अलवर लिंचिंग: हत्या के आरोपियों को VHP ने बताया भगत सिंह, चंद्रशेखर और राजगुरु

विश्व हिंदू परिषद (VHP) ने राजस्थान के अलवर में अकबर खान नाम के शख्स की लिंचिंग के केस में आरोपियों की तुलना स्वतंत्रता सेनानियों से की है.

News18Hindi
Updated: September 12, 2018, 10:26 AM IST
अलवर लिंचिंग: हत्या के आरोपियों को VHP ने बताया भगत सिंह, चंद्रशेखर और राजगुरु
सांकेतिक चित्र।
News18Hindi
Updated: September 12, 2018, 10:26 AM IST
विश्व हिंदू परिषद (VHP) ने राजस्थान के अलवर में अकबर खान नाम के शख्स की लिंचिंग के केस में आरोपियों की तुलना स्वतंत्रता सेनानियों से की है. आरोपी कथित गौरक्षकों के खिलाफ चार्जशीट दायर किये जाने के विरोध में वीएचपी ने धर्म सभा बुलाई थी, जिसमें तीनों आरोपियों को भगत सिंह, चंद्रशेखर और राजगुरु बताया गया.

इस धर्मसभा में आरोपियों में से एक नवल किशोर भी मौजूद था और उसने ही सभी आरोपियों की तुलना स्वतंत्रता सेनानियों से की. वीएचपी ने इस कार्यक्रम में आरोपियों किसी भी कीमत पर छुड़ाने का प्राण लिया और चेतावनी भी जारी करते हुए कहा कि जहां से भी गाय की खाल बरामद होगी वहां अब से समाधि बनाकर मेला लगवाया जाएगा.

अकबर खान की कथित तौर पर भीड़ द्वारा पीट-पीटकर की गई हत्या के मामले में गिरफ्तार तीन आरोपियों के खिलाफ शुक्रवार को आरोपपत्र दाखिल किया गया. रामगढ़ पुलिस थाने के थानाधिकारी चौथमल जाखड़ ने बताया कि भादस. की धारा 302 (हत्या) के तहत यह आरोपपत्र अलवर की अदालत में दाखिल किया गया है. तीन आरोपियों में धर्मेंद्र यादव, परमजीत सिंह व नरेश कुमार हैं.

बता दें, अलवर जिले में गाय तस्करी के संदेह में कुछ लोगों ने 20 जुलाई की रात को अकबर खान की बुरी तरह पिटाई की. उसकी बाद में अस्पताल में मौत हो गयी. राज्य सरकार ने इस मामले में न्यायिक जांच के आदेश दिए थे. राज्य के गृह मंत्री ने कहा था कि साक्ष्यों से तो यह हिरासत में मौत का मामला दिखता है.

इस मामले में एक एएसआई को निलंबित किया गया जबकि तीन सिपाहियों को लाइन हाजिर कर दिया गया. पोस्टमार्टम की रिपोर्ट में कहा गया था कि खान की मौत चोटों के कारण हुई. राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग व राजस्थान राज्य मानवाधिकार आयोग ने राज्य सरकार को नोटिस जारी करते हुए रिपोर्ट मांगी थी.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर