अपना शहर चुनें

States

अलवर मॉब लिंचिंग केस- ATM हैक कर ठगी करने वाली गैंग से जुड़ा है पीड़ित हाकिम

अलवर में मॉब लिंचिंग के शिकार हुए घायल हाकिम से पूछताछ करती पुलिस। फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।
अलवर में मॉब लिंचिंग के शिकार हुए घायल हाकिम से पूछताछ करती पुलिस। फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।

अलवर (Alwar) जिले के सदर थाना इलाके में शनिवार को हुई मॉब लिंचिंग (mob lynching) मामले में नया मोड़ गया है. पुलिस की जांच (Police investigation) में सामने आया है भीड़ का शिकार हुआ युवक और मौके से भागे उसके साथी एटीएम हैक (ATM Hacker) कर ठगी करने वाले गैंग से जुड़े हुए हैं.

  • Share this:
अलवर (Alwar) जिले के सदर थाना इलाके में शनिवार को हुई मॉब लिंचिंग (mob lynching) मामले में नया मोड़ गया है. पुलिस की जांच (Police investigation) में सामने आया है भीड़ का शिकार हुआ युवक और मौके से भागे उसके साथी एटीएम हैक (ATM Hacker) कर ठगी करने वाले गैंग से जुड़े हुए हैं. चारों युवक रामगढ़ में एक एटीएम बूथ (ATM booth) पर किसी व्यक्ति का एटीएम कार्ड बदलने की फिराक में थे. इसी दौरान एक युवक ने उनको पकड़ लिया, जिससे उनमें झगड़ा हो गया. उसके बाद मॉब लिंचिंग के शिकार हुए युवक हाकिम अली के साथी भाग गए और वह भीड़ के हत्थे चढ़ गया.

एक आरोपी को ग्रामीणों ने पुलिस को सौंपा
अलवर पुलिस अधीक्षक परिस देशमुख ने बताया कि शनिवार को 4 व्यक्ति हरियाणा नंबर की एक कार से दोपहर 2 बजे रामगढ़ स्थित एटीएम पर आए. कार में से 2 व्यक्ति उतरे और उन्होंने वहां पर मौजूद एक व्यक्ति का एटीएम कार्ड बदल दिया और वहां से रवाना हो गए. कार्ड बदलने की भनक लगते ही उस व्यक्ति ने इन 4 का पीछा करना शुरू कर दिया. चारों आरोपी कार में थे. इनमें से थोड़ी दूरी पर 2 युवक उतर गए. इस पर पीछा कर रहे व्यक्ति ने शोर मचाया तो भाग रहे 2 में से अश्फाक नामक युवक को ग्रामीणों ने घेर कर पकड़ लिया और रामगढ पुलिस के सुपुर्द कर दिया.

कार पलटी तो एक युवक भाग गया, हाकिम को भीड़ ने पकड़ लिया
उसके बाद कार में सवार 2 युवक जुनैद और हाकिम बहादुरपुर चिकानी रोड पर चले गए. वहां किथूर गांव में ग्रामीणों ने कार को रोकने का प्रयास किया, जिससे वह पलट गई. भीड़ को देखकर जुनैद मौके से फरार हो गया और हाकीम पुत्र हामिद मेव भीड़ के हत्थे चढ़ गया. इस पर भीड़ ने हाकिम की जबर्दस्त पिटाई कर डाली. मॉब लिंचिंग की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने उसे भीड़ से छु़ड़ाया. पुलिसकर्मियों में से हेड कांस्टेबल सुंदर सिंह ने अपनी जान की परवाह नहीं कर हाकिम को भीड़ से छुड़वाया. बाद में हाकिम को अलवर के राजीव गांधी अस्तपताल में भर्ती कराया. वहां अब उसकी हालत ठीक बताई जा रही है.



हरियाणा से मंगवाया जा रहा है रिकॉर्ड
पुलिस उपाधीक्षक सपात खान ने बताया कि इस संबंध में दो मुकदमे दर्ज किए जा रहे हैं. आरोपियों के खिलाफ हरियाणा में भी कई मामले दर्ज हैं. वहां से रिकॉर्ड मंगवाया जा रहा है. घायल आरोपी को अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद गिरफ्तार किया जाएगा.

अलवर में युवक की मॉब लिंचिंग, बचाने गई पुलिस को भी पीटा

बच्चा चोरी की अफवाह में फिर मॉब लिंचिंग, भीड़ पर लाठीचार्ज
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज