कामवाली बाई ने ही करवाई थी बुजुर्ग की हत्या, साथी के साथ गिरफ्तार

अलवर में एक बुजुर्ग महिला की मौत की गुत्थी को अाखिर तीन दिन बाद पुलिस ने सुलझा लिया. घर पर आने वाली कामवाली बाई ने ही अपने एक साथी के साथ बुजुर्ग की हत्या की साजिश रची थी. दोनों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

Rajendra Prasad Sharma | ETV Rajasthan
Updated: March 14, 2018, 3:11 PM IST
कामवाली बाई ने ही करवाई थी बुजुर्ग की हत्या, साथी के साथ गिरफ्तार
एक बुजुर्ग महिला की हत्या मामले में आरोपी कामवाली बाई को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.
Rajendra Prasad Sharma | ETV Rajasthan
Updated: March 14, 2018, 3:11 PM IST
राजस्थान के अलवर शहर में एनईबी थाना पुलिस ने 3 दिन पूर्व हुई एक वृद्धा की हत्या का राजफाश कर दिया है. पुलिस ने इस हत्याकांड में महिला के घर मे झाड़ू पोछा लगाने वाली एक महिला सहित एक युवक को गिरफ्तार किया है. अलवर एसपी राहुल प्रकाश ने बताया कि वृद्धा तारा गुप्ता की हत्या में महिला के घर काम करने वाली और किराया पर रहने वालों की जानकारी ली गई तो वृद्धा के घर काम करने वाली महिला लक्ष्मी पर नजर रखी जाने लगी. जब महिला से पूछताछ की गई तो उसने सारा मामला उगल दिया.

उन्होंने बताया कि लक्ष्मी पहले वृद्धा तारा गुप्ता के यहां काम करती थी. उसे वृद्धा के घर के बारे में सारी जानकारी थी. इसलिए वृद्धा को निशाना बनाना आसान हो गया. लक्ष्मी वारदात से कई दिन पहले तारा गुप्ता के घर आने जाने लगी. 10 मार्च को लक्ष्मी वृद्धा तारा के घर गई और बाथरूम का गेट खुला छोड़ आई. इसके बाद लक्ष्मी के साथ रह रहा हरियाणा के पानीपत निवासी चरणजीत पुत्र त्रिलोक सिंह मजहबी सिख और उसके साथी कैलाश के साथ वारदात को अंजाम दिया गया. दोनों युवकों ने वृद्धा तारा का मुंह दबाकर हत्या की और सामान लेकर फरार हो गए.

पुलिस ने लक्ष्मी और चरणजीत को गिरफ्तार कर लिया है और लूटे गए सामान को बरामद कर लिया है. यहां उल्लेखनीय है कि एनईबी निवासी तारा गुप्ता की हत्या करने का मामला सामने आया था. तारा के भाई हीरा लाल गर्ग ने मामला दर्ज कराया था. ये हत्यारे मकान के पिछले दरबाजे से अंदर आये. और वारदात को अंजाम देकर फरार हो गए थे.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर