुर्जर, महेश गुर्जर, अशोक गुर्जर, हंसराज गुर्जर, छोटेलाल गुर्जर और मुकेश गुर्जर को गिरफ्तार किया था. मामले पुलिस अब आरोपियों के खिलाफ कोर्ट में चालान पेश कर चुकी है.
First published: July 28, 2019, 2:43 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...